कीर्तन गायन कर संगत को निहाल किया

2019-02-10T06:00:46Z

छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: अमृतसर से आए कीर्तनी जत्थे ने कीर्तन गायन कर संगत को निहाल कर दिया। शनिवार को शहीद बाबा दीप सिंह जी के शहीदी दिवस पर धार्मिक समागम का पहला दिन था। आयोजन सीतारामडेरा गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की ओर से किया जा रहा है। तीन दिनों से चले अखंड पाठ की समाप्ति शनिवार की सुबह हुई। पाठ की समाप्ति के उपरांत सीतारामडेरा गुरुद्वारा से सीतारामडेरा कम्युनिटी सेंटर में बने पंडाल तक शोभा यात्रा निकाली गई। शनिवार की सुबह धार्मिक समागम में जालंधर से आए भाई सतनाम सिंह जी, दरबार साहिब अमृतसर से हजुरी रागी जत्था भाई ओंकार सिंह जी द्वारा कीर्तन गाकर कर संगत को निहाल किया गया। वहीं चंडागढ़ से आई प्रचारक बीबी गगनदीप कौर जी ने बाबा दीप सिंह जी की जीवनी पर प्रकाश डाला।

कीर्तन दरबार का आयोजन

सुबह से लेकर दोपहर तक कीर्तन गाया गया। जिसके उपरांत गुरु का अटूट लंगर संगत के बीच बांटा गया। वहीं शाम को पुन: सात बजे से कीर्तन दरबार का आयोजन किया गया। समागम में सैकड़ों संगत सुबह व शाम तक कीर्तन सुनते रहे। इसमें झारखंड अल्पसंख्यक आयोग के उपाध्यक्ष गुरदेव सिंह राजा, भाजपा महानगर अध्यक्ष दिनेश कुमार, डॉ। राजेंद्र सिंह, सुखराम सिंह, सुखजीत कौर, कमलजीत कौर, रविंदर कौर को शाल देकर सम्मानित किया गया। वहीं झारखंड प्रदेश गुरुद्वारा कमेटी के प्रधान शैलेंद्र सिंह, विधायक प्रतिनिधि पवन अग्रवाल भी मत्था टेकने पहुंचे थे। धार्मिक समागम का संचालन परमजीत सिंह काले ने किया। इस कार्यक्रम को सफल बनाने में बलवीर सिंह, सुरजीत सिंह, गुरपाल सिंह, सुखविंदर सिंह, अमरजीत सिंह, मनमीत सिंह सहित संगत का सहयोग रहा।

की गई है बिजली की सजावट

शहीदी दिवस के मौके पर सीतारामडेरा गुरुद्वारा व आस पास के क्षेत्र में विद्युत सज्जा की गई थी। वहीं कीर्तन सुनने आई संगत के लिए जूता रखने के लिए अलग से व्यवस्था की गई थी। सीतारामडेरा गुरुद्वारा में रविवार की दोपहर दो बजे अकाली दल के द्वारा संगत को अमृतसंचार कराया जाएगा।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.