Lok Sabha Election 2019 सोनिया गांधी ने रायबरेली और स्मृति ईरानी ने अमेठी से किया नामांकन

2019-04-11T17:55:51Z

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने रायबरेली लोकसभा सीट से अपना नामांकन किया है। वहीं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने उत्तर प्रदेश के अमेठी सीट से अपना पर्चा भरा है।

रायबरेली/अमेठी (आईएएनएस)। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के अमेठी से नामांकन के अगले ही दिन यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी रायबरेली से लोकसभा चुनाव 2019 के लिए अपना नामांकन दाखिल कर दिया है। बता दें कि पर्चा भरने से पहले सोनिया गांधी ने रायबरेली में एक रोड शो भी किया। इस दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, कांग्रेस  महासचिव प्रियंका गांधी, रोबर्ट वाड्रा और सोनिया गांधी के नाती रेहान और नातिन मिराया भी मौजूद रहे। उन्होंने हाथी चौक से कलेक्टोरेट के दफ्तर तक रोड शो किया।

रोड शो में शमिल होने के लिए सुबह पहुंचे राहुल
भुयेमऊ गेस्ट हाउस से सुबह 12.45 बजे निकलने के बाद सबसे पहले सोनिया ने मोहन सिंह नेत्रालय के पास हवन किया। बता दें कि रोड शो में शामिल होने के लिए राहुल सुबह ही रायबरेली पहुंच गए थे, जबकि उनकी बहन प्रियंका और उनका परिवार एक दिन पहले से ही सोनिया के साथ गेस्ट हाउस में रुका था। रोड शो के दौरान हजारों कांग्रेसी समर्थक और कार्यकर्ता उपस्थित थे। उन्होंने रोड शो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की। समर्थकों के पास कुछ पोस्टर्स भी थे, जिसमें गरीबों को 6000 रूपए देने की राहुल गांधी की स्कीम के बारे में लिखा हुआ था।

पीएम मोदी पर साधा निशाना

सोनिया गांधी के नामांकन के बाद राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने लोगो को संबोधित करते हुए कहा, 'देश में ऐसे कई लोग हैं, जिन्हें ऐसा लगता है कि वह अजेय हैं और वह देश में लोगों से भी बड़े हैं। मोदी ने पिछले पांच वर्षों में लोगों के लिए कुछ नहीं किया है और उनकी नाकामी चुनाव के बाद साफ़ दिखाई देगी।' इसके साथ गांधी ने पीएम मोदी के साथ अपनी डिबेट की बात फिर से दोहराई। उन्होंने कहा की यदि मोदी चाहें तो वह भ्रष्टाचार को लेकर हमसे डिबेट कर सकते हैं। इसके बाद सोनिया गांधी ने मीडिया से कहा कि वह लोगों के प्यार के प्रति आश्वस्त हैं। उन्होंने कहा, 'अगर मोदी को लगता है कि वह हार नहीं सकते तो 2004 के लोकसभा चुनाव को याद कर लें क्योंकि वाजपेयी को भी ऐसा लगता था लेकिन हम जीत गए।'

2004 से लगातार सांसद

गुरुवार की रात को सोनिया गांधी कांग्रेस के कार्तकर्ताओं के साथ बैठक करेंगी और उसके बाद सीधे दिल्ली निकल जाएंगी। बता दें कि सोनिया गांधी 2004 से लगातार रायबरेली की सीट पर जीत हासिल करती आई हैं। इससे पहले वह 1999-2004 तक अमेठी की सांसद थीं। 2014 के लोकसभा चुनाव में 80 सीटों में से कांग्रेस को सिर्फ अमेठी और राय बरेली के सीटों पर जीत मिली थी। रायबरेली में वोटिंग पांचवे चरण में छह मई को होगी। वोटों की गिनती 23 मई को की जाएगी।  
Meerut Hapur Loksabha Election 2019: जानिए मतदान का समय व इससे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां

ईरानी ने भी किया रोड शो

केंद्रीय मंत्री व भाजपा नेता स्मृति ईरानी इस बार फिर से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ खड़ी हो गई हैं। लोकसभा चुनाव 2019 के लिए गुरुवार को अमेठी लोकसभा से ईरानी ने अपना नामांकन कर दिया है। उन्होंने गौरीगंज के जिला अधिकारी ऑफिस में अपना पर्चा भरा। नामांकन से पहले स्मृति ईरानी ने चार किलोमीटर का रोड शो भी किया, जिसमे भारी संख्या में भाजपा के समर्थक मौजूद रहे। रोड शो में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे। बता दें कि ईरानी गेस्ट हाउस से गौरीगंज अपने पति ज़ुबिन ईरानी के साथ पहुंची। नामांकन करने से पहले उन्होंने एक मंदिर में पूजा अर्चना भी की।

दूसरी बार अमेठी से लड़ रहीं चुनाव

बता दें कि स्मृति ईरानी दूसरी बार कांग्रेस अध्यक्ष के खिलाफ अमेठी से खड़ी हुई हैं। 2014, में मोदी लहर के बावजूद 1.07 लाख वोटों से वह हार गईं थी। बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष ने अमेठी से नामांकन किया और शहर में रोड शो भी किया। वैसे भी अमेठी कांग्रेस का गढ़ माना जाता है। 1980 से लगातार कांग्रेस ही इस सीट पर जीतती आई है। इस संसदीय सीट का प्रतिनिधत्व सबसे पहले संजय गांधी ने 1989-81 तक किया था। उनकी मौत के बाद, इस सीट को उनके बड़े भाई राजीव गांधी ने 1991 तक संभाली। राजीव गांधी की हत्या के बाद, उनकी पत्नी सोनिया गांधी 1999 तक यहां से सांसद रहीं। 2004 से इसकी बाघडोर राहुल गांधी ने सभाल रखी है।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.