वीसी के विरोध में सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस को लिखा पत्र

2018-09-29T04:00:36Z

-एसएस खन्ना कॉलेज में कुलपति द्वारा दामोदरश्री की अध्यक्षता का विरोध

ALLAHABAD: इविवि छात्रसंघ की पूर्व अध्यक्ष एवं सपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता ऋचा सिंह ने विवि कुलपति प्रो। रतन लाल हांगलू द्वारा आगामी 02 अक्टूबर को एसएस खन्ना डिग्री कॉलेज में आयोजित दोमोदरश्री कार्यक्रम में शिरकत करने का विरोध किया है। इस कार्यक्रम में ऑर्गनाइजिंग कमेटी की ओर से कुलपति प्रो। रतन लाल को समारोह की अध्यक्षता के लिए बुलाया गया है। इसकी जानकारी कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ। लालिमा सिंह द्वारा दी गई है। ऋचा का कहना है कि एक ओर कुलपति कहते हैं कि वह विवि में प्रवेश नहीं करेंगे। वह विवि के स्थापना दिवस समारोह में भी नहीं आए तो कॉलेज के प्रोग्राम में कैसे शिरकत कर रहे हैं ? कॉलेज में ऑर्गनाइजिंग कमेटी के चेयरमैन जस्टिस अरुण टंडन हैं।

मंत्रालय दे रहा संरक्षण

इसके विरोध में ऋचा ने सुप्रीम कोर्ट और इलाहाबाद हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस को पत्र लिखा है। इसमें ऋचा ने कानून का माखौल उड़ाने की बात इंगित की है। इसकी एक प्रति मानव संसाधन विकास मंत्रालय को भी भेजी गई है। जिसमें ऋचा ने मंत्रालय की चुप्पी पर सवाल उठाते हुए कार्यवाहक कुलपति द्वारा गठित जांच कमेटी का विरोध किया है। कहा कि मंत्रालय कुलपति को संरक्षण देने का काम कर रहा है। जिसके गंभीर परिणाम होंगे। उधर, कुलपति के कथित चैटिंग प्रकरण को लेकर छात्रनेताओं का क्रमिक अनशन छात्रसंघ भवन के सामने दूसरे दिन भी जारी रहा।

दूसरे दिन भी जारी रहा क्रमिक अनशन

क्रमिक अनशन में पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष दिनेश यादव ने कहा कि सरकार को कुलपति प्रकरण का संज्ञान लेकर तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए। छात्रनेता रजनीश सिंह रिशु ने कहा कि विवि की अस्मिता की रक्षा के लिए आगे आना होगा। इसमें विकास तिवारी, आदर्श चौधरी, अजय हेला, श्याम कृष्ण पांडेय, अमित सोनकर विवेकानन्द पाठक, अभिषेक यादव, यतेन्द्र सिंह, निर्भय द्विवेदी, विनोद सोनकर आदि शामिल रहे।

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.