कन्फ्यूजन में सन्नाटा

Updated Date: Mon, 12 Apr 2021 10:20 AM (IST)

रांची: राजधानी रांची में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए इसके चेन को तोड़ने के लिए धारा 144 लगाई गई है। इसके अलावा सिटी में रात आठ बजे तक सभी दुकानों को बंद करने का भी आदेश है। रविवार को लोग काफी कन्फ्यूज दिखे। दरअसल एक दिन पहले रांची में यह अफवाह काफी तेजी से वायरल हुई कि रविवार को कफ्र्यू लगेगा। हालांकि, जिला प्रशासन की ओर से इस अफवाह का खंडन कर दिया गया था। फिर भी रांची के मेन रोड समेत अन्य कई इलाकों में अफवाह का असर दिखा। कुछ दुकानदारों ने सिर्फ प्रशासन की ओर से होने वाले फाइन से बचने के लिए दुकान बंद कर दिया तो कुछ ने दूसरों को देखकर अपनी दुकान की शटर गिरा दी। मेन रोड में एक भी दुकान नहीं खुली, सड़क पर भी सन्नाटा पसरा रहा। लोगों का मूवमेंट भी कम नजर आ रहा था। सड़क पर इक्के-दुक्के लोग नजर आ रहे थे। उनके लिए भी रविवार को कफ्र्यू लगने की टॉपिक ही गॉशिप का विषय रही।

लॉकडाउन जैसा नजारा

रविवार को मेन रोड, हरमू रोड, डोरंडा, अरगोड़ा, बरियातू, अपर बाजार, रातू रोड समेत अन्य इलाकों में लॉकडाउन जैसा नजारा रहा। कुछ लोगों ने अफवाह की वजह से तो कुछ रविवार की छुट्टी के कारण अपनी दुकानें बंद रखी थीं। कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए लोग भी सेल्फ क्वारंटीन होना ज्यादा सेफ मान रहे हैं। सिटी में दिनोंदिन हालात बिगड़ते जा रहे हैं। कोरोनावायरस लगातार लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है। लोगों की जान जा रही है। नौबत ऐसी आ गई है कि डेडबॉडी जलाने के लिए भी लोगों को काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। हॉस्पिटल में बेड की कमी बड़ी समस्या बनी हुई है। कोरोना की वजह से दूसरी बीमारी से ग्रसित लोगों को भी भारी परेशानी हो रही है। इन्हीं सब कारणों को देखते हुए अधिकतर लोग घर पर ही रह रहे हैं।

परिवार में बीता रविवार

शहर के अधिकतर लोगों ने रविवार को अपने परिवार के साथ रह कर एंज्वाय किया। पूरी फैमिली एक साथ ब्रेकफास्ट से लेकर लंच, और डिनर भी साथ में किया। दरअसल कोरोना ने हर व्यक्ति में भय पैदा कर दिया है। रातू रोड के रहने वाले डॉ संजय सिंह बताते हैं कि इस तरह की बीमारी हर इंसान पहली बार अपनी जिंदगी में देख रहा है। अब तक इसकी रोकथाम के लिए दवा नहीं बनी है। जिस वजह से खुद से बचाव ही एकमात्र इलाज है। लोग जितना हो सके घर पर ही रहें, बहुत जरूरी काम हो तभी घर से बाहर निकलें। घर से निकलने से पहले मास्क जरूर लगाएं। घर आते ही साबुन से हाथों को अच्छी तरह से धो लें। खाने में गर्म खाना, गर्म पानी का ही इस्तेमाल करें। इस पैनडेमिक पीरियड में अपने साथ-साथ अपने परिवार का ख्याल रखना भी बहुत जरूरी है।

मेरी मोबाइल फोन की दुकान है। मुझे लगा आज कफ्र्यू है। इस लिए दुकान बंद रखी है। दो-तीन दिन से यह हल्ला था कि रविवार को सभी दुकानों को बंद रखने का आदेश दिया गया है। कोई परेशानी नहीं है, यदि एक दिन सभी लोग अपने घर पर रहें तो कोरोना की चेन तोड़ने में मदद मिलेगी।

- दीपक, मेन रोड

सभी ने अपनी दुकान बंद रखी है, इसलिए मैंने भी दुकान नहीं खोली। प्रशासन की ओर से कफ्र्यू वाली बात को अफवाह बताया गया था। फिर भी रोड पर न तो दुकानदार थे न खरीदार, तो मैं अकेला दुकान खोल कर क्या करता।

- रवि कुमार, रातू रोड

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.