एक लाख का इनामी नक्सली धराया

Updated Date: Wed, 08 Jul 2020 11:36 AM (IST)

द्द॥न्ञ्जस्॥ढ्ढरुन्: पूर्वी सिंहभूम जिले के घाटशिला अनुमंडल इलाके में दामपाड़ा दस्ते का सक्रिय नक्सली सदस्य एक लाख के इनामी सुभाष मुंडा को पुलिस ने गालूडीह थाना के फुलझोर भूमरु टोला में उसके घर से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उसके विरुद्ध घाटशिला में सात और पटमदा में दो नक्सली ¨हसा से संबंधित मामले दर्ज हैं। जिले के बुरूडीह डैंम में अगस्त 2008 में दारोगा समेत 12 पुलिसकर्मियों को बारूदी सुरंग से उड़ाने की घटना समेत कई मामलों में शामिल था। वांटेड और इनामी नक्सली सुभाष मुंडा असीम मंडल, रामदास मार्डी उर्फ सचिन और मदन महतो के दस्ते में वह शामिल रहा हैं।

आया हुआ था घर

मंगलवार को घाटशिला अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के कार्यालय में अपर पुलिस अधीक्षक अभियान गुलशन तिर्की ने प्रेस वार्ता कर जानकारी दी। पुलिस को सुभाष मुंडा की काफी दिनों से तलाश थी। दस्ता से वह कुछ दिन पहले ही अपने घर आया हुआ था। पुलिस को इसकी भनक लगी तो छापेमारी कर उसे घर से गिरफ्तार किया। सुभाष के पास से कोई हथियार बरामद नहीं हुए हैं। घर आने से पहले ही दस्ता में अपना हथियार छोड़ आया था।

इनकी रही मौजूदगी

इस मौके पर छापामारी दल में शामिल रहे एसडीपीओ राजकुमार मेहता, गालूडीह थाना के पुलिस अवर निरीक्षक संतोष कुमार सेन, आरक्षी सरोज महतो, आरक्षी रवींद्र नाथ महतो, आरक्षी रामप्रताप राम, आरक्षी सत्येंद्रनारायण सिंह, आरक्षी अनिल रविदास, आरक्षी बालमुकुंद प्रसाद, आरक्षी अखिलेश माझी मौजूद थे।

ऐसे हुई गिरफ्तारी

इनामी नक्सली सुभाष मुंडा के गालूडीह में सक्रिय होने की सूचना नहीं होने के कारण कोल्हान डीआइजी राजीव रंजन सिंह ने गालूडीह थाना प्रभारी प्रभात कुमार को चार जुलाई को निलंबित कर दिया था। उसी अधिकारी की सूचना पर नक्सली की गिरफ्तारी हुई। यह अलग बात हैं कि निलंबित होने के कारण अधिकारी का नाम छापामारी दल में शामिल नहीं किया गया। अब देखने वाली बात यह होगी कि विभाग के वरीय अधिकारी थानेदार के निलंबन मामले में क्या विभागीय रूख अपनाते हैं।

2007 में दस्ते से जुड़ा था

सुभाष मुंडा के संबंध में जानकारी रखने वाले बताते हैं कि मदन महतो के बेलपहाड़ी दस्ते में 2007 में शामिल हुआ था। 2011 तक संगठन में सक्रिय रहा। इसके बाद वह आंध्र प्रदेश चला गया। वहां से 2016 को वापस घाटशिला स्थित अपने घर लौटा। कुछ दिन बंगाल में मजदूरी की। घर में खेती-बाड़ी करता रहा। उसके खिलाफ पूर्व से दर्ज मामले में वारंट जारी था। पुलिस को उसकी तलाश थी।

कई मामले हैं दर्ज

सुभाष मुंडा के खिलाफ घाटशिला थाना में हत्या के दो, आ‌र्म्स एक्ट, हत्या की नीयत से फाय¨रग, सरकारी कार्य में बाधा, विस्फोट अधिनियम के कुल सात और पटमदा में हत्या के प्रयास के दो मामले दर्ज हैं।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.