एरिया कमांडर सहित पांच उग्रवादी अरेस्ट

Updated Date: Fri, 07 May 2021 03:52 PM (IST)

रांची: अनगड़ा थाने की पुलिस ने व्यवसायी के घर डकैती व हत्या की साजिश रच रहे पीएलएफआइ के पांच उग्रवादियों को धरदबोचा। पकड़े गए उग्रवादियों में अनगड़ा का एरिया कमांडर देवसिंह मुंडा, खलारी का एरिया कमांडर गोल्डेन यादव उर्फ गौतम यादव निवासी बाजारटांड़ रामनगर, थाना मैक्लुस्कीगंज, सूरज महतो, मायापुर ओरमांझी, शहजाद अंसारी व असलम अंसारी दोनों बाजारटांड़ आजाद नगर मैक्लुस्कीगंज शामिल हैं। आरोपितों के पास से एक नाइन एमएम की पिस्टल, तीन कट्टा, तीन मोबाइल, कारबाइन की मैगजीन सहित कई कारतूस बरामद किया गया। सभी आरोपितों की गिरफ्तारी अनगड़ा थाना क्षेत्र के जोन्हा पुड़ीटोला स्थित देवसिंह मुंडा के आवास के बगल से की गई।

मिली थी सूचना

एसएसपी रांची सुरेंद्र कुमार झा को मिली गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस की एक छापामारी टीम ने सभी आरोपितों को गिरफ्तार किया है। छापामारी टीम में सिल्ली डीएसपी ºीस्टोफर केरकेट्टा, अनगड़ा इंस्पेक्टर राजकुमार यादव, ओरमांझी थानेदार श्याम किशोर महतो, अनगड़ा थानेदार ब्रजेश कुमार, एसआई संजय कुमार दास, एसआई राजबिहारी यादव, एसआइ रितेश लकड़ा सहित सैट के जवान शामिल थे।

संगठन को मजबूत कर रहा था

जोन्हा निवासी एरिया कमांडर देवसिंह मुंडा हाल ही में जेल से छूटकर आया है। जेल से छूटने के बाद देवसिंह लगातार अनगड़ा, सिकिदिरी, ओरमांझी, खलारी, मैक्लुस्कीगंज थाना क्षेत्र सहित अन्य इलाकों में संगठन को मजबूत कर रहा था। इन क्षेत्रों के जनप्रतिनिधि, व्यवसायी, क्रशर व्यवसायी, ईंट भट्ठा संचालक से संगठन के नाम पर लेवी वसूलने, धमकी देने, डकैती व हत्या की योजना बनाने पर कार्य कर रहा था। देवसिंह मुंडा के खिलाफ अनगड़ा थाना क्षेत्र में लेवी वसूलने, धमकी देने, उग्रवादी गतिविधियों में लिप्त रहने, आगजनी, आ‌र्म्स एक्ट सहित अन्य मामलों को लेकर कुल सात मामले दर्ज हैं। सिकिदिरी थाने में भी आगजनी व फाय¨रग को लेकर एक मामला दर्ज है। गोल्डेन यादव के खिलाफ मैक्लुस्कीगंज थाने में पांच व खलारी थाने में दो प्राथमिकी दर्ज है। सभी आरोपित कई बार जेल जा चुके हैं।

रवींद्र गंझू हत्याकांड का पर्दाफाश

चान्हो थाना क्षेत्र के चर्चित रवींद्र गंझू हत्याकांड का भी अनगड़ा पुलिस ने पर्दाफाश किया। रवींद्र गंझू पीएलएफआइ का उग्रवादी था। रवींद्र की हत्या लेवी की रकम बंटवारे में हुए विवाद के कारण हुई थी। लेवी के रूप में मिले डेढ़ लाख रुपये के बंटवारे के क्रम में रवींद्र का अपने साथी गोल्डेन व सूरज टोप्पो के साथ विवाद हो गया था। विवाद के क्रम में ही गोल्डेन व सूरज ने रवींद्र की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना 23 मार्च 2021 को चान्हो थाना क्षेत्र के लुकइयांटांढ जंगल में हुई थी।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.