मेट्रो प्रोजेक्ट को मिलेगी स्पीड

2019-07-06T06:00:27Z

KANPUR: सेंट्रल गवर्नमेंट से कानपुर मेट्रो प्रोजेक्ट पास होने के बाद अब काम शुरू करने की तैयारी होने लगी है। 676 करोड़ के टेंडर भी किए जा चुके हैं, पर अभी तक सेंट्रल गवर्नमेंट से ग्रांट नहीं मिली है। फ्राईडे को पेश किए गए जनरल बजट में सेंट्रल गवर्नमेंट ने 300 किलोमीटर मेट्रो दौड़ाने का वादा किया है। जाहिर है इससे कानपुर मेट्रो प्रोजेक्ट को भी सेंट्रल गवर्नमेंट से उसका शेयर मिलेगा। इससे मेट्रो प्रोजेक्ट की रफ्तार तेज होगी।

20 परसेंट धनराशि सेंट्रल गवनर्मेंट देगी

कानपुर में आईआईटी से नौबस्ता और सीएसए से बर्रा-8 तक करीब 32 किलोमीटर मेट्रो चलनी है। इस प्रोजेक्ट पर 11106 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है। सेंट्रल गवर्नमेंट से पास डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट के मुताबिक इसमें 20 परसेंट धनराशि सेंट्रल गवर्नमेंट देगी। एलएमआरसी ऑफिसर्स के मुताबिक लगभग 2200-2200 करोड़ रुपए सेंट्रल व स्टेट गवर्नमेंट से मिलने हैं, पर अभी तक स्टेट गवर्नमेंट ने केवल 50 करोड़ का प्रावधान किया है। जबकि पहले ही पॉलीटेक्निक में मेट्रो यार्ड और पहले कॉरिडोर की डिटेल्ड डिजायन के लिए करीब 65 करोड़ के टेंडर हो चुके हैं इसलिए मेट्रो प्रोजेक्ट में तेजी लाने के लिए सेंट्रल व स्टेट गवर्नमेंट का शेयर मिलना जरूरी है।

फंडिंग पैटर्न

प्रोजेक्ट कास्ट-- 11106 करोड़

सेंट्रल गवर्नमेंट-- 20 परसेंट

स्टेट गवर्नमेंट--20 परसेंट

लोकल बॉडीज-- 2.17 परसेंट

सॉफ्ट लोन-- 57.83 परसेंट


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.