मीठी गोलियां देंगी नेताजी को जोश

2014-04-19T07:00:01Z

- चुनावी सफर में हमसफर बनी होम्योपैथी

- चुनावी सफर में मदद कर सकती है होम्योपैथी

- नेताजी को होने लगी, नींद न आने, गला बैठने सहित अन्य समस्याएं

LUCKNOW: चुनाव, चुनाव और चुनाव। नेताओं में होड़ मची है ज्यादा से ज्यादा वोटर्स को अपने पाले में लाने की। हर नेता किसी न किसी प्रकार चुनाव जीतकर लोकसभा में पहुंचकर सांसद बनना चाहता है। नेताजी हों या कार्यकर्ता सभी दौड़-भाग कर रहे हैं। ऐसे में कइयों की नींद नहीं पूरी हो पा रही है तो कोई भाषण देते-देते थक गया है। ऐसे में उनके लिए होम्योपैथ की दवाएं एक संबल बन रही हैं। तभी तो कई नेता होम्योपैथी डॉक्टर्स की मदद लेकर अपनी टफ दिनचर्या को आसान बना रहे हैं।

और बैठ गया गला

नींद गायब होने और वोटर्स लगभग नेताजी अपनी इन परेशानियों के लिए डॉक्टर्स से सलाह भी ले रहे हैं। होम्योपैथी विशेषज्ञों के अनुसार होम्योपैथी में नेताजी की इन समस्याओं का तात्कालिक असर के साथ सही इलाज मौजूद है। केंद्रीय होम्योपैथी परिषद के सदस्य डॉ। अनुरुद्ध वर्मा ने बताया कि चुनाव के ज्यादा बोलने के कारण गला बैठने की समस्या हो रही है। इसके अलावा मंच पर खड़े होते ही हाथ-पांव कांपने लगने, आत्मविश्वास बिगड़ने की स्थितियां भी सामने आती हैं। ऐसे में इन नेताओं के लिए होम्योपैथी की मीठी गोलियां लेनी चाहिए और फिर जनता को खूब समझाएं।

पांच बूंद में साफ होगा गला

भाषण से दो घंटे पहले कोका क्यू की पांच-पांच बूंद आधे-आधे घंटे में लेने से गला साफ हो जायेगा तथा आवाज पूरी तरह खुल जायेगी। अधिक बोलने से स्वर यंत्र की कार्यशक्ति कम हो जाती है और कई बार बोलते समय स्वर भंग हो जाता है, ऐसे में ओरम ट्रिफाइलम फ्0 की कुछ खुराकें आवाज को ठीक कर सकती हैं। बोलने के दौरान आवाज फंसने लगे तो अर्जेट मेट फ्0 की कुछ खुराक आवाज को ठीक कर देती हैं भाषण के बाद आवाज भारी हो जाए तो कास्टिकम फ्0 लेने से लाभ मिलता है।

बनाता है चिड़चिड़ा

चुनाव के दौरान किसी भी प्रत्याशी को वोटर्स का गुणा-भाग बहुत सताता है। इस कारण प्रत्याशी में चिड़चिड़ापन, घबराहट, बेचैनी और आत्मविश्वास में कमी की शिकायत सताने लगती है। यदि ऐसा होता है तो अर्जेटम नाइट्रिकम की कुछ खुराक लेने से इन परेशानियों से छुटकारा मिल सकता है। आत्मविश्वास की कमी हो तो लाइकोपोडियम की कुछ खुराक प्रत्याशी को चिन्तामुक्त कर सकती है। चुनाव के दौरान नेताजी की नींद उड़ जाती है जिससे वह दिन में आलस्य से ग्रसित रहते हैं बात करते-करते सो जाते हैं इससे बचने को नेताजी को पूरी नींद लेनी चाहिए। नींद न आने पर काली फस म् एक्स दवा कारगर साबित हो सकती है। नींद के लिऐ एलोपैथिक दवाएं नहीं प्रयोग करें क्योंकि व्यक्ति इन दवाओं का आदी हो जाता है।

दिनभर की भागदौड़ में सुस्ती से बचने के लिए ऐवेना सटाइवा क्यू की फ्0 बूंद ले लें। यह थकान को दूर कर देंगी। शरीर में दर्द हो तो रसटाक्स फ्0 और आर्निका फ्0 की कुछ खुराक लें। आपका दर्द कुछ ही देर में छूमंतर हो जाएगा। गर्मी के मौसम में खूब पानी पिए हल्का-फुल्का भोजन लें। दिनभर भाषण, बहस, माथा-पच्ची, चिक-चिक एवं मतदाताओं को समझाने में थकान आ जाती है ऐसे में ऐसिड फांस फ्0 फेरम फास म् एक्स औषधि के प्रयोग से आप का दिमाग तरो-ताजा हो जाएगा। होम्योपैथिक दवाएं पूरी तरह से सेफ हैं।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.