सरे राह मयकशी, शर्मसार हो रही सिटी

Updated Date: Thu, 25 Feb 2021 11:38 AM (IST)

रांची: राजधानी रांची में सुरक्षा तो पहले से ही भगवान भरोसे है। वहीं, इन दिनों सिटी में सरे राह मयकशी का भी पूरा इंतजाम है। रोड किनारे ही बोतलें खुल रही हैं, और रोड साइड ही ड्रिंक करने बैठ रहे हैं। यह नजारा किसी गली या मुहल्ले का नहीं है, बल्कि राजधानी के पॉश इलाकों में भी ऐसा देखने को मिल रहा है। लालपुर, कोकर, जेल मोड़, डोरंडा, पिस्का मोड़ जैसे एरिया में शाम ढलते ही शराबी रोड साइड जमने लगते हैं। शराब की दुकान से बोतल खरीदने के बाद उसी दुकान के बगल में बैठ जाते हैं। इससे आम लोगों को आने-जाने में भारी परेशानी हो रही है। लेकिन लड़ाई-झगडे़ के डर से कोई कुछ कहता नहीं। बुधवार की शाम आठ बजे लालपुर से कोकर जाने वाले रास्ते में ऐसा ही नजारा दिखा, जहां कुछ लोग वाइन शॉप के बगल में ही ड्रिंक कर रहे थे। वहीं, इस रास्ते से बुजुर्ग महिला और बच्चे सभी बच कर आना-जाना करते नजर आए। लेकिन शराबियों को इससे कोई फर्क नहीं पड़ रहा।

चना, चाऊमीन, अंडे के ठेले पर महफिल

शराबियों की महफिल सिर्फ सड़क किनारे ही नहीं लगती, बल्कि सड़क किनारे लगने वाले चाऊमीन, अंडा और चना के ठेले पर भी इनके पीने का इंतजाम हो जाता है। ठेले वाले कुछ पैसे और शराब के लालच में पीने वालों को अपनी दुकान पर ही इजाजत दे देते हैं। इन ठेलों पर शराब के साथ-साथ सिगरेट और गांजे के कस भी लगाए जाते हैं। शाम सात बजते ही ठेले और रोड साइड ही महफिल जमनी शुरू हो जाती है। हालांकि, कई ऐसे लोग भी हैं, जो गलियों और मुहल्लों में जाकर ड्रिंक करते हैं। लेकिन इन दिनों सड़क किनारे भी रंगीन पानी छलक रहा है। बार-बार ऐसी शिकायत मिलने के बाद डीजे आईनेक्स्ट की टीम ने कुछ इलाकों का मौका-मुआयना किया, यहां के हालत वास्तव में चौंकाने वाले हैं।

स्पॉट-1: जेल मोड़

टाइम: 4 बजे शाम

जेल मोड़ का इलाका ऐसा है जहां पूरे दिन शराबियों की मंडली जमी रहती है। यहां रिक्शा-ठेला वाले खुलेआम रोड किनारे बैठकर शराब का सेवन करते हैं। पास में ही वीमेंस कॉलेज होने से लड़कियों का काफी मूवमेंट भी इस रास्ते से रहता है। शराबियों के रास्ते में बैठे होने से इन लड़कियों को इधर से गुजरने में काफी परेशानी होती है। शराब की बदबू और कभी-कभी फब्तियों का भी सामना करना पड़ता है।

स्पॉट 2 : लालपुर

टाइम : शाम 7 बजे

लालपुर से कोकर की ओर जाने वाले रास्ते में आर्या होटल के सामने शराब की दुकान है। यहां वाइन शॉप के बगल में ही कुछ लड़के बैठकर ड्रिंक कर रहे हैं। पास से ही कई लोगों का आना-जाना हो रहा है, लेकिन इन्हें कोई फर्क भी नहीं पड़ता। ये लोग आराम से शराब और सिगरेट का सेवन कर रहे हैं। साथ ही गाली-गलौज भी कर रहे हैं। वहीं पास में ही एक चने की दुकान है। दुकान के पास भी एक युवक ड्रिंक कर रहा है।

स्पॉट-3 : कोकर

टाइम: 8:10 बजे शाम

कोकर चौक पर भी ऐसा नजारा आम है। रोड साइड बैठकर ही युवा ड्रिंक कर रहे हैं। बुधवार की रात आठ बजे कुछ युवक दारू का सेवन करते नजर आए। फोटाग्राफर को देखते ही ये लोग दारू की ग्लास छोड़ कर भाग खडे़ हुए। आसपास के लोगों ने बताया कि हर दिन यही नजारा रहता है। कभी-कभी बात काफी आगे बढ़ जाती है। शराब पीकर लोग आपस में ही मारपीट भी कर लेते हैं।

शराब पीकर युवक को चाकू घोंपकर मार डाला

वहीं सिर्फ लालपुर और कोकर में ही यह नजारा नहीं है। बल्कि सिटी के दूसरे इलाके जैसे कचहरी, पिस्का मोड़, डोरंडा, पंडरा, किशोर गंज समेत अन्य इलाकों में भी ऐसा ही हाल है। इन स्थानों पर भी शाम ढलते सड़क किनारे महफिल जमनी शुरू हो जाती है। जो देर रात तक चलती रहती है। कई बार शराब पीकर ये युवक आपस में ही मारपीट भी कर लेते हैं। कुछ दिन पहले करमटोली इलाके में तीन युवकों ने शराब पीकर मारपीट कर ली थी, जिसमें एक युवक को चाकू घोंपकर मौत के घाट भी उतार दिया था।

नहीं है पुलिस का डर

शराबियों में पुलिस का कोई डर नहीं है। बेखौफ होकर ये लोग रोड साइड सभी नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। वहीं दूसरी ओर पुलिस पेट्रोलिंग टीम भी इन शराबियों को कुछ नहीं करती, जिससे इनकी हिम्मत बढ़ जाती है। पहले टाइगर पुलिस लगातार पेट्रोलिंग किया करती थी। लेकिन इन दिनों न टाइगर पुलिस नजर आती है और न ही पीसीआर वैन गश्ती करती देखी जाती है। पेट्रोलिंग के दौरान भी पुलिस ऐसे लोगों को कुछ नहीं करती। वहीं दूसरी ओर शराब दुकान के बाहर ड्रिंक करने पर वाइन शॉप वाले उन्हें कुछ नहीं कहते।

सिटी में किसी भी तरह के गैरकानूनी काम बर्दाश्त नहीं किए जांएगे। यदि सड़क किनारे लोग ड्रिंक कर रहे हैं तो वे सुधर जाएं, अन्यथा पुलिस कार्रवाई करेगी।

- सुरेंद्र कुमार झा, एसएसपी, रांची

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.