टाटा मोटर्स में आज 106 कर्मी होंगे परमानेंट

Updated Date: Wed, 02 Dec 2020 01:02 PM (IST)

JAMSHEDPUR: टाटा मोटर्स में बुधवार दो दिसंबर से 106 अस्थायी (बाई सिक्स) कर्मी परमानेंट हो गए। इन सभी को स्थायी गेट पास मिलेगा। फिर पूरे एक दिन ट्रे¨नग डिवीजन में इन सभी को सुरक्षा व काम से संबंधित जानकारी दी जाएगी। वहां कंपनी की कार्यशैली, संस्कृति व सुरक्षा मापदंड के बारे में जानकारी मिलेगी। 106 का स्थायीकरण के बाद वहीं शेष 110 को अगले साल की शुरूआत जनवरी -2021 में स्थायी होगा। इस पर पिछले माह हुए बोनस समझौते में ही मुहर लग गई है। बोनस के साथ 221 अस्थायी कर्मियों को स्थायी करने पर सहमति बनी थी। इनमें से पांच अस्थायी कर्मियों के कागजात उपलब्ध नहीं रहने की वजह से मेडिकल नहीं हो पाया है, जो फिलहाल स्थायीकररण सूची में नहीं हैं.ऐसे में 216 का ही स्थायी होना है। एक दिसंबर को पहले दौर में 106 अस्थायी कर्मी को परमानेंट किया जाएगा। तथा एक जनवरी-2021 से शेष बाई सिक्स कर्मियों का स्थायीकरण किया जाएगा। पहले एक साल प्रोबेशन पीरिएड रहेगा। इससे पूर्व 2019 में बोनस के साथ 306 स्थायी कर्मियों का परमानेंट हुआ था। फिलहाल कंपनी में अस्थायी कर्मियों की संख्या 3500 रह जाएगी।

मेडिकल जांच जारी

स्थायीकरण सूची में शामिल अस्थायी कर्मचारियों की मेडिकल जांच पिछले 30 अक्टूबर से ही शुरू है । दिसंबर माह में भी स्थायी होने वाले शेष कर्मियों की मेडिकल जांच होगी। ये सभी बाई सिक्स कर्मी 2008-09 बैच के हैं। कंपनी के ई-आर विभाग द्वारा बाई सिक्स कर्मचारियों की वरीयता सूची के आधार पर टेल्को सेंट्रल इंप्लाइमेंट ब्यूरो (सीईबी) कार्यालय में कर्मचारियों के नाम, पर्सनल नंबर व मेडिकल तिथि के साथ चस्पाया गया है।

टीएमएच में 75 वर्ष वाले मरीजों को सीधे देखेंगे डाक्टर

टाटा स्टील द्वारा संचालित टाटा मेन हॉस्पिटल (टीएमएच) में पहली दिसंबर से 75 वर्ष से अधिक उम्र वाले मरीजों को अब इलाज में प्राथमिकता मिलेगा। टीएमएच प्रबंधन द्वारा ऐसे मरीजों के लिए विश्वास के साथ नाम से विशेष सेवा का शुभारंभ कर दिया है। इसमें ऐसे मरीज टीएमएच हेल्प डेस्क से एक स्टीकर लेकर अपने मेडिकल बुक में लगाएंगे। इसके बाद उन्हें डाक्टर से मिलने के लिए पहले से समय लेने की आवश्यकता नहीं होगी। वे सीधे डाक्टर से मिल पाएंगे और डाक्टर भी प्राथमिकता के आधार पर देखेंगे। साथ ही ऐसे मरीजों को फार्मेसी, पैथोलॉजी लैब, कैश काउंटर और रिपोर्ट कलेक्शन काउंटर तक सीधी पहुंच शामिल होगी। इस सेवा से अधिक उम्र वाले मरीजों को टीएमएच में किसी भी सेवा के लिए इंतजार नहीं करना पड़ेगा और न ही किसी सेवा का लाभ उठाने के लिए उन्हें टीएमएच विश्वास एप के माध्यम से पूर्व में समय ही लेना होगा। टीएमएच प्रबंधन का कहना है कि हम मरीजों को बेहतर सेवा देने के लिए कृतसंकल्प हैं।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.