लोकल बॉडीज को भी देने होंगे 350 करोड़

2019-07-16T06:01:08Z

-- कानपुर मेट्रो प्रोजेक्ट की टोटल कॉस्ट में सेंट्रल व स्टेट गवर्नमेंट के साथ लोकल बॉडीज का भी होगा शेयर

- 3.54 परसेंट फंड लोकल बॉडीज को हिस्सा, लोकल बॉडीज में शामिल डिपार्टमेंट व धनराशि पर फैसला आज

- चीफ सेक्रेटरी की अध्यक्षता में होगी कानपुर मेट्रो को लेकर मीटिंग, कमिश्नर, डीएम, केडीए वीसी भी होंगे शामिल

KANPUR: कानपुर में मेट्रो दौड़ाने के लिए सेंट्रल व स्टेट गवर्नमेंट के साथ लोकल बॉडीज को फाइनेंशियल हेल्प करनी होगी। सेंट्रल गवर्नमेंट से पास डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट के मुताबिक लोकल बॉडीज को 350 करोड़ रुपए इस प्रोजेक्ट पर लगाने होंगे। लोकल बॉडीज में नगर निगम, केडीए या यूपीएसआईडीसी आदि में कौन-कौन शामिल होगा? इनमें से किसको कितनी धनराशि लगानी होगी? इसका फैसला ट्यूज डे को चीफ सेक्रेटरी की अध्यक्षता में होने वाली हाई पॉवर कमेटी में होगा।

सेंट्रल व स्टेट का बराबर शेयर

कानपुर में आईआईटी से नौबस्ता और सीएसए से बर्रा-8 तक मेट्रो दौड़ाने का प्रोजेक्ट सेंट्रल गवर्नमेंट पास कर चुका है। सेंट्रल गवर्नमेंट से पास डीपीआर के मुताबिक इस प्रोजेक्ट पर 10,927 करोड़ रुपए खर्च होंगे। इसमें से 20-20 परसेंट धनराशि सेंट्रल व स्टेट गवर्नमेंट को देनी होगी। जो कि लगभग 1976-1976 करोड़ है।

3.54 परसेंट शेयर लोकल बॉडीज का

सेंट्रल व स्टेट गवर्नमेंट की तरह लोकल बॉडीज को भी इस प्रोजेक्ट पर धनराशि लगानी होगी। सेंट्रल गवर्नमेंट से पास डीपीआर के मुताबिक 3.54 परसेंट शेयर लोकल बॉडीज का होगा। जो कि लगभग 350 करोड़ रुपए का होगा।

ये विभाग हो सकते शामिल

डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट के मुताबिक लोकल बॉडीज को इस प्रोजेक्ट के लिए 350 करोड़ रुपए देने होंगे। पर लोकल बॉडीज में सिटी के किस-किस डिपार्टमेंट को शामिल किया गया है? यह स्पष्ट नहीं है। कानपुर में मेट्रो दौड़ाने की जिम्मेदारी संभाल रहे लखनऊ मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन के ऑफिसर्स के मुताबिक लोकल बॉडीज में नगर निगम, केडीए, आवास विकास परिषद, यूपीएसआईडीसी आदि को शामिल किया जा सकता है। इस पर ट्यूजडे को चीफ सेक्रेटरी अनूप चन्द्र पाण्डेय की अध्यक्षता में होने वाली कानपुर मेट्रो की मीटिंग में फैसला लिया जाएगा।

किस डिपार्टमेंट का कितना हिस्सा

इस मीटिंग में इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट, फाइनेंस, अरबन डेवलपमेंट, पीडब्ल्यूडी सहित लगभग 12 डिपार्टमेंट के अपर मुख्य सचिव व प्रमुख सचिव शामिल होंगे। इसके अलावा कमिश्नर सुभाष चन्द्र शर्मा, डीएम विजय विश्वास पन्त, केडीए वीसी किंजल सिंह, म्यूनिसिपल कमिश्नर संतोष कुमार शर्मा आदि ऑफिसर्स को भी बुलाया गया है। इसी मीटिंग में तय होगा कि लोकल बॉडीज में शामिल किस-किस डिपार्टमेंट को कितनी-कितनी धनराशि कानपुर मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए देनी होगी।

बॉक्स

5580 करोड़ का सॉफ्टलोन

सेंट्रल, स्टेट व लोकल बॉडीज के अलावा कानपुर मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए सॉफ्टलोन के जरिए भी फंड कलेक्ट किया जाएगा। यह धनराशि 5580 करोड़ की होगी। जो कि प्रोजेक्ट कॉस्ट का तकरीबन 56.45 परसेंट शेयर होगा। एलएमआरसी ऑफिसर्स के मुताबिक सॉफ्टलोन के लिए पहले यूरोपियन इंवेस्ट बैंक ((EIB), जापान इंटरनेशनल कोआपरेशन एजेंसी ((JICA) आ चुकी हैं। पर उस समय प्रोजेक्ट सेंट्रल गवर्नमेंट से पास नहीं हुआ था। अब सेंट्रल गवर्नमेंट से प्रोजेक्ट पास हो चुका है। इसके साथ ही कानपुर मेट्रो प्रोजेक्ट में सेंट्रल गवर्नमेंट का 20 परसेंट शेयर भी है।

फंडिंग पैटर्न

पर्टीकुलर्स - शेयर

इक्विटी ऑफ सेंट्रल गवर्नमेंट- 20 परसेंट

इक्विटी ऑफ स्टेट गवर्नमेंट - 20 परसेंट

कन्ट्रीब्यूशन बॉय लोकल बॉडीज- 3.54 परसेंट

सॉफ्टलोन फ्रॉम फंडिंग एजेंसीज-56.46 परसेंट


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.