38 जेडपीएस होंगे स्टार्ट दूर होगी वाटर क्राइसिस

2019-07-12T06:00:58Z

आई एक्सक्लूसिव

-शासन से मांगी गई लिस्ट, जेएनएनयूआरएम के तहत बनाए गए 38 जोनल पंपिंग स्टेशन सालों से सूखे पड़े हैं

-850 करोड़ रुपए अब तक इस योजना में खर्च किए जा चुके हैं, बावजूद इसके लोगों को नहीं मिल रहा प्योर वाटर

KANPUR@inext.co.in

KANPUR : शहर में 13 साल पहले प्योर वाटर सप्लाई के लिए जेएनएनयूआरएम योजना शुरू की गई थी। अब तक 850 करोड़ रुपए खर्च किए जा चुके हैं, लेकिन लोगों को पानी अब तक नहीं मिला है। जेएनएनयूआरएम के तहत ईस्ट और साउथ सर्विस डिस्ट्रिक्ट के तहत 475 करोड़ रुपए से 1030 किमी। वाटर लाइन डाली गई। लेकिन 50 परसेंट लाइनों में आज भी पानी सप्लाई नहीं हो सकी है। अब स्टेट गवर्नमेंट ने इन लाइनों में पानी की सप्लाई के लिए कार्ययोजना तैयार की है। अब इस मामले में सरकार जागी है और ठूठ खड़े 38 जोनल पंपिंग स्टेशन को शुरू करने में आने वाली बाधाओं की रिपोर्ट मांगी है।

20 परसेंट घरों में ही पानी

सरकारी तंत्र ने इस योजना में करप्शन की सभी लाइनों को क्रॉस कर दिया था। यही कारण है कि इस योजना से अभी तक 20 परसेंट घरों में ही पानी पहुंच सका है। गंगा बैराज से फूलबाग तक बड़ी मुश्किलों के बाद वाटर सप्लाई शुरू हुई, लेकिन आए दिन इसमें लीकेज से वाटर सप्लाई बंद रहती है। बसंत विहार, बाबा नगर में पिछले 1,000 घरों में कनेक्शन देने के 3 साल बाद भी लीकेज नहीं बनाया जा सका है। इसकी वजह से लोग सबमर्सिबल से पानी लेने को मजबूर हैं।

-----------

शासन ने रिपोर्ट तलब की

शासन में ज्वाइंट सेकेट्री राधे कृष्ण के मुताबिक बंद पड़े ओवरहैड टैंक, नलकूप आदि की रिपोर्ट नगर निगम से मांगी गई है। वहीं शहर में योजना के तहत बनाए गए 76 में से पूरी क्षमता से लगभग 5 जेडपीएस ही कार्य कर रहे हैं। 38 पूरी तरह से बंद हैं और बाकी में आए दिन लीकेज व खराबी से बंद रहते हैं। नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने पिछले दिनों शासन में हुई मीटिंग में रिपोर्ट के बाद निकायों को बजट देने की बात कही थी।

--------------

जेएनएनयूआरएम योजना पर एक नजर

-475 करोड़ से लाइन डालने का कार्य शुरू किया गया।

-1,030 किमी। वाटर लाइन डाली जानी थी।

-957 किमी। लाइन डाली जा चुकी है।

-63 किमी। मेन फीडर लाइन डाली जा चुकी है।

-38 जेडपीएस में से पानी की कोई सप्लाई नहीं।

-5 जेडपीएस ही पूरी क्षमता से हो सके हैं चालू।

-18 जेडपीएस आंशिक रूप से कार्य कर रहे हैं।

---------------

यहां बंद पड़े हैं जेडपीएस

-गोविंदनगर 13 ब्लॉक

-बर्रा-2 रामजानकी मंदिर

-बर्रा-3 पानी की टंकी

-बर्रा-5 पानी की टंकी

-परमपुरवा

-बेकनगंज

-रामबाग

-आजाद नगर

-विष्णुपुरी आदि।

--------------

बंद पड़े नलकूप, जेडपीएस आदि की रिपोर्ट शासन से मांगी गई है। योजना में जहां-जहां भी कमी है, बजट मिलने के बाद उनको पूरा किया जाएगा। लोगों को वाटर सप्लाई में कोई प्रॉब्लम न हो, इसका पूरा प्रयास होगा।

-संतोष कुमार शर्मा, नगर आयुक्त।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.