दादा की मौत का सदमा ऐसा लगा कि मुजफ्फरनगर का रहने वाला 42 वर्षीय युवक उनकी कब्र खोदते- खोदते हार्ट अटैक से चल बसा। उसके चचेरे भाई के मुताबिक उसने कुछ देर पहले बगल में एक और कब्र खोदने को कहा था।

मुजफ्फरनगर (आईएएनएस)। 42 साल के एक व्यक्ति को अपने दादा की कब्र खोदते समय दिल का दौरा पड़ा और कुछ ही मिनटों में मौके पर ही उसकी मौत हो गई। फोर दोनों को अगल- बगल में कब्र खोद कर दफनाया गया। ये दुखद घटना दो दिन पहले मुजफ्फरनगर के जानसठ इलाके में हुई थी जहां 80 वर्षीय मोहम्मद यूसुफ की मौत बुढ़ापे की वजह से हो गई थी। उनके पोते सलीम, कुछ दोस्तों के साथ मिल कर अपने दादा की कब्र खोद रहे थे कि अचानक उन्हें सीने में एक तेज महसूस हुआ और मौके पर ही उनकी मौत हो गई। कहा जा रहा है कि उन्हें हार्ट अटैक आ गया था।

खुद ही कहा था अपनी कब्र खोदने के लिए

मरने से पहले उसने अपने दोस्तों को एक और कब्र खोदने के लिए कहा था। सलीम को एक स्थानीय डॉक्टर के पास ले जाया गया जिसने उसे मृत घोषित कर दिया। बाद में उसे अपने दादा की कब्र के बगल में दफन कर दिया गया था। सलीम के चचेरे भाई, बाबर अहमद ने कहा, 'हो सकता है कि उसके पास पहले से ही पूर्वाभास हो गया था और उसे अपनी सेहत कुछ ठीक भी नहीं लग रही थी। यही कारण है कि उसने हमें एक और कब्र खोदने के लिए कहा। हम कभी सोच भी नहीं सकते थे कि वास्तव में उसके लिए कब्र खोदेंगे। उसकी मृत्यु ने हम सभी को हैरान कर दिया है।' मृतक सलीम एक फल विक्रेता था। बता दें कि उसके पांच बच्चे हैं।

Posted By: Vandana Sharma