टाटा स्टील के स्पेयर मैन्युफैक्च¨रग में हुआ जेएमसीपी

2019-06-27T06:00:50Z

छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: इलेक्ट्रॉनिक मशीन से अगर ब्लड प्रेशर के सटीक आंकड़े नहीं मिलते तो पारंपरिक मरकरी मशीन से भी ठेका कर्मचारियों की जांच करें। मानक से अगर ब्लड प्रेशर कम या ज्यादा हो तभी संबधित ठेकाकर्मी को अनफिट करें। टाटा स्टील के वाइस प्रेसिडेंट (एसएस) अवनीश गुप्ता ने यह निर्देश कंपनी के अधिकारियों को दिया।

टाटा स्टील के स्पेयर मैन्युफैक्च¨रग में बुधवार सुबह ज्वाइंट मास कम्युनिकेशन प्रोग्राम (जेएमसीपी) हुआ। इसमें ठेका कर्मचारियों की समस्याओं को बोधनवाला कंपनी के प्रोपराइटर बेली बोधनवाला ने इस उठाया। कहा कि हम अपने कर्मचारियों को बाहर से डॉक्टर जांच में फिट होने के बाद ही एनटीटीएफ में भेजते हैं लेकिन इलेक्ट्रॉनिक मशीन द्वारा सटीक आंकडे़ नहीं बताने के कारण डॉक्टर उन्हें अनफिट घोषित कर देते हैं।

कर रहे बेहतर काम

वहीं, अवनीश गुप्ता ने कहा कि स्पेयर मैन्युफैक्च¨रग के इंजीनिय¨रग सर्विसेज, इक्यूपमेंट मेंटनेंस और स्पेयर सर्विसेज में कार्यरत लगभग साढ़े 13 हजार कर्मचारी बेहतर काम कर रहे हैं और विभाग जीरो हार्म क्लब में भी शामिल हैं। सभी एजेंसियों को मिलकर अगर हम साथ काम करें तो इस उपलब्धि को निरंतर बनाए रख सकते हैं। कार्यक्रम में चीफ ऑफ स्पेयर सर्विसेज दिनकर आनद, टाटा वर्कर्स यूनियन के उपाध्यक्ष हरिशंकर सिंह, शत्रुघ्न राय, सहायक सचिव धर्मेद्र कुमार उपाध्याय सहित कंपनी के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

लगातार होती है बात

यूनियन उपाध्यक्ष शाहनवाज आलम ने कहा कि एपेक्स स्तर की कमेटियों में लगातार ठेका कर्मचारियों के विषय पर बात होती है। कंपनी में ठेका कर्मचारियों के लिए मेंटोर-मेंटी कार्यक्रम संचालित है। कंपनी चाहती है कि ठेकाकर्मी जिस आत्म विश्वास के साथ ड्यूटी पर आते हैं उसी आत्म विश्वास के साथ वे सुरक्षित अपने घर लौटें।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.