फिर छा गए कानपुर वाले

2018-05-31T14:00:56Z

-यूपीएसईई और पॉलीटेक्निक ज्वाइंट एंट्रेस एग्जाम के नतीजों में कानपुर के होनहारों का दबदबा

- बीटेक में नोयडा के आदित्य सिंह बने टॉपर जबकि पॉलीटेक्निक में चमके इलाहाबाद के सूरज

यन्हृक्कक्त्र: यूपी एंट्रेंस एग्जाम और पॉलीटेक्निक संयुक्त प्रवेश परीक्षा के नतीजे बुधवार को जारी कर दिए गए। जिसमें टॉप रैंकर्स में कानपुर के मेधावियों का दबदबा रहा। यूपीएसईई में गौतम बुद्ध नगर के आदित्य सिंह ने बीटेक में पहला स्थान हासिल किया। जबकि पॉलीटेक्निक में इलाहाबाद के सूरज ने टॉप किया।

आईआईटी से बीटेक करना है सपना

यूपीएसईई 2018 में स्टेट में 10वीं रैंक हासिल करने वाले उत्कर्ष गुप्ता शुरू से ही मेधावी रहे हैं। उनका टारगेट आईआईटी से कंप्यूटर साइंस में बीटेक करना है। इसके लिए उसे जेईई एडवांस्ड के रिजल्ट का बेसब्री से इंतजार है। बिरहाना रोड निवासी ड्राईफ्रूट के बिजनेसमैन आरके गुप्ता के बेटे उत्कर्ष ने बताया कि वह प्रवेश परीक्षा के लिए करीब 8 घंटे सेल्फ स्टडी करता है। पढ़ाई से बोर होने लगे तो फ्रेश होने के लिए मोबाइल पर गेम खेल लेता हूं। मां डॉ। मंजरी बेटे की हर सुविधा का ख्याल रखती हैं। शहर में बढ़ते पॉल्यूशन और गंदगी से उत्कर्ष नाराज हैं। उनका मानना है कि जब तक शहर के लोग इस ओर अपनी जिम्मेदारी नहीं समझेंगे तब तक सिटी को साथ सुथरा नहीं रखा जा सकता है।

टॉप 10 में आने की उम्मीद नहीं थी

यूपीएसईई 2018 के नतीजों में बीएनएसडी शिक्षा निकेतन इंटर कॉलेज के निश्चल तिवारी ने स्टेट में छठी रैंक लाकर स्कूल के साथ-साथ फैमली का नाम रोशन किया है। हालांकि इस मेधावी की प्रॉयोरिटी आईआईटी में एडमिशन लेना है। जेईई मेंन में निश्चल की 1855 रैंक हैं। निश्चल ने बताया कि यूपीएसईई परीक्षा के बाद उसे यकीन था कि टॉप 100 में जगह मिलेगी लेकिन लेकिन टॉप टेन में आने की उम्मीद नहीं थी। लालबंगला के रहने वाले अरुण कुमार त्रिपाठी व शशि प्रभा के बेटे निश्चल ने 89 परसेंट मा‌र्क्स के इंटरमीडियट की परीक्षा पास की है। वह आईआईटी से इंजीनियरिंग इन फिजिक्स की डिग्री लेना चाहता है।

जितना पढ़ो लगने के साथ पढ़ो

यूपीएसईई के एमसीए एंट्रेंस में प्रदेश में दूसरी रैंक हासिल करने वाले मेरीटोरियस शिवम तिवारी की प्रॉयरिटी एनआईटीज में एडमिशन लेना है। अगर निमसेट में सफलता नहीं मिली तो फिर यूपी के कॉलेजों का रुख करेंगे। गुमटी नंबर 5 के रहने वाले प्रिंटिंग प्रेस मैकेनिक अशोक तिवारी के बड़े बेटे सीएसजेएमयू से बीसीए की डिग्री ले चुके हैं। शिवम अपनी सफलता का श्रेय मां मंजू तिवारी व पिता के साथ साथ गुरुजनों को देता है। रिजल्ट देखने के बाद सफलता की खुशी सबसे पहले शिवम ने पेरेंट्स के साथ-साथ फ्रेंड्स से शेयर की। शिवम कहते हैं जितना पढ़ो लगने के साथ पढ़ो। जब पढ़ाई से ऊब जाता हूं तो कार्टून चैनल देखता हूं।

पहले प्रयास में ही छुआ सफलता का शिखर

पॉलीटेक्निक सयुंक्त प्रवेश परीक्षा ग्रुप ए में स्टेट लेवल पर सेकेंड रैंक पाने वाले सिटी के मो। दानिश ने पहले ही प्रयास में यह कामयाबी हासिल की है। दानिश ने बताया कि पेपर अच्छा हुआ था लेकिन इस रैंक की उम्मीद उसे नहीं थी। दानिश का अगला टारगेट इलेक्ट्रिकल में डिप्लोमा लेकर गवर्नमेंट जॉब करने का है। वह कानपुर की पॉलीटेक्निक में एडमिशन लेगा। सुजातगंज के रहने वाले खरादी का काम करने वाले सरफराज अहमद के बेटे मो दानिश ने बताया कि उसने 4 घंटे की रोजाना मेहनत से ही यह सफलता अर्जित की है। इंटर की परीक्षा में भी इस मेधावी ने 87.4 परसेंट मा‌र्क्स हासिल किए हैं। बेटे की सफलता पर मां अख्तरी बेगम को नाज है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.