इस साल 39वें घूसखोर को निगरानी ने दबोचा

Updated Date: Sun, 20 Sep 2015 11:31 AM (IST)

RANCHI : झारखंड में रिश्वत लेने के आरोप में सबसे ज्यादा अंचल से जुड़े अधिकारियों व कर्मचारियों को निगरानी की टीम ने दबोचा है। इस साल ऐसे 39 सरकारी अधिकारी व कर्मचारी अबतक पकड़े जा चुके हैं। इन सभी के खिलाफ निगरानी अदालत में मामला चल रहा है। गौरतलब है कि सरकारी विभागों में घूसखोरी पर लगाम कसने के लिए निगरानी की विशेष टीम काम कर रही है। शनिवार को पाकुड़ जिले के अमरापाड़ा अंचल की महिला राजस्व कर्मचारी कैटरीना टुडू को म्यूटेशन के नाम पर पांच हजार रूपए रिश्वत लेते निगरानी ने दबोच लिया। इन्हें गिरफ्तार कर रांची लाया जा रहा है, जहां अदालत में पेशी के बाद जेल भेज दिया जाएगा।

विजिलेंस ने कब किसे दबोचा (बॉक्स)

11 सितंबर 2015

रामगढ़ के गोला ब्लॉक में एक व्यक्ति से म्यूटेशन के नाम पर आठ हजार रूपए रिश्वत लेते हुए कर्मचारी कल्याण धराया।

10 सितंबर, 2015

रामगढ़ जिला स्थित बड़काकाना ओपी के अस्टिेंट सब-इंस्पेक्टर ठाकुर राम आठ हजार रूपए रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार।

दूसरी तरफ गिरिडीह जिला स्थित डुमरी में पंचायत सेवक कार्तिक विश्वकर्मा भी चार हजार रिश्वत लेते हुए धराए।

3 सितंबर 2015

हजारीबाग जिले के बड़कागांव अंचल के राजस्व कर्मचारी अजय कुमार सिंह को जमीन के म्यूटेशन के नाम पर घूस मांगने के आरोप में निगरानी ने पकड़ा। घर की तलाशी लेने पर 22 लाख रुपए नकद बरामद।

31 अगस्त 2015

बोकारो जिले के चास में पदस्थापित राजस्व कर्मचारी अशोक कुमार मिश्रा व राकेश कुमार को दो हजार रूपए रिश्वत लेते हुए विजिलेंस ने रंगेहाथ पकड़ा।

24 अगस्त 2015

हजारीबाग के भवन निर्माण विभाग के जूनियर इंजीनियर योगेश तिवारी को 40 हजार रूपए रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया गया। इंजीनियर पर हजारीबाग ओपेन जेल के चार वॉच टॉवरों के लिए बिल पेमेंट के नाम पर घूस मांगी गई थी।

14 जुलाई 2015

गुमला जिला स्थित पालकोट के बीडीओ सतीश कुमार दस हजार रूपए रिश्वत लेते गिरफ्तार। जामनाला से लीटिया तक पथ निर्माण कार्य में लाभुक की मजदूरी भुगतान के लिए रिश्वत मांगी थी।

25 जून 2015

पाकुड़ जिले के हिरणपुर के अंचल पदाधिकारी देवराज गुप्ता को 20 हजार रूपए रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

23 मई 2015

चाईबसा के जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय के क्लर्क को दस हजार रूपए रिश्वत लेते हुए निगरानी ने गिरफ्तार किया था।

10 अप्रैल 2015

पलामू के पांकी ब्लॉक ऑफिस में छापा मार कर सहायक क्लर्क मनमोहन प्रसाद को निगरानी ने 50 हजार रुपए घूस मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया था।

1 जनवरी 2015

चतरा जिला स्थित ग्रामीण विकास विभाग में कार्यरत अधिकारी प्रकाश कुशवाहा और एनआरईपी डिवीजन के सलीम अंसारी को रिश्वत लेने के आरोप में पकड़ा गया था।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.