Kushinagar International Airport : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज बुधवार को कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का उद्घाटन किया। इस दाैरान समारोह में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और अन्य कई बड़े नेता भी मौजूद रहे।


कुशीनगर (एएनआई)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को उत्तर प्रदेश में कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का उद्घाटन किया। इस दाैरान प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि भारत विश्व भर के बौद्ध समाज की श्रद्धा, आस्था और प्रेरणा का केंद्र है। आज कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की ये सुविधा एक प्रकार से उनकी श्रद्धा को अर्पित पुष्पांजलि है। कुशीनगर का विकास उत्तर प्रदेश और केंद्र सरकार की प्राथमिकताओं में है। भगवान बुद्ध से जुड़े स्थानों को विकसित करने के लिए, बेहतर कनेक्टिविटी के लिए, श्रद्धालुओं की सुविधाओं के निर्माण पर भारत द्वारा आज विशेष ध्यान दिया जा रहा है। जून 2020 में इस हवाई अड्डे को मिली थी मंजूरी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह भी कहा कि उड़ान योजना के तहत बीते कुछ सालों में 900 से अधिक नए रूट्स को स्वीकृति दी जा चुकी है। इनमें से 350 से अधिक पर हवाई सेवा शुरू भी हो चुकी है। 50 से अधिक नए एयरपोर्ट या जो पहले सेवा में नहीं थे उन्हें चालू किया जा चुका है। प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने जून 2020 में उत्तर प्रदेश के कुशीनगर हवाई अड्डे को अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के रूप में घोषित करने के लिए अपनी मंजूरी दे दी।कुशीनगर हवाई अड्डा सांस्कृतिक स्थलों से घिरा


कुशीनगर हवाई अड्डा कई बौद्ध सांस्कृतिक स्थलों जैसे श्रावस्ती, कपिलवस्तु, लुंबिनी के आसपास स्थित है और "अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे" के रूप में घोषणा हवाई यात्रियों को बेहतर कनेक्टिविटी, प्रतिस्पर्धी लागत का व्यापक विकल्प प्रदान करेगी। इससे घरेलू/अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन और क्षेत्रों के आर्थिक विकास को बढ़ावा मिलेगा। कुशीनगर उत्तर प्रदेश के उत्तर-पूर्वी भाग में गोरखपुर से लगभग 50 किलोमीटर पूर्व में स्थित है और महत्वपूर्ण बौद्ध तीर्थ स्थलों में से एक है।260 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से बना कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे का निर्माण करीब 260 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से किया गया है। यह घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय तीर्थयात्रियों को भगवान बुद्ध के महापरिनिर्वाण स्थल पर जाने की सुविधा प्रदान करेगा और यह दुनिया भर के बौद्ध तीर्थस्थलों को जोड़ने का एक प्रयास है। कुशीनगर हवाई अड्डा उत्तर प्रदेश और बिहार के आस-पास के जिलों की सेवा करेगा और इस क्षेत्र में निवेश और रोजगार के अवसरों को बढ़ावा देने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है।

Posted By: Shweta Mishra