इलाहाबाद लोकसभा चुनाव 2019 वोटिंग में पिछड़ा प्रयागराज

2019-05-13T09:56:42Z

इलाहाबाद और फूलपुर में पोलिंग का ग्राफ 2014 से भी नीचे चला गया दोनों लोकसभा सीटों पर महज 50 98 फीसदी वोट पड़े

50.98

कुल मतदान

51.38

फूलपुर में मतदान

50.58

इलाहाबाद सीट पर वोटिंग

40.38

फीसदी मत ही पड़े शहर दक्षिणी विधान सभा में

61

फीसदी वोटिंग के साथ सोरांव विधानसभा अव्वल

4491886

कुल वोटर

2034498

महिला वोटर

2456901

पुरुष वोटर

487

थर्ड जेंडर

63480

नए मतदाता

4938

कुल बूथों की संख्या

2198

मतदान केंद्र

21722

कुल लगाए गए मतदान कर्मी

02

लोकसभा सीटों की संख्या

28

उम्मीदवार हैं दोनो सीटों पर

07

बजे सुबह शुरू हुई वोटिंग

06

बजे शाम तक डाले गये वोट

50.98 फीसदी वोट ही पड़े, पिछले लोकसभा चुनाव में 51.8 फीसदी लोगों ने किया था मताधिकार का प्रयोग

prayagraj@inext.co.in
PRAYAGRAJ:
तमाम जतन किये गये थे पोलिंग परसेंटेज बढ़ाने के लिए लेकिन वोटर्स ने इस पर रिस्पांस नहीं किया. नतीजा पोलिंग का ग्राफ 2014 से भी नीचे चला गया. दोनों लोकसभा सीटों पर महज 50.98 फीसदी वोट पड़े. राहत की बात यह रही कि चुनाव के दौरान छिटपुछ झड़प को छोड़कर कोई बड़ी घटना नहीं हुई. बड़ी संख्या में लोगों के नाम मतदाता सूची से गायब थे.

एक फीसदी गिरा पोलिंग परसेंटेज
2014 लोकसभा चुनाव में जिले की दोनों सीटों पर कुल 51.8 फीसदी मतदान हुआ था. निर्वाचन आयोग द्वारा रविवार शाम जारी आंकड़े के मुताबिक इस बार 50.98 फीसदी ही मतदान हुआ है. लोकल प्रशासन द्वारा दोनों सीटों पर 51.92 फीसदी वोटिंग का संभावित आंकड़ा जारी किया है. पोलिंग बूथों पर मतदान की रफ्तार सुबह से ही कमजोर थी. दिन में पारा 42 डिग्री सेल्सियस के आंकड़े को पार कर जाने के बाद बूथों पर सन्नाटा पसर गया.

कहीं बहिष्कार तो कहीं पथराव
वोटिंग के दौरान हल्की-फुल्की घटनाएं सामने आई. मऊआइमा के मदारीपुर में गठबंधन और भाजपा के समर्थकों के बीच ईट-पत्थर चले. फूलपुर में इंदिरा गांधी इंटर कॉलेज में गड़बड़ी का आरोप लगाकर मतदान रुकवा दिया गया. सोरांव के दयालपुर रेलवे स्टेशन बहाली की मांग पर ग्रामीणों ने वोटिंग का बहिष्कार किया. सोरांव के जगदीशपुर और रमईपुर में भी वोटिंग बहिष्कार का मामला सामने आया. सरायइनायत में सड़क बदहाली के विरोध में ग्रामीणों ने मतदान से इंकार कर दिया. प्रशासन के दखल के चलते दोपहर ढाई बजे मतदान शुरू हुआ.

नाम कटने की दिखी नाराजगी
वोटर लिस्ट से नाम गायब होने की शिकायत भी बड़ी थी. मजीदिया इस्लामिया, यादगारे हुसैनी, बच्चाजी धर्मशाला, तेलियरगंज, फाफामऊ, नैनी और शहर पश्चिमी के तमाम बूथों से लोगों के विरोध की खबरें आयीं. आईईआरटी, दौलत हुसैन इंटर कॉलेज समेत कई सेंटर्स पर ईवीएम के बंद होने के चलते मतदान प्रभावित हुआ. मजीदिया इस्लामिया कॉलेज में बीएलओ को कैंपस से बाहर किए जाने पर पब्लिक को समझाने खुद डीएम और एसएसपी पहुंचे.

मोबाइल लेकर जाना पड़ा महंगा
इस बार पोलिंग बूथों पर मोबाइल ले जाने की मनाही लोगों को भारी पड़ी. सेल्फी लेने के चक्कर में लोग मोबाइल लेकर मतदान केंद्र पहुंचे थे. उन्हें बाहर ही रोक दिया गया. यह बात लोगों को नागवार गुजरी. कई लोग मोबाइल साथ लेकर जाने से रोकने पर वोट दिये बिना ही लौट गये. इसे लेकर सुरक्षाकर्मियों से उनकी बहस भी हुई.

कम वोटिंग के पांच बड़े कारण

तापमान 44 डिग्री सेल्सियस के पार होना

मतदाता सूची से नाम गायब हो जाना

मोबाइल लेकर बूथ तक जाने से रोकना, उसे रखने की व्यवस्था न देना

रमजान का महीना होना

शहर के वोटर्स का घर से न निकलना

लोकसभा चुनाव 2014

कुल मतदान- 51.8

फूलपुर- 50.16

इलाहाबाद- 53.44


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.