गुब्बारे की जिद पर मासूम का रेत दिया गला

Updated Date: Wed, 11 Dec 2019 05:46 AM (IST)

प्रेमिका की बेटी की हत्या के बाद युवक ने खुद को भी किया जख्मी, गंभीर

PRAYAGRAJ: प्रेमिका दरवाजे के बाहर थी। मकान मालिक के साथ पुलिस भी पहुंच चुकी थी। सभी आग्रह कर रहे थे कि मासूम को लेकर वह बाहर आ जाये लेकिन उसने ऐसा नहीं किया। सनक इस कदर सवार थी कि किसी की कुछ सुनने को तैयार नहीं था। इसी बीच चार साल की मासूम की चीख गूंजी और फिर युवक भी तड़पते हुए चीखने लगा तो बाहर मौजूद लोगों का दिल बैठ गया। पुलिस ने दरवाजा तोड़ने का फैसला लिया। सब अंदर पहुंचे तो सीन दिल दहला देने वाला था। मासूम आखिरी सांस ले रही थी और युवक भी गंभीर था। दोनों को अस्पताल पहुंचाया गया। पता चला कि मासूम दम तोड़ चुकी है। युवक की हालत भी गंभीर थी। उसे एसआरएन में भर्ती कराया गया है। पूछताछ में पता चला करने मरने वाली मासूम युवक की प्रेमिका की बेटी है। वजह बतायी जा रही है गुब्बारे के लिए जिद करना।

पति-बेटे को छोड़ की थी दूसरी शादी

बस्ती जिले के लालगंज बनकटी थाना क्षेत्र स्थित पाकटड़ा निवासी दिलीप अग्रहरि ने बेटी ट्विंकल उर्फ पि्रंकल की शादी सिद्धार्थनगर बयारे निवासी भागवंत पुत्र शिवानन्द से 2010 में की थी। इस रिश्ते से दोनों को तीन बच्चे (दो बेटा और एक बेटी) हुए। शिवानन्द बाम्बे में प्राइवेट जॉब करता था इसलिए घर से बाहर रहता था। पति की गैरमौजूदगी में बच्चों की देखरेख में मदद करने वाली प्रिंकल की राजेन्द्र ने मदद शुरू की तो दोनों में नजदीकियां बढ़ गयीं। यह रिश्ता इतना प्रगाढ़ हुआ कि प्रिंकल ने राजेन्द्र अग्रहरी के साथ घर छोड़ दिया। बेटों को गांव में ही छोड़कर प्रिंकल ने बेटी को अपने साथ रख लिया था। घर से निकलकर दोनों छत्तीसगढ़ चले गये।

इस तरह हुई दर्दनाक घटना

कुछ माह पहले राजेन्द्र और प्रिंकल बेटी के साथ प्रयागराज आये

खुल्दाबाद एरिया के चकनिरातुल मोहल्ले में शांती देवी के यहां रेंट पर कमरा ले कर रहने लगे।

राजेन्द्र गैस चूल्हा बनाने का काम करने लगा। इसी से घर चलता था

इस अवैध रिश्ते से प्रिंकल गर्भवती हो गयी। सोमवार सुबह राजेंद्र उसका चेकअॅप कराने ले गया था

बेटी भी प्रिंकल के साथ थी। हॉस्पिटल से लौटते समय बेटी ने गुब्बारे की जिद कर दी

इस पर पिता ने उसकी रास्ते में ही पिटाई कर दी। विरोध कर रही पत्‍‌नी को भी पीटा।

बात इतनी बढ़ गयी कि मामला थाने पहुंच गया। खुल्दाबाद थाने में दोनो को ले जाया गया। पुलिस ने मामला आपस में सलटा लेना कहकर दोनों को थाने से लौटा दिया था

सभी घर लौटे तो राजेन्द्र, प्रिंकल की बेटी को लेकर कमरे में चला गया

रात भर दोनों कमरे में रहे और प्रिंकल मकान मालकिन के साथ कमरे के बाहर

राजेन्द्र को मनाने की कोशिश होती रही लेकिन उसका दिल नहीं पसीजा

सोमवार सुबह प्रिंकल और कोई रास्ता न सूझने पर थाने जा पहुंची।

पुलिस पहुंची तो दरवाजा बंद था। दरवाजा खुलवाने का पुलिस प्रयास कर ही रही थी कि वह चाकू से मासूम बेटी का बेरहमी से गला रेत दिया।

इसके बाद खुद को भी चाकू मार लिया। मासूम की चीख सुन पुलिस व लोग आशंकित हो गए और दरवाजा तोड़कर अंदर घुसे।

दोनों को खून से लथपथ देख पुलिस एसआरएन हॉस्पिटल ले गई। हॉस्पिटल में बच्ची की मौत हो गई। राजेंद्र की हालत गंभीर बनी रही।

प्रेमिका की चार साल की बेटी का गला रेतने के बाद मां के प्रेमी ने खुद को भी चाकू मार लिया। हॉस्पिटल में बच्ची की मौत हो गई। युवक की हालत गंभीर है। मासूम की मां अपने पति को छोड़ चुकी है लेकिन घायल युवक के साथ उसने शादी नहीं की है। तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर पड़ताल की जा रही है।

बृजेश कुमार श्रीवास्तव, एसपी सिटी

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.