सिपाही से पहले पहुंचे कुंभ के 'कुक'

2018-10-22T06:00:16Z

- हेड कांस्टेबल और कांस्टेबल के आमद की रफ्तार है धीमी

- प्रथम चरण के कुक, रेडियो ऑपरेटर, निरीक्षक व एसआई की भी स्ट्रेंथ हुई पूरी

- 10 अक्टूबर तक सभी को पहुंचना था प्रयागराज

PRAYAGRAJ:

कुंभ मेला 2019 के दौरान पुलिस विभाग के जिन जवानों के कंधों पर सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी है, उनकी प्रयागराज में आमद कराने की रफ्तार बहुत धीमी है। जिनकी वजह से ट्रेनिंग स्पीड नहीं पकड़ पा रही है। वहीं कांस्टेबल और हेड कांस्टेबल को पीछे छोड़ते हुए पुलिस थानों के कुक ने अपनी जिम्मेदारी संभाल ली है। रेडियो आपरेटर भी अपनी जिम्मेदारी समझते हुए मेला क्षेत्र में पहुंच चुके हैं। फ‌र्स्ट फेज की ट्रेनिंग के लिए कांस्टेबल व हेड कांस्टेबल की आमद पूरी न होने पर संबंधित जिलों के अधिकारियों को लेटर भेजा गया है। जिसमें जवानों की जल्द से जल्द आमद कराने को कहा गया है।

ट्रेनिंग में तराशे जाने हैं जेंटल

कुंभ मेला 2019 के दौरान करीब दस हजार पुलिस कर्मी पूरे मेला क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी संभालेंगे। जिसके लिए प्रदेश के सभी जिलों से पुलिस कर्मियों की ड्यूटी प्रयागराज में लगाई गई है। लेकिन ड्यूटी से पहले सभी पुलिस कर्मियों को फेज बाई फेज ट्रेनिंग भी दी जानी है।

फ‌र्स्ट फेज की ट्रेनिंग के लिए पुलिस कर्मियों को 10 अक्टूबर तक प्रयागराज पहुंचना था। लेकिन 21 अक्टूबर तक फ‌र्स्ट फेज के लिए निर्धारित सभी पुलिस कर्मी अभी तक प्रयागराज नहीं पहुंच सके हैं। जिसकी वजह से ट्रेनिंग में देरी होने की आशंका जताई जा रही है। जो पुलिस कर्मी पहुंच गए हैं, परेड ग्राउंड में बनी पुलिस लाइंस में उनकी ट्रेनिंग शुरू हो गई है। ट्रेनिंग दे रहे अधिकारी उन्हें मेला का नियम व कायदा बताने में जुटे हुए हैं। यह भी समझाया जा रहा है कि ड्यूटी के दौरान वे किसी से पुलिसिया रौब में बात न करें। मेला धार्मिक है, लिहाजा सभी श्रद्धालुओं से प्रेम पूर्वक बात करते हुए उनकी समस्या का समाधान स्वयं कराएं। भीड़ बढ़ने की स्थिति में किसी को डांटने के बजाय उन्हें शालीनता पूर्वक समझा कर आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करें। सख्त इंस्ट्रक्शन दिए जा रहे हैं कि कोई भी पुलिस कर्मी किसी भी श्रद्धालु या संत महात्मा से कटु शब्दों में बात नहीं करेगा।

इन्होंने दिखाई तत्परता

5 निरीक्षक करा चुके हैं अपनी आमद

29 कुक को पहुंचना था, जो पहुंच चुके हैं।

50 रेडियो ऑपरेटरों को आना था जो करा चुके हैं अपनी आमद

04 निरीक्षक 45 एसआई भी करा चुके हैं आमद

प्रथम चरण में आने वाले निरीक्षक, कुक, रेडियो आपरेटर व एसआई की स्ट्रेंथ पूरी हो चुकी है। हेड कांस्टेबल व कांस्टेबल के आने का क्रम जारी है। इनकी आमद की गति धीमी देख अधिकारियों को लेटर भेजा गया है, जो पहुंच गए हैं उन्हें ट्रेनिंग दी जा रही है।

कवीन्द्र प्रताप सिंह, पुलिस उप महानिरीक्षक कुंभ

फैक्ट फाइल

580

कांस्टेबलों को प्रथम चरण में कराना है आमद

341

कांस्टेबल ही प्रथम चरण में अभी तक करा सके हैं अपनी आमद

45

हेड कांस्टेबल को यहां आमद कराना है प्रथम चरण में

25

हेड कांस्टेबल ही पहुंच सके हैं प्रथम चरण में अभी तक

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.