झारखंड में 13 मई तक बढ़ा लॉकडाउन

Updated Date: Thu, 06 May 2021 10:40 AM (IST)

रांची: मौजूदा पाबंदियों के साथ राज्य में आंशिक लॉकडाउन (स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह) को फिर एक सप्ताह के लिए बढ़ा दिया गया है। राज्य में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बुधवार को आपदा प्रबंधन प्राधिकार के सदस्यों के साथ उच्च स्तरीय बैठक में यह निर्णय लिया है। अब आगामी 13 मई तक सभी दुकानें (अनिवार्य सेवाओं को छोड़कर) दोपहर दो बजे तक ही खुलेंगी। बैंक भी दोपहर दो बजे तक ही खुलेंगे, लेकिन एटीएम दिन-रात खुले रहेंगे। इस बार वन विभाग के दफ्तर को भी खोला गया है, ताकि बरसात के पूर्व पौधरोपण को लेकर तैयारियां की जा सके। वर्तमान में जो प्रतिबंध हैं, वो अगले एक सप्ताह तक जस के तस रहेंगे।

22 अप्रैल से शुरू

गौरतलब है कि पूर्व में राज्य सरकार ने स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह 22 अप्रैल की सुबह छह बजे से 29 अप्रैल की सुबह छह बजे तक के लिए लागू किया था, लेकिन कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए इसमें और सख्ती बरतने के आदेश के साथ इस स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह को छह मई तक के लिए बढ़ाया गया था।

12 दिनों में 31 हजार लोग बिना मास्क धराए

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए राज्य में नियम तोड़ने वालों पर पुलिस की दबिश जारी है। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि महज 12 दिनों के भीतर यानी 23 अप्रैल से चार मई तक राज्य में सार्वजनिक स्थानों पर बिना मास्क पहने 31 हजार 131 लोगों पर कार्रवाई हुई है। इसमें सिर्फ बोकारो जिले में सर्वाधिक 20 हजार 62 लोग पकड़े गए हैं। इसी तरह विभिन्न जिलों में कोरोना गाइडलाइंस का उल्लंघन मामले में कुल 47 प्राथमिकियां भी दर्ज की गई हैं। स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के दौरान कोविड गाइडलाइंस का पालन कराने के लिए पुलिस अबतक आग्रह व जुर्माना वसूला तक पर ध्यान दे रही थी। कोरोना गाइडलाइंस उल्लंघन मामले में एफआइआर पर पुलिस का बहुत ध्यान नहीं रहा, जिस तरह से पाबंदियां बढ़ती जा रही हैं, वैसी स्थिति में अब पुलिस भी सख्त कदम उठाने जा रही है। अब कोरोना गाइडलाइंस का उल्लंघन करने वालों पर कोई दया नहीं, बहुत समझा लिया, अब सीधे प्राथमिकी दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

फ‌र्स्ट फेज में छह जिलों में 18 प्लस का वैक्सीनेशन

राज्य सरकार 18 से 44 वर्ष के लोगों का कोरोना टीकाकरण शीघ्र शुरू करने की तैयारी कर रही है। भारत बायोटेक से 1.34 लाख डोज कोवैक्सीन मिलने के बाद इस दिशा में कार्रवाई तेज कर दी गई है। टीकाकरण शुरू करने का प्रस्ताव मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को भेजा गया है। हालांकि टीकाकरण कब से शुरू होगा इसका खुलासा नहीं हो पाया है। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों के अनुसार, पहले चरण में राज्य के छह जिलों में 18 से 44 वर्ष के नागरिकों का टीकाकरण शुरू होगा। ये वैसे जिले हैं जहां कोरोना का संक्रमण अधिक है। इनमें रांची, पूर्वी सिंहभूम, धनबाद, बोकारो, हजारीबाग, कोडरमा हो सकते हैं। हालांकि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ही इसपर अंतिम स्वीकृति देंगे। बता दें कि इस आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण एक मई से ही शुरू होना था, लेकिन कंपनियों द्वारा वैक्सीन उपलब्ध कराने में असमर्थता के कारण झारखंड में यह शुरू नहीं हो पाया। अब कोवैक्सीन की 1.34 लाख डोज मिलने के बाद टीकाकरण शुरू किया जा रहा है। राज्य सरकार कोविशील्ड के लिए भी सीरम इंस्टीट्यूट से लगातार संपर्क बनाए हुए है। डेढ़ लाख डोज यहां से भी राज्य सरकार को शीघ्र मिलने की उम्मीद है।

सीएम ने दिया पत्रकारों को टीकाकरण में प्राथमिकता का आदेश

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने टीकाकरण में पत्रकारों को प्राथमिकता देने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह को दिए हैं। उन्होंने ट्वीट कर इसकी जानकारी देते हुए कहा कि कोरोना की इस लड़ाई में हम मिलकर लड़ते हुए ही जीत हासिल करेंगे। मुख्यमंत्री के निर्देश पर अभियान निदेशक रविशंकर शुक्ला ने सभी उपायुक्तों को पत्र भेजकर पत्रकारों को प्राथमिकता के आधार पर टीका लगाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि कोरोना से संबंधित सूचनाओं को संग्रह करने एवं उनका प्रचार-प्रसार करने के क्रम में पत्रकार लगातार क्षेत्र में घूमते हैं। ये निर्भीक रूप से काम कर सकें, इसके लिए इनका टीकाकरण किया जाना जरूरी है। हालांकि अभियान निदेशक ने अभी 45 वर्ष से ऊपर के पत्रकारों के लिए आदेश जारी किया है। बड़ी संख्या में 18 वर्ष व इससे अधिक आयु के सभी पत्रकारों का टीकाकरण बहुत जरूरी है।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.