आज देश के 13 वें उप राष्‍ट्रपति के लिए मतदान हो रहा है। इस पद के लिए विपक्ष की ओर से गोपाल कृष्‍ण गांधी और सत्‍ता पक्ष की ओर से वैंकयानायडू उम्‍मीदवार है। एनडीए के नायडू को उम्‍मीदवार घोषित करने की दो बतायी जा रही हैं। पहली तो ये कि कि उनको आरएसएस का सर्मथन प्राप्‍त है दूसरी उनकी दक्षिण भारतीय पृष्‍ठभूमि होना। वैसे भी इस पद पर दक्षिण भारतीयों का ही वर्चस्‍व रहा है। आइये जाने अब तक रहे उपराष्‍ट्रपतियों के नाम और उनके दक्षिण भारती कनेक्‍शन के बारे में।

अब तक बने उपराष्ट्रपतियों में कितने थे दक्षिण भारतीय
अब तक 12 लोग उपराष्ट्रपति के पद को सुशोभित कर चुके हैं। सर्वपल्ली राधाकृष्णन मई 13, 1952 से    मई 14, 1957 तक, जाकिर हुसैन मई 13, 1962  से मई 12, 1967 तक, वी वी गिरी मई 13, 1967 से मई 3, 1969 तक,      गोपाल स्वरूप पाठक अगस्त 31, 1969 से अगस्त 30, 1974 तक, बी डी जत्ती अगस्त 31, 1974 से अगस्त 30, 1979 तक, मोहम्मद हिदायतुल्ला अगस्त 31, 1979 से अगस्त 30, 1984 तक, रामस्वामी वेंकटरमण अगस्त 31, 1984 से जुलाई 27, 1987 तक,    शंकर दयाल शर्मा सितम्बर 3, 1987 से जुलाई 24, 1992 तक, के आर नारायणन अगस्त 21, 1992 से जुलाई 24, 1997 तक, कृष्णकांत अगस्त 21, 1997 से जुलाई 27, 2002 तक,  भैरो सिंह शेखावत अगस्त 19, 2002 से जुलाई 21, 2007 तक,     और हामिद अंसारी से अगस्त 11, 2007 अब तक। इन 12 उपराष्ट्रपति में से 6 दक्षिण भारत से आये थे।
आलीशान भवन और कड़ी सुरक्षा में रहते हैं राष्ट्रपति, पर बजट के मामले में उनसे 6 गुना आगे हैं उपराष्ट्रपति

2 ने दो बार संभाला कार्यकाल  
खास बात ये भी है कि इन बारह उपराष्ट्रपतियों में से सिर्फ दो ही ऐसे हैं जिनका कार्यकाल रिपीट हुए थो। पहले थे देश के पहले उपराष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णनन जो 1952 से लेकर 1962 तक इस पद पर रहे और दूसरे हैं वर्तमान उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी जिन्होंने 2007 में पद संभाला था और अब 2017 में वो रिटायर हो रहे हैं। एक और मजेदार तथ्य ये है कि इनमें आधे यानि छह उपराष्ट्रपति बाद में देश के राष्ट्रपति भी चुने गए।
वो आखिरी चिट्ठी जो पीएम मोदी ने प्रणब दा को लिखी

Interesting News inextlive from Interesting News Desk

Posted By: Molly Seth