यदि आपको भी खुले में कचरा फेंकने की आदत है तो जितनी जल्दी हो इसे सुधार लीजिए. कहीं ऐसा न हो कि इस आदत के बदले आपको फाइन देना पड़ जाए. जी हां रांची नगर निगम क्षेत्र में अब तीसरी आंख से इसकी मॉनिटरिंग शुरू कर दी गई है.


रांची(ब्यूरो)। रांची के अलग-अलग इलाकों में सीसीटीवी कैमरे की मदद से खुले में कचरा फेंकने वालों पर नजर रखी जा रही है। सिर्फ नजर ही नहीं रखी जा रही, बल्कि फाइन भी किया जा रहा है। अब तक लगभग 20 हजार रुपए का फाइन ऐसे लोगों पर किया जा चुका है। स्मार्ट सिटी कॉरपोरेशन के तहत रांची को संवारने की कोशिश लगातार हो रही है। लेकिन दूसरी ओर अब भी ऐसे लोग हैं, जो खुद ही अपने शहर को साफ और स्वच्छ देखना नहीं चाहते। अपने घर की सफाई तो कर लेते हैं लेकिन दूसरे के घर के समीप गंदगी फैला देते हैं। ऐसे ही लोगों से निपटने के लिए स्मार्ट सिटी और रांची नगर निगम ने मिलकर यह तरीका निकाला है, जिसमें गंदगी फैलाने वाले लोगों को पकड़कर फाइन किया जा रहा है और आगे से ऐसा नहीं करने का संकल्प भी दिलवाया जा रहा है।
सुबह 6 से 10 बजे तक मॉनिटरिंग


धुर्वा स्थित स्मार्ट सिटी में बने कमांड, कंट्रोल एंड कम्यूनिकेशन सेंटर के जरिए ऐसे लोगों पर निगम की टीम लगातार नजर बनाए रखती है। वैसे तो पूरे दिन खुले में कचरा फेंकने वालों की तस्वीर कैमरे में कैद होती रहती है। लेकिन सुबह के समय ऐसा ज्यादा होता है। जिसे ध्यान में रखते हुए सुबह छह से दस बजे तक इसकी मॉनिटरिंग होती है। नगर निगम कर्मी हर दिन सुबह छह से दस बजे तक सभी फुटेज देखते हैं, जिसके आधार पर संबंधित व्यक्ति को आइडेंटिफाई करते हुए निगम कर्मी उस व्यक्ति तक पहुंच जाता है, और उस पर जुर्माना करता है। खुले में गंदगी फैलाने या कचरा फेंकने वालों में ज्यादा दुकानदार शामिल हैं, जो अपनी दुकान का कचरा निकाल कर डस्टबिन में डालने के बजाय रोड पर ही फेंक देते हैं। फुटेज में कई ऐसे लोगों के चेहरे भी कैद हैं जो डस्टबिन होते हुए भी कचरा उसमें न डाल कर सड़क पर ही गिराकर जा रहे हैं। इससे स्पष्ट है कि हम शहरवासी गंदगी नहीं फैलाने और साफ-सफाई करने के प्रति कितने लापरवाह हैं। बार-बार लोगों से अपील करने के बाद भी स्थिति में सुधार नहीं आ रही है। इसमें सिर्फ आम लोगों की ही नहीं, बल्कि नगर निगम भी दोषी है। क्योंकि अब भी कई इलाकों में डस्टबिन लगी ही नहीं है, जिस कारण लोगों को मजबूरन खुले में कचरा फेंकना पड़ रहा है। 700 सीसीटीवी कैमरों से निगाहबानी

नगर निगम क्षेत्र में गंदगी फैलाने वालों पर 700 से अधिक सीसीटीवी कैमरों से निगाहबानी की जा रही है। इन सीसीटीवी कैमरों का काम अब सिर्फ क्राइम कंट्रोल और ट्रैफिक रूल वॉयोलेशन करने वालों को चिन्हित करने का नहीं रह गया है। बल्कि सड़क में, खुले में, या यहां-वहां गंदगी फैलाने वालों पर भी नजर रखने के लिए इसका इस्तेमाल हो रहा है। ये कैमरे 24 घंटे काम करते हैं और इन कैमरों की मॉनिटरिंग सी 4 यानी कि कमांड, कंट्रोल एंड कम्यूनिकेशन सेंटर से की जाती है।

Posted By: Inextlive