नगर निगम के 3000 सफाई कर्मी बनेंगे 'स्मार्ट'

2019-07-20T06:00:39Z

- लखनऊ की तर्ज पर कानपुर नगर निगम में भी सफाई कर्मियों को दी जाएगी स्मार्ट वॉच, अटेंडेंस के साथ लोकेशन भी बताएगी

KANPUR@inext.co.in

KANPUR : नगर निगम अपने सफाई कर्मचारियों को स्मार्ट बनाने की तैयारी कर रही है। जिसके तहत वो लखनऊ की तर्ज पर सफाई कर्मचारियों को स्मार्ट वॉच पहनाएगा, जिसके दो फायदे होंगे। इम्पलाईज के स्मार्ट बनने के साथ ही उनकी निगरानी भी की जा सकेगी। ऐसे में काम में लापरवाही बरतने वाले सफाई कर्मी अब कामचोरी नहीं कर पाएंगे। महापौर प्रमिला पांडेय के मुताबिक लखनऊ नगर निगम में इस तरह की वॉच कर्मचारियों को दी गई हैं। कानपुर नगर निगम भी इसको अडॉप्ट करेगा। फ‌र्स्ट फेज में 3,000 कर्मियों को वॉच दी जाएगी।

कंट्रोल रूम बनेगा

महापौर के मुताबिक आईएम ट्रैकिंग वॉच (ह्यूमन ट्रैकिंग एफिसिएंसी सिस्टमम) बांटने के साथ ही इसकी निगरानी के लिए कंट्रोल रूम बनाया जाएगा। ये वॉच बंगलुरू की एक आईटीआई ने बनाई हैं। वहीं शहर में कई पार्षदों, वरिष्ठ और गणमान्य नागरिकों की तरफ से आरोप लग रहे थे कि 20 परसेंट से ज्यादा सफाई कर्मी सिर्फ कागजों में ही तैनात हैं। वहीं सफाई नायकों पर भी पैसे लेकर सफाई में छूट देने के आरोप पार्षद लगाते रहते हैं। इससे वेतन भुगतान के बहाने करोड़ों रुपए के वारे-न्यारे हो रहे हैं। इस पहल से इन तमाम अटकलों पर भी फुल स्टॉप लग जाएगा।

--------------

10 कर्मी एक साथ कनेक्ट

कर्मचारी अगर किसी परेशानी में फंसता है तो उसके लिए वॉच में पैनिक बटन बनाया गया है। इस बटन के दबाते ही एक साथ 10 नंबरों पर बात हो सकेगी। यह वॉच नगर निगम को पूरी तरह से फ्री मिलेगी। हालांकि अगर कोई वॉच टूटती या गायब होती है तो उसके एवज में नगर निगम को 6,000 रुपए की पेमेंट करनी होगी। वॉच में लगे सिमकार्ड को रिचार्ज भी करना होगा।

--------------

ऐसे की जा सकेगी निगरानी

-हर कर्मचारी को वॉच पहनाने से पहले उसका रजिस्ट्रेशन होगा। ऐसा होते ही उसकी फोटो व अन्य डीटेल डाटा बैंक में आ जाएगी।

-वॉच के पिछले हिस्से में सेंसर होगा। उतरते ही पता चल जाएगा कि घड़ी कर्मी के बॉडी से अलग कर दी गई है।

-कर्मी जैसे ही अपने ड्यूटी वाले वार्ड में पहुंचेगा, कंट्रोल रूम में उसकी लोकेशन आ जाएगी।

-काम पर आते ही वॉच से सेल्फी लेकर भेजनी होगी, अधिकारी इन कर्मचारियों से वीडियो कॉलिंग भी कर सकेंगे।

-वॉच के जरिए कंट्रोल रूम में बैठे-बैठे यह भी पता चल जाएगा कि कर्मी काम कर रहा है या नहीं।

----


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.