दिसंबर की सर्दी में व्हिस्की के 2.50 लाख बॉटल तो रम महज 49943 बॉटल ही बिकी. 2 लाख 27 हजार लोगों ने कंट्री लिकर का सेवन किया. डेढ़ लाख से अधिक बियर के बोतल बेचे गए.


रांची(ब्यूरो)। सर्दी के सीजन में शरीर में गर्मी लाने के लिए लोग रम पीते हैं, लेकिन रांची सहित झारखंड के लोग रम से अधिक व्हिस्की पीने का शौक रखते हैं। शहर के लोगों को रम पसंद नहीं है। जी हां, झारखंड उत्पाद एवं मद्य निषेध विभाग द्वारा जारी आंकड़े के अनुसार, दिसंबर महीने में 2 लाख 50 हजार बॉटल व्हिस्की लोगों ने पी है, जबकि 49,943 बॉटल रम लोगों ने गटका है।कंट्री लिकर पहली पसंद
विदेशी शराब की अपेक्षा कंट्री लिकर अब भी लोगों की पहला पसंद बनी हुई है। सबसे अधिक दिसंबर और जनवरी महीने में कंट्री लिकर के बाटल बेचे गए। दिसंबर में जहां 2.27 लाख बॉटल व पाउच कंट्री लिकर का लोगों ने सेवन किया है वहीं जनवरी के 15 दिनों ही 63 हजार से अधिक बोतल व पाउच बेचे गए हैं। अब भी 15 दिन का समय बाकी है, एक लाख से अधिक बोतल निकलने की संभावना है। हालांकि, यह डाटा पिछले महीने दिसंबर की अपेक्षा बहुत कम है।लॉकडाउन का दिख रहा असर


पिछले साल के दिसंबर महीने में शराब दुकानें 10 बजे रात तक खुली रहती थीं और लोग खरीदारी करते थे। हालांकि अभी भी सरकार ने शराब दुकानों को 10 बजे तक खोलने का निर्देश जारी किया है। एसओपी के तहत सभी शराब दुकानें 10 बजे रात तक खुली रहती हैं पर आम लोगों के लिए रात 8 बजे के बाद नाइट कफ्र्यू है, जिसका असर शराब दुकानों पर भी दिखने लगा है। 8 बजे के बाद बहुत कम लोग शराब दुकान में शराब खरीदने पहुंच रहे हैं।राज्य में 1600 से अधिक दुकानेंराज्य में 43 शराब के आपूर्तिकर्ता हैं, जो अलग-अलग ब्रांड के शराब को बोतलनुमा पैक और केन में दुकानों को उपलब्ध कराते हैं। यह शराब के ब्रांड 1600 से अधिक रिटेलर के जरिए लोगों तक पहुंचाए जाते हैं। दिसंबर महीने में 93 हजार से अधिक परमिट शराब के आपूर्तिकर्ताओं को दिए गए, जिसके माध्यम से रिटेललर तक शराब की खेप पहुंचाई गई है।

दिसंबर महीने में किसकी कितनी खपतव्हिस्की 2.50 लाख बॉटलकंट्री लिकर 2.27 लाख बॉटल व पाउचरम 49943 बॉटलबियर 1.50 लाख से ज्यादा बॉटलजनवरी के 15 दिनों में खपतविहस्की 94 हजार बॉटलकंट्री लिकर 73 हजार से ज्यादा बॉटल व पाउचरम 24,473 बॉटलबियर 78,030 बॉटल

Posted By: Inextlive