आसान नहीं आधार में सुधार, देना पड़ेगा नजराना

Updated Date: Tue, 29 Sep 2020 12:48 PM (IST)

रांची: आधार कार्ड में नाम, पता या डेट ऑफ बर्थ सुधरवाना हो तो पैसे फेंकिए, घंटों का काम मिनटों में हो जाएगा, नहीं तो दौड़ते रहिए हफ्तों। जी हां, इसी फामूर्ले पर राजधानी के आधार कार्ड सुधार सेंटर पर काम हो रहा है। राजधानी रांची में दो ही जगह पर आधार कार्ड सुधार सेंटर है। कांटाटोली स्थित मंगल टॉवर एवं पिस्का मोड़ स्थित गैलेक्सिया मॉल में यह काम होता है। लेकिन दोनों ही सेंटर से लगातार ज्यादा पैसे लेने की कंप्लेन हैं। दैनिक जागरण आईनेक्स्ट ने जब इसकी पड़ताल की तो मामला सामने आया। मंगल टॉवर में आधार सेंटर के बाहर बैठे गार्ड की आड़ में यह खेल चला रहा है। जो व्यक्ति पैसा ज्यादा देता है उसका काम जल्दी हो जाता है, और जिसने थोड़ी सी भी पूछताछ कर दी उसका काम ही लटका दिया जाता है। मजबूरन लोग भी ज्यादा पैसे देकर अपना काम जल्दी कराना चाहते हैं।

50 का काम 200 में

नाम में सुधार हो, डेट ऑफ वर्थ में सुधार हो या फिर पता करेक्शन करना हो। गवर्नमेंट की ओर से इसके रेट तय किए गए हैं। कुछ भी सुधार की कीमत 50 रुपए तय है। लेकिन सेंटर पर 150 से 200 रुपए एक्स्ट्रा लिए जा रहे हैं। सुधार कराने व्यक्ति को सेंटर के अंदर नहीं जाने दिया जाता। सारा गेम बाहर ही हो जाता है। इसके बाद अंतिम में फार्म सब्मिट करने सेंटर के अंदर जाने की परमिशन दी जाती है। यह सबकुछ सेंटर के बाहर बैठा गार्ड ही हैंडल करता है। गार्ड ही लोगों को बताता है कि क्या पेपर लगेगा और इसपर कितना चार्ज देना होगा। सुधार में एक्स्ट्रा पैसे लेने के अलावा फार्म के लिए भी अलग से पांच रुपए लिए जाते हैं, जबकि फार्म बिल्कुल फ्री है।

सुविधा केंद्र के लिए काम करता है गार्ड

मंगल टॉवर में स्थित आधार सेंटर के सामने वाली बिल्डिंग में ई सुविधा केंद्र का काउंटर है। यहां भी आधार कार्ड बनाने से लेकर सुधार करवाने तक के नाम पर पैसों का खेल चल रहा है। सुविधा केंद्र के ओनर और आधार सेंटर के गार्ड मिलकर यह खेल खेल रहे हैं। जब कोई व्यक्ति खुद से आवेदन जमा करने आता है तो उसे इधर-उधर दौड़ाया जाता है, लेकिन जब कोई बंदा ई-सुविधा केंद्र का पेपर लेकर पहुंचता है तो उसे तुरंत सेंटर में एंट्री दे दी जाती है।

सेंटर पर भीड़, संक्रमण की आशंका

दोनों आधार सेंटर पर लोगों की काफी भीड़ उमड़ रही है। लॉकडाउन के बाद अनलॉक होते ही आधार कार्ड बनवाने और उसमें करेक्शन के लिए लोगों की भीड़ इन सेंटरों पर इकट्ठा हो रही है। लोग सुबह से ही सेंटर पर पहुंच रहे हैं। कोरोना से बचाव के लिए बनाए गए सभी नियमों की यहां धज्जियां उड़ाई जा रही है। लोगों के चेहरे पर न मास्क नजर आ रहा और न सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो रहा है। आधार की आवश्यकता आज हर काम में पड़ती है। लॉकडाउन खुलने के बाद सभी गतिविधियां शुरू हो चुकी हैं। कई लोगों को एडमिशन के लिए तो कुछ किसी योजना में जमा करने के लिए आधार कार्ड की जरूरत है। ऐसे में सैकड़ों लोग सेंटर में पहुंच रहे हैं और इसी का फायदा सेंटर वाले उठा रहे हैं।

डीजे आईनेक्स्ट की सीधी बातचीत

रिपोर्टर : भैया आधार कार्ड में करेक्शन कराना है?

व्यक्ति : क्या करेक्शन है?

रिपोर्टर : ज्यादा कुछ नहीं, बस डेट ऑफ बर्थ और एड्रेस में सुधार करना है?

व्यक्ति : हो जाएगा।

रिपोर्टर : क्या खर्च लगेगा?

व्यक्ति : एड्रेस के लिए 50 और डेट ऑफ बर्थ के लिए 100 रुपए लगेंगे।

रिपोर्टर : क्या कागज देना होगा?

व्यक्ति : कोई भी एक प्रूफ, मुखिया या पार्षद से लिखवा कर ले आइए।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.