पुलिस बनकर आते हैं ये लुटेरे

2013-03-13T22:15:05Z

Patna आप अपार्टमेंट में कितने सेफ हैं यह सोचने का समय आ गया है किडनैपर्स अपार्टमेंट में आराम से घुसकर अपनी चाल में कामयाब हो रहे हैं पिछले कुछ दिनों में दो ऐसे मामले आए हैं जिसमें खुलेआम हथियारों के साथ घुसकर क्रिमिनल्स ने किडनैपिंग की वारदात को अंजाम दिया है

25 लाख रुपए की फिरौती
एक सनसनीखेज मामले में क्रिमिनल्स ने एक कांटै्रक्टर को किडनैप कर लिया और उसे भोजपुर लेकर चले गए. घरवालों से 25 लाख रुपए की फिरौती मांगी. हालांकि विक्टिम शेखर कुमार सिंह को मुक्त करा लिया गया है और पांच क्रिमिनल्स अरेस्ट कर लिए गए.


9 मार्च को 3 बजे
बुद्धा कॉलोनी थाना के बोरिंग कैनाल रोड स्थित शिवम् इंदिरा अपार्टमेंट के फ्लैट नम्बर 403 में रहने वाले कांट्रैक्टर शेखर कुमार सिंह के फ्लैट में 9 मार्च को चार-पांच की संख्या में लोग घुस गए थे. हथियार से लैस वे लोग खुद को सीबीआई का ऑफिसर बताया और शेखर की जमकर पिटाई की. उसे घसीटते हुए नीचे अपार्टमेंट से बाहर ले गए और एक बोलेरो गाड़ी (बीआर1पीबी-3037) में बैठाकर चलते बने.

आरा में बदल दी गाड़ी
शेखर ने बताया कि उसे आरा तक तो बोलेरो में ले गए, उसके बाद गाड़ी बदल दी. उसे बाद में सवारी गाड़ी में नीचे कंबल से ढंककर उदवंत नगर भोजपुर ले गए. वहां एक मकान के कमरे में बंद रखा और जमकर पिटते रहे. फिर शेखर के मित्र संजय सिंह के नम्बर पर कॉल कर 25 लाख रुपए की फिरौती मांगी. संजय ने शेखर के घरवालों को इसकी इंफॉरमेशन दी, जिसके बाद शेखर के भाई मंजीत ने 12 मार्च को बुद्धा कॉलोनी थाने में एफआईआर दर्ज करवाई. इसके बाद पुलिस ने इंवेस्टिेशन शुरू किया और उस गाड़ी को बरामद कर लिया, जिससे किडनैपिंग की गई थी.

एसके एमके पास मिली बोलेरो
किडनैपिंग जिस गाड़ी से की गई थी, उसे पुलिस ने श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल के पास मिली. उसे ड्राइवर बबलू पासवान को गिरफ्तार किया गया. उसकी निशानदेही पर टीम ने खरवनी, उदवंत नगर भोजपुर में रेड की. यहां से शेखर को मुक्त करा लिया गया, साथ ही धनजीत, राहुल पासवान, उपेन्द्र और राजू रंजन को अरेस्ट कर लिया गया.

नौकरी के नाम पर रुपए का लेन-देन
वैसे इस किडनैपिंग के पीछे की सच्चाई कुछ और ही है. किडनैपिंग केस में पकड़े गए लोगों ने बताया कि रेलवे में नौकरी के नाम पर करीब 20 लोगों से शेखर ने लाखों रुपए ले रखे थे और लौटा नहीं रहा था, जबकि शेखर इससे इंकार कर रहा है. शेखर बैजानी, जगदीशपुर थाना भागलपुर का रहने वाला है. सिटी एसपी जयंत कांत ने बताया कि इंफॉरमेशन मिलते ही पुलिस ने कार्रवाई की और 24 घंटे के अंदर किडनैप्ड शेखर को मुक्त करा लिया गया.
Arrested
1. धनजीत कुमार, खरौनी, उदवंत नगर, भोजपुर
2. बाबुल कुमार उर्फ राहुल पासवान, कटैयां, बिहियां भोजपुर
3. उपेन्द्र कुमार, नहसी, ग्रहणी थाना, भोजपुर
4. राजीव रंजन सिंह, नहसी, ग्रहणी थाना, भोजपुर
5. बबलू पासवान, कमला नेहरू नगर, कोतवाली थाना पटना


Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.