हर्षिता की डमी बनाकर तीन बार फ्लैट से फेंका

2019-07-21T11:00:45Z

-कोहना तिलक नगर स्थित एल्डरॉडो अपार्टमेंट में कारोबारी की पत्नी की मौत के मामले में पुलिस ने किया सीन री-कंस्ट्रकक्शन

- फोरेंसिक टीम के साथ पहुंचे सीओ, मर्डर, सुसाइड और हादसे के हालात समझने की कोशिश, पड़ोसियों के बयान भी दर्ज किए

KANPUR : कोहना के एल्डरॉडो अपार्टमेंट में जंगल वाटर पार्क के मालिक की बेटी हर्षिता की ससुराल में संदिग्ध मौत के मामले में सैटरडे को पुलिस ने सीन री-कंस्ट्रक्शन किया। सातवीं मंजिल स्थित हर्षिता के फ्लैट से एक पुतले को तीन बार नीचे फेंका गया। घटना के समय हर्षिता की सास के मूवमेंट को समझने और टाइमिंग जानने के लिए महिला कांस्टेबल को लिफ्ट से नीचे भेजकर वापस ऊपर बुलाया गया। इस दौरान पुलिस ने क्राइम सीन की वीडियोग्राफी भी कराई। अब पुलिस इसे इंवेस्टीगेशन में शामिल कर जांच आगे बढ़ाएगी।

जेल में हैं तीनों आरोपी

एल्डोरॉडो अपार्टमेंट निवासी धागा कारोबारी उत्कर्ष अग्रवाल की पत्नी हर्षिता की सातवीं मंजिल स्थित फ्लैट से गिरकर मौत हो गई थी। हर्षिता के पिता पदम अग्रवाल ने पति उत्कर्ष, ससुर सुशील और सास रानू पर दहेज की मांग पूरी न होने पर हर्षिता को फ्लैट से फेंककर हत्या का आरोप लगाया था, जबकि हर्षिता के ससुराल पक्ष का कहना था कि वह रेलिंग साफ करते हुए नीचे गिर गई थी। पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। तब से वे जेल में ही हैं। हर्षिता के परिजनों की शिकायत पर एसएसपी ने मामले की जांच सीओ कर्नलगंज से लेकर सीओ स्वरूपनगर को सौंप दी थी।

हर सिचुएशन को बारीकी से समझा

सीओ स्वरूपनगर जांच शुरू करने से पहले क्राइम सीन समझने के लिए फॉरेंसिक टीम को लेकर सैटरडे को एल्डरॉडो अपार्टमेंट पहुंचे। सीन री-कंट्रक्शन के लिए टीम ने हर्षिता के वेट के बराबर एक पुतला तैयार कर उसे फ्लैट से नीचे फेंका। फोरेंसिक टीम ने पहली बार पुतले को ऐसे फेंका, जैसे हत्या के इरादे से उसे धक्का दिया जाता है। दूसरी बार पुतले को ऐसे फेंका गया, जब कोई आत्महत्या करने के लिए किसी बिल्डिंग से कूदता है। तीसरी बार पुतले को ऐसे फेंका गया, जैसे कोई फिसलकर नीचे गिर गया। दूसरी पोजिशन में पुतला उसी जगह गिरा था। जहां पर हर्षिता की लाश पड़ी थी। इससे पुलिस का मानना है कि हर्षिता ने खुदकुशी की है।

बॉक्स

सी इज फिनिश्ड, जल्दी आ जाओ

हर्षिता के पिता पदम अग्रवाल ने एक ऑडियो रिकॉर्डिग मिलने का दावा किया है। जिसमें हर्षिता की सास रानू फोन पर पति सुशील से बात करते हुए बोल रही थीं कि सी इज फिनिश्ड, जल्दी आ जाओ। पदम का आरोप है कि इस ऑडियो रिकॉर्डिग से साफ है कि ससुराल वालों ने साजिश कर हर्षिता की हत्या की है। वहीं, पुलिस ने पड़ोसियों के भी बयान लिए। पुलिस के मुताबिक, पड़ोसियों ने बताया कि हर्षिता के फ्लैट से अक्सर चीखने चिल्लाने की आवाज आती थी। उनका दावा है कि हर्षिता को अक्सर प्रताडि़त किया जाता था।

--------------

सीन री-कंस्ट्रक्शन किया गया है। साथ ही अपार्टमेंट में रहने वाले पड़ोसियों के बयान भी दर्ज किए गए हैं। लोगों ने सास की क्रूरता के बारे में बताया है। बयान को रिकॉर्ड किया गया है। इन्हीं सबूतों के आधार पर चार्जशीट लगाकर कोर्ट में दाखिल की जाएगी।

अजीत सिंह चौहान, सीओ स्वरूपनगर


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.