हिंदपीढ़ी का बड़ा हिस्सा सील फ्री, लोगों ने ली राहत की सांस

2020-05-29T13:30:01Z

RANCHI:रांची में कोरोना के सबसे बड़े हॉट स्पॉट हिंदपीढ़ी के लिए गुरुवार का दिन बेहद अहम रहा। करीब 60 फीसदी इलाके को जिला प्रशासन ने सील मुक्त करते हुए लोगों को बड़ी राहत दी। इसके साथ ही अगले सात दिनों के भीतर पूरी हिंदपीढ़ी को सील मुक्त करने की तैयारी शुरू कर दी गई है। सील हटने के बाद हिंदपीढ़ी के लोगों ने घरों से निकल कर जरूरी काम भी निपटाए। जिन इलाकों से बैरिकेडिंग हटाई जा रही थी, वहां बड़ी संख्या में लोग मौजूद हुए और तालियां बजाकर पुलिस वालों का धन्यवाद किया।

कंटेनमेंट जोन से बाहर किया

हिंदपीढ़ी में 60 हजार से भी ज्यादा आबादी है। रांची में कोरोना का पहला मरीज इसी एरिया से मिला था। इसके बाद हिंदपीढ़ी के विभिन्न इलाकों से कोविड-19 संक्रमित मरीजों के मिलने का सिलसिला चल पड़ा। करीब 70 मरीज अकेले हिंदपीढ़ी से मिले। इसी क्रम में पूरे इलाके को कंटेनमेंट जोन घोषित करते हुए सील कर दिया गया था। करीब डेढ़ महीने तक यहां के ज्यादातर लोग घरों में कैद रहे। धीरे-धीरे यहां के सारे मरीज ठीक हो गए। हालांकि, इसी एरिया के दो लोगों की मौत भी हुई। एक भी मरीज सक्रिय नहीं रहने और पिछले एक हफ्ते से कोई नया मरीज नहीं मिलने के कारण हिंदपीढ़ी के बड़े इलाके को सील मुक्त करने का फैसला लिया गया। साथ ही कंटेनमेंट जोन से हटाकर प्रभावित इलाकों को माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाया गया है।

बच्चे हिस्से भी होंगे सील मुक्त

¨हदपीढ़ी के कंटेनमेंट जोन के 40 फीसदी हिस्से को शनिवार तक सील मुक्त करने की तैयारी चल रही है। इसके लिए जिला प्रशासन की ओर से सूची भी तैयार कर ली गई है। सील मुक्त होने वाले इलाकों में सामान्य आवाजाही शुरू हो गयी। पूरे उत्साह व उमंग के साथ लोगों ने निकलना शुरू कर दिया। जहां-जहां सील के बैरिकेडिंग हटाए गए, वहां पुलिसकíमयों के लिए ताली बजाए गए। सील हटने के साथ इन इलाकों से तैनात पुलिस के जवानों की संख्या भी कम कर दी गई है। इधर, प्रशासनिक अधिकारियों के अनुसार जिन इलाकों को अबतक सील रखा गया है उन इलाकों से गाइडलाइन के अनुसार कोरोना के मरीज नहीं मिलने पर कंटेनमेंट जोन से बाहर कर दिया जाएगा।

इन इलाकों को किया गया सील मुक्त

तेतर टोली, तंजीम नगर, फिरदौस कॉलोनी, नसरूद्दीन कॉलोनी, बच्चा कब्रिस्तान, आदिवासी टोला, मोजाहिद नगर, हरिजन बस्ती, नेजाम नगर मोती मस्जिद, नूर नगर, पुरानी रांची, छोटा तालाब, लेक रोड से बड़ा तालाब का इलाका। ये इलाके कंटेनमेंट जोन से बाहर कर दिए गए हैं।

पांच जून तक पूरी तरह सील मुक्त करने की तैयारी

प्रशासनिक अधिकारियों के अनुसार हिंदपीढ़ी के भीतरी इलाकों को भी सील मुक्त किए जाने की प्रकिया चल रही है। इसकी तैयारी लगभग पूरी हो गई है। गाइडलाइन के अनुसार कोरोना के एक भी मरीज नहीं मिलने पर सीलमुक्त किए जाएंगे। पांच जून तक पूरे हिंदपीढ़ी से सील हटा दिया जाएगा। अबतक नाला रोड, कुर्बान चौक, भट्ठी चौक, ग्वालाटोली, सेकेंड स्ट्रीट, थर्ड स्ट्रीट सहित कई मोहल्ले कंटेनमेंट जोन में हैं।

दो हजार घरों में स्क्रीनिंग

गुरुवार को एसडीओ लोकेश मिश्रा खुद हिंदपीढ़ी के कई इलाकों में जाकर डोर-टू डोर स्क्रीनिंग करवाते नजर आए। इसके लिए आठ टीमें बनाई गई थीं। हर टीम ने एक-एक इलाके में जाकर लोगों के बॉडी टेंप्रेचर रीड किया। साथ ही ट्रेवल हिस्ट्री की भी जानकारी ली। इसके बाद 15 लोगों का सैंपल लिया गया। पूरे इलाके में करीब दो हजार लोगों की स्क्रीनिंग की गई है।

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.