पीजी टॉपर्स लेंगी क्लास, मानदेय 15 हजार

Updated Date: Tue, 22 Sep 2020 02:48 PM (IST)

JAMSHEDPUR: पीजी टॉपर्स को विभिन्न विभागों में अध्यापन का अवसर दिया जाएगा। इसके लिए उन्हें पंद्रह हजार रूपये प्रतिमाह की दर से मानदेय दिया जाएगा। यह निर्णय सोमवार को जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज में फाइनेंस कमेटी की बैठक में लिया गया। इसके साथ ही बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। इनमें ऑनलाइन दीक्षांत समारोह के आयोजन के लिए निविदा आमंत्रित करने, परीक्षा कार्य में विभिन्न रूप से जुड़े शिक्षकगण व कर्मचारीगण को कोल्हान विश्वविद्यालय द्वारा निर्धारित दर पर मानदेय देने, बीएससी आईटी, बीसीए आदि विभागों के लिए तीस कंप्यूटर खरीदने, मरम्मत योग्य कंप्यूटर और फोटोकॉपी मशीनों को छोड़कर खराब हो चुके उपकरणों के निस्तारण की स्वीकृति प्रदान की गई और गांधी समग्र वार्षिक शोध पत्रिका के मुद्रण के बजट को पारित किया गया।

ऊंचा होगा आत्मविश्वास

मौके पर प्रिंसिपल प्रो। शुक्ला महांती ने कहा कि टॉपर छात्राएं जल्दी ही अपने कॉलेज में अध्यापन का कार्य करेंगी। उन्हें सम्मानित करते हुए कॉलेज प्रबंधन भी गौरवान्वित हैं। साथ ही ऑनलाइन दीक्षांत समारोह का आयोजन होने से डिग्री पाने वाली लड़कियों का आत्मविश्वास ऊंचा होगा और कॉलेज की गरिमामयी परंपरा में नया अध्याय जुड़ेगा। बैठक की अध्यक्षता प्रिंसिपल प्रो डॉ शुक्ला महांती ने की। इस अवसर पर कोल्हान विश्वविद्यालय के वित्त पदाधिकारी सुधांशु कुमार, मनोविज्ञान विभागाध्यक्ष डॉ सबीहा युनुस, बर्सर एवं गणित विभागाध्यक्ष डॉ जावेद अहमद, चार्टर्ड एकाउंटेंट महेश अग्रवाल, प्रधान सहायक विश्वंभर यादव, लेखापाल सीमा कुमारी सहित अन्य सदस्य शामिल हुए।

एलबीएसएम में परीक्षा को लेकर हुई बैठक

एलबीएसएम कॉलेज, जमशेदपुर में 29 सितंबर से होनेवाली यूजी और पीजी परीक्षा को लेकर सोमवार को बैठक की गई। मौके पर कॉलेज के प्राचार्य डॉ। अमर सिंह ने कोरोना संक्रमण से बचते हुए परीक्षा कैसे संपन्न कराया जाए इसपर शिक्षक और शिक्षकेत्तर कर्मचारियों को बताया। बैठक में निर्णय लिया गया कि कोरोना महामारी के मद्देनजर विश्वविद्यालय के दिशा-निर्देश अनुसार सभी परीक्षार्थियों को मास्क लगाया अनिवार्य किया जाएगा। महाविद्यालय प्रवेश करते वक्त ही परीक्षार्थियों का थर्मल स्कैनर से जांच करने के साथ ही उन्हें सैनिटाइज किया जाएगा। सभी कक्षाओं को आवश्यतानुसार सैनिटाइज किया जाएगा। परीक्षार्थियों को दूरी के साथ जेड आकार में बैठने की व्यवस्था की जाएगी। इसके अलावा कॉलेज के सभी कर्मचारियों को सुरक्षा के लिए मास्क व ग्लव्स आदि दिया जाएगा। बैठक में विनय कुमार गुप्ता, डॉ। अजेय वर्मा, डॉ। संचिता भुई सेन, डॉ। दीपंजय श्रीवास्तव, संतोष राम, बिनोद कुमार, सौरभ वर्मा, हरिहर टूटू, पुनीत मिश्रा, मिहिर डे, रेखा दास, रामप्रवेश सिंह, लाभ, विशाल, खुदीराम आदि उपस्थित थे।

चार सेंटर्स पर शुरू हुई बीटेक की परीक्षा

कोल्हान विश्वविद्यालय के चार इंजीनिय¨रग कॉलेज में सोमवार से बीटेक फाइनल सेमेस्टर की परीक्षा शुरू हुई। परीक्षा के लिए आरवीएस इंजीनिय¨रग कॉलेज, बीए कॉलेज ऑफ इंजीनिय¨रग, चाईबासा इंजीनिय¨रग कॉलेज एवं मैरीलैंड इंस्टीट्यूट को केंद्र बनाया गया है। पहले दिन आरवीएस और चाईबासा इंजीनिय¨रग कॉलेज में छात्रों की उपस्थिति शत प्रतिशत रही। वहीं बीए कॉलेज ऑफ इंजीनिय¨रग में केवल एक छात्र और मेरी लैंड इंस्टिट्यूट में तीन छात्र अनुपस्थित रहे। छात्रों को परीक्षा केंद्र पर एक घंटे पहले पहुंचने के निर्देश दिए गए थे। कोरोना महामारी के दौर में पहली बार हो रहे परीक्षा का निरीक्षण सोमवार को कोल्हान विश्विवद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डॉ। प्रभात कुमार पाणी ने किया। उन्होंने चाईबासा इंजीनिय¨रग कॉलेज परीक्षाकेंद्र का निरीक्षण किया और किए गए व्यवस्था से संतुष्टी जताया।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.