2021 महाकुंभ की फुलप्रूफ प्लानिंग शुरु

2019-06-14T10:26:29Z

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने थर्सडे को सचिवालय में नगर विकास मंत्री मदन कौशिक के साथ 2021 में हरिद्वार में होने वाले महाकुंभ की तैयारियों की समीक्षा की

dehradun@inext.co.in
DEHRADUN: मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने थर्सडे को सचिवालय में नगर विकास मंत्री मदन कौशिक के साथ 2021 में हरिद्वार में होने वाले महाकुंभ की तैयारियों की समीक्षा की. सीएम ने कहा कि कुंभ के कायरें में तेजी लाने के लिए जल्द ही स्थाई मेला अधिकारी व मेला पुलिस अधिकारी की नियुक्ति की जायेगी. कुंभ में होने वाले स्थाई कायरें की जल्द परमिशन दी जायेगी. कहा, अक्टूबर 2020 तक स्थाई प्रकृति के सभी कार्य पूर्ण कर लिये जाएं. कायरें की क्वालिटी व ट्रांसपेरेंसी का पूरा ध्यान रखा जाए.

लोगों के सुझाव किए जाएं आमंत्रित
समीक्षा बैठक में सीएम ने महाकुंभ को सुविधाजनक बनाने व भीड़ प्रबंधन में सहयोग के लिए मॉडर्न टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल पर विशेष ध्यान दिए जाने के निर्देश दिए. बुजुर्ग श्रद्धालुओं के लिए सुविधाओं का विशेष ध्यान रखने के भी उन्होंने निर्देश दिए. कहा, हरिद्वार महाकुम्भ के लिए लोगो (प्रतीक चिन्ह) व स्लोगन के लिए जनता के सुझाव आमंत्रित किये जाएं. इसके लिए प्राइज मनी का प्राविधान भी किया जाए. कुंभ क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधा, पेयजल, टॉयलेट, सफाई आदि की व्यवस्था के लिए सुनियोजित प्लानिंग करने के लिए कहा गया है. बैठक में एसीएस ओम प्रकाश, प्रमुख सचिव आनंद व‌र्द्धन आदि अधिकारी मौजूद रहे.

स्पेशल कमेटी करेगी निगरानी
सीएम ने कहा कि कायरें की निरंतर निगरानी के लिए हायर लेवल कमेटी का गठन होगा. कुंभ के दौरान हरिद्वार में भीड़ मैनेजमेंट कैसे हो, इसके लिए डीएम, पुलिस के अधिकारी व रेलवे अधिकारी आपस में कॉर्डिनेट करेंगे. सीएम ने कहा कि बैरागी कैंप व अन्य पार्किंग स्थलों पर अतिक्रमण न हो, इसका विशेष ध्यान रखा जाए. स्पेशल प्रकृति के कायरें को ि1प्ररिऑरिटी दी जाए.

20 हजार से ज्यादा सुरक्षाकर्मी होंगे तैनात
शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि मेला क्षेत्र में स्नान घाटों का विस्तार करना अति आवश्यक है. जटवाड़ा पुल से हरकी पैड़ी तक घाटों का विस्तार करना जरूरी है. हिल बाईपास को खोले रखने के लिए प्रयासों के अलावा मेडिकल कैंप के लिए पहले से ही जगह का चयन करना जरूरी होगा. डीजीपी अनिल रतूड़ी ने बताया कुंभ मेले में 20 हजार से अधिक सुरक्षा कर्मियों की तैनाती की जायेगी.

- आग व भगदड़ की घटनाओं को रोकने को बनेगी स्पेशल योजना.

- स्नान के लिए श्रद्धालुओं के आने व जाने के रूट्स की भी होगा प्लानिंग.

- कुंभ के दौरान भीड़ मैनेजमेंट के लिए हरिद्वार में रेलवे का 27 किमी डबल ट्रैक बनाया जाएगा.

- इसमें 17 किमी कार्य हो चुका है पूरा.

Posted By: Ravi Pal

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.