साफसफाई में लापरवाही देख बिफरीं महापौर

2019-01-01T06:00:56Z

महापौर सुनीता वर्मा ने किया वार्ड 81 का निरीक्षण, दिए निर्देश

Meerut। स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 में मेरठ को प्रथम स्थान दिलाने के लिए निगम की तैयारियों पर किस कदर लापरवाही है, यह महापौर के निरीक्षण में खुलकर सामने आ रहा है। सोमवार को महापौर ने शहर के वार्डाें का निरीक्षण कर स्वच्छता अभियान की तैयारियों का जायजा लिया। इस दौरान वार्डो में व्याप्त गंदगी को दूर कराने, वार्डो में जगह-जगह पर कूड़े का निस्तारण कराने के निर्देश दिए।

अवैध कब्जे की भरमार

सबसे पहले महापौर सुनीता वर्मा नगर निगम के आला अधिकारियों के साथ वार्ड-81 में पहुंची जहां ईदगाह कॉलोनी में रोमानिया मस्जिद वाली और साथ वाली गली नंबर 6 व 7 में नालिया सिल्ट से भरी हुई मिली। इस पर नगर आयुक्त ने क्षेत्रीय सफाई निरीक्षक को 10 दिन लगातार छोटी पोर्कलेन मशीन लगवाकर नालों की सफाई का निर्देश दिया। रोमानिया मस्जिद वाली गली में नाली व इंटरलॉकिंग टाइल्स के कार्य की तत्काल निविदाएं आमंत्रित कराने के लिए अधिशासी अभियंता नीना सिंह को आदेशित किया गया।

दर्ज कराएं एफआईआर

महापौर ने अंजुम पैलेस के पीछे स्थित गलियों का निरीक्षण किया, जहां अवैध ब्जा को हटाने के लिए सम्पत्ति अधिकारी राजेश सिंह को एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान माधवपुरम टी प्वाइंट पर नाला बंद पाया गया। निरीक्षण में नगरायुक्त मनोज कुमार चौहान, अपर नगरायुक्त अमित कुमार, सुनील सिंघल, सहायक अभियन्ता (जल), प्रदीप कुमार श्रीवास्तव, सुनील कुमार, अवर अभियन्ता (जल) आदि मौजूद रहे।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.