गोविंदमय हुआ कृष्णा नगर, प्रकाश पर्व पर सजा विशेष दीवान

Updated Date: Sun, 24 Jan 2021 04:40 PM (IST)

रांची: गुरुद्वारा श्री गुरुनानक सत्संग सभा,कृष्णा नगर कॉलोनी में दशम पातशाह श्री गुरुगोबिंद सिंह जी के 354वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में आज 23 जनवरी तड़के 4:00 बजे से 6:00 बजे तक सर्वप्रथम सिख पंथ के महान कीर्तनी जत्था भाई गुरशरण सिंह जी लुधियाना वाले द्वारा साध संगत को सिमरन साधना करवाई गई। उन्होंने लगातार दो घंटे तक गुरुद्वारा साहिब में उपस्थित समूह साध संगत को वाहेगुरु का जाप कराया एवं संगत के साथ मिलकर राख लेयो हमते बिगड़ी, कर इसनान सिमर प्रभ अपना, गुरु नानक की वडीआईजैसे एक के बाद एक कई शबद गायनों से मंत्रमुग्ध कर दिया।

गुरु गोविंदसिंह की निशानियां देख संगत निहाल

इससे पहले गुरुद्वारा श्री गुरुनानक सत्संग सभा,कृष्णा नगर कॉलोनी में 23 जनवरी सुबह 6 से 7.30 बजे तक सजाए गए विशेष दीवान में छठे गुरु श्री हरगोविंद साहिब जी के प्रिय सिख भाई रूपा जी के परिवार की तेहरवीं पीढ़ी के भाई बूटा सिंह ने राँची के श्रद्धालुओं को श्री हरगोविंद साहिब जी एवं श्री गुरुगोबिंद सिंह जी,गुरु तेग बहादुर साहिब जी तथा माता गुजरी की निशानियों के दर्शन कराए। इनमें गुरु हरगोबिंद साहिब जी की ढाल जिसका महाराज युद्ध में इस्तेमाल करते थे, माता गुजरी जी एवं श्री अर्जुन देव जी की पत्नी माता गंगा के चरण के जोड़े(खड़ाऊ), कड़छा जिससे गुरु महाराज लंगर वरताया करते थे, गुरुगोबिंद सिंह जी द्वारा युद्ध में इस्तेमाल किए जाने वाले तीर जिसके शीर्ष पर सवा तोला सोना लगा होता था, गुरु हरगोबिंद साहिब द्वारा हस्तलिखित हुक्मनामा, गुरु रामदास जी द्वारा भाई रूपा सिंह जी को सौंपा गया चंदन की लकड़ी से निर्मित खुड्डा(छड़ी) तथा गुरु तेगबहादुर साहिब जी का कड़ा के दर्शन रांची शहर की साध संगत को करवाए। भाई गुरशरण सिंह जी ने भाई बूटा सिंह जी को सरोपा ओढ़ाकर सम्मानित किया। दीवान की समाप्ति सुबह 7.45 बजे हुई। इसके बाद सत्संग सभा द्वारा चाय नाश्ते का लंगर चलाया गया।

आज गुरशरण सिंह लुधियाना वाले का प्रोगाम

सभा के मीडिया प्रभारी नरेश पपनेजा ने बताया कि सुबह 3.45 बजे ही श्रद्धालुओं से गुरुद्वारा साहिब का हॉल खचाखच भर गया। संगत ने सिमरन साधना की और निशानियों के श्रद्धापूर्वक दर्शन किए.जब तक भाई बूटा सिंह जी निशानियों के दर्शन कराते रहे पूरा हॉल बोले सो निहाल सत श्री अकाल के जयकारे से गुंजायमान रहा। साथ ही जानकारी दी कि प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में 23 जनवरी रात 8 बजे से 12.30 बजे तक व 24 जनवरी को सुबह 10 से दोपहर 3 बजे तक विशेष दीवान सजाया जाएगा, जिसमें शिरकत करने पहुंचे रागी जत्था भाई श्री गुरशरण सिंह जी लुधियाना वाले शबद गायन कर साध संगत को निहाल करेंगे। दोनों दीवानों की समाप्ति पर गुरु का अटूट लंगर चलाया जाएगा। प्रकाश पर्व के अवसर पर गुरुनानक सेवक जत्था द्वारा 24 जनवरी को सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे तक गुरुद्वारा परिसर में रक्तदान शिविर लगाया जाएगा।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.