हां, रंजीत मेरी गाड़ी और बॉडीगा‌र्ड्स का यूज करता था

Updated Date: Wed, 03 Sep 2014 07:00 AM (IST)

>Ranchi : तारा शाहदेव और रंजीत सिंह कोहली प्रकरण में मंगलवार को कोतवाली डीएसपी दीपक अंबष्ठ ने गढ़वा डीएसपी सुरजीत कुमार से एक घंटे तक पूछताछ की। पूछताछ में डीएसपी सुरीजत कुमार ने बताया कि रंजीत सिंह कोहली उनका बचपन का दोस्त है। लेकिन, वह क्या करता था और क्या नहीं करता था, इसकी जानकारी उन्हें नहीं थी। वह केवल दोस्ती के नाम पर उसकी मदद करते थे। उसने बताया था कि वह एनजीओ चला रहा है और झारखंड सरकार से कब्रिस्तान, फॉरेस्ट व अन्य जगहों पर प्लांटेशन का काम कर रहा है।

गाड़ी लेकर कहां जाता था, मुझ्ो पता नहीं

डीएसपी सुरजीत कुमार ने पूछताछ में बताया कि जब वह रांची आते थे, तो रंजीत सिंह कोहली उनकी गाड़ी और बॉडीगार्ड को लेकर कहीं चला जाता था। वह कहां जाता था और किससे मिलता था, इसकी जानकारी उन्हें नहीं है। कोतवाली डीएसपी ने सुरजीत कुमार से दस सवाल किए। सुरजीत ने बड़े इत्मीनान से सारे सवालों के जवाब दिए। फिर, सुरजीत कुमार से पूछा गया कि क्यों न रंजीत सिंह कोहली के खिलाफ भादवि की धारा ब्ख्0 के तहत केस दर्ज किया जाए। इस पर सुरजीत चुप रहे। सुरजीत ने बताया कि वह गढ़वा में थे, तो पता चला कि रंजीत सिंह कोहली शादी कर रहा है। शादी के तीन दिन पहले वह रांची आ गए थे और उसकी शादी में शामिल हुए थे। डीएसपी सुरजीत ने कहा कि चूंकि रंजीत उनका बचपन का दोस्त था, इसलिए शादी की तैयारियों की सारी जिम्मेदारी उनकी ही थी। इधर, तारा शाहदेव प्रकरण में पुलिस ने देवघर के डीएसपी अनिमेष नथानी से भी पूछताछ की। पुलिस को डीएसपी अनुदीप सिंह से भी पूछताछ करनी थी, मगर मंगलवार को वह उपस्थित नहीं हो सके। बताया गया कि अनुदीप सिंह नक्सल अभियान में शामिल हैं। इसलिए, वह उनसे पूछताछ नहीं हो सकी। वहीं, इस मामले में रंजीत सिंह कोहली के दोस्त रोहित रमन से भी पुलिस ने पूछताछ की।

तारा का केस लड़ने आगे आए एडवोकेट्स

तारा शाहदेव का केस लड़ने के लिए कई एडवोकेट्स आगे हैं। इनमें एडवोकेट विश्वजीत मुखर्जी, पंकज कुमार सिन्हा, दीपक कुमार और भैया प्रियंकर शाह समेत कई एडवोकेट्स शामिल हैं।

रंजीत सिंह कोहली ने मीडिया काे दी धमकी

मंगलवार को रंजीत सिंह कोहली ने मीडिया को धमकी तक दे डाली। हुआ यूं कि मंगलवार को कुछ इलेक्ट्रॉनिक चैनल के लोग और फोटोग्राफर रंजीत सिंह कोहली की तस्वीरें ले रहे थे। उसी क्रम में वह पुलिस की मौजूदगी में मीडिया से मुखातिब हुआ और कहा कि उसके बयान को नहीं दिखाया जा रहा है। मीडिया एकतरफा कार्रवाई कर रही है। रंजीत सिंह कोहली ने ऑन रिकॉर्ड कहा है कि वह मीडिया को भी नहीं छोड़ेगा। इनलोगों को सुप्रीम कोर्ट में जवाब देना होगा।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.