लोकसभा चुनाव 2019 केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का कानपुर दौरा निशाने पर रहे विरोधी

2019-03-25T11:25:44Z

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कानपुर की काली मठिया चौराहे पर सभा में कांग्रेस और सपाबसपा गठबंधन पर साधा निशाना।

kanpur@inext.co.in
KANPUR : केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी संडे को शास्त्री नगर काली मठिया चौराहे पर सभा में पहुंची तो विरोधी पार्टियों पर जमकर निशाना साधा। कांग्रेस से लेकर सपा-बसपा गठबंधन उनके निशाने पर रहा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के हाथ ने देश की तिजोरी को साफ किया, कांग्रेस को अहसास है कि उसकी यहां दाल नहीं गलने वाली। बीजेपी सरकार की उपलब्धियां गिनाने के साथ उन्होंने कांग्रेसी नेताओं पर पाकिस्तान परस्त होने का भी आरोप लगाया। अमेठी के विकास को लेकर उन्होंने एक कहानी सुनाते हुए गांधी परिवार की चार पीढिय़ों को भी कठघरे में खड़ा किया।

जनसभा में घुसा सांड
काली मठिया चौराहे पर संडे शाम को हुई सभा में भारत माता की जय के नारों के साथ केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने जैसे ही अपना भाषण शुरू किया। एक सांड़ भीड़ में घुस आया। इस वजह से सभा में आए काफी लोगों को हल्की चोटें भी आई। यह देख स्मृति ईरानी ने मंच से ही लोगों की चोट के बारे में पूछा। जिसके बाद उनका भाषण आगे बढ़ा। सभा से पहले वहां मौजूद लोगों को पीएम नरेंद्र मोदी की एक चिटठी भी बांटी गई। मंच पर बीजेपी के प्रदेश महामंत्री अशोक कटारिया, कैबिनेट मंत्री सत्यदेव पचौरी, विधायक नीलिमा कटियार, पूर्व सांसद श्याम बिहारी मिश्रा, सुरेंद्र मैथानी, अनीता गुप्ता, सुरेश अवस्थी आदि रहे।
स्पीच के मेन प्वाइंट्स
- कांग्रेस ने किसानों के नाम पर धोखा दिया। हमने पहली बार किसान सम्मान योजना शुरू कर किसानों के खातों में सीधे 6 हजार रुपए की सहायता पहुंचाने का काम किया।
- कांग्रेस के हाथ ने भारत की तिजोरी को साफ किया,गांधी परिवार की 4 पीढिय़ां अमेठी ऊंचाहार के बीच ट्रेन नहीं दे सकी। यह काम गरीब परिवार के दो बेटों (पीएम मोदी और सीएम योगी) ने करके दिखाया।
- कांग्रेस के खिलाफ है जनता। कांग्रेसी नेता पाकिस्तान गए और मोदी को हटाने के लिए मदद मांगी कानपुर की धरती का एक एक नागरिक ऐसे गद्दारों को जवाब दे।
- अगर हाथी साइकिल पर बैठ कर आएगा तो साइकिल पंचर होगी ही, जिन्होंने भारत की सेना पर सवाल उठाया उन्हें वोट न दें।
- लक्ष्मी कभी साइकिल या हाथी पर नहीं आती। हमेशा कमल पर बैठ कर आती है।
- पीएम मोदी ने गरीब महिलाओं की दिक्कत को समझा और शौचालय, इज्जतघर बनवाए।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.