Live Blog

Makar Sankranti 2020 : 15 जनवरी को मकर संक्रान्ति, इस अवसर पर स्नान दिलाता है अनंत पुण्य

2020-01-15T11:59:21Z

सूर्य का मकर राशि में प्रवेश करना 'मकर- संक्रान्ति' कहलाता है। इसी दिन से सूर्य उत्तरायण हो जाते हैं। ज्योतिष शास्त्र में उत्तरायण की अवधि को देवताओं का दिन तथा दक्षिणायन को देवताओं की रात्रि कहा गया है। इस तरह मकर-संक्रान्ति एक प्रकार से देवताओं का प्रभातकाल है।

Makar Sankranti (Khichdi) 2020 Date, Puja Vidhi, Snan Shubh Muhurat, Puja Time Samagri, Mantra: मकर-संक्रांति के दिन स्नान, दान, जप, तप, श्राद्ध तथा अनुष्ठान आदि का अत्यधिक महत्व है। इस अवसर पर किया गया दान सौ गुना होकर प्राप्त होता है। इस वर्ष भगवान सूर्य मकर राशि में बुधवार को प्रवेश कर रहे हैं। इस दिन मकर सक्रांति प्रवेश काल रात्रि 2 बजकर 6 मिनट (30 मुहूर्त्ती) है, विशेष पुण्य काल-प्रातः काल से सूर्यास्त तक रहेगा। इस दिन (पुत्र राजा) शनि की राशि एवं गृह में करेंगे प्रवेश (पिता मंत्री) सूर्य देव, इसी दिन से धनु (खर) मास भी समाप्‍त हो जाएगा व विवाह आदि शुभ कार्य शुरू होंगे। इसी में तीर्थादि स्नान तथा दान करना चाहिए। अतः इस वर्ष बुधवार 15 जनवरी को मकर संक्रांति मनायी जाएगी।

HIGHLIGHT

  1. 15 जनवरी को मकर संक्रान्ति
  2. इस अवसर पर स्नान दिलाता है अनंत पुण्य
  3. इस दिन गंगा स्‍नान का विशेष महत्‍व
  4. राशि अनुसार दान करने से मिलेगा विशेष फल
  5. ग्रहों को अपने अनुकूल बना सकते हैं
13 Jan,2020