हनुमान एजेंसी और महालक्ष्मी ट्रेडर्स के गोदाम से मिली लाखों की नकली दवाएं

2017-05-28T07:40:40Z

PATNA : नकली और एक्सपायरी मेडिसिन बेचने वालों के खिलाफ मुहिम लगातार जारी है। यही कारण है कि एक बार फिर पुलिस ने नकली, एक्सपायरी और गवर्नमेंट हॉस्पीटल में सप्लाई की जाने वाली मेडिसिन की बड़ी खेप को बरामद किया है। शनिवार को पटना पुलिस और ड्रग इंस्पेक्टर की टीम ने संयुक्त रूप से गोविंद मित्रा रोड के हनुमान एजेंसी और महालक्ष्मी ट्रेडर्स व दो गोदाम पर छापेमारी की। जहां से लाखों रुपए की मेडिसिन को जब्त किया गया। साथ ही पुलिस टीम ने इस धंधे में शामिल 9 लोगों को गिरफ्तार किया। जिसमें हनुमान एजेंसी का मालिक और मुख्य सरगना नीरज कुमार शामिल है। इसके अलावा पुलिस ने अशोक कुमार, लल्लू कुमार उर्फ राहुल, परमानन्द प्रसाद, दुर्गेश ऋषि नारायण सिंह, मनीष कुमार, अजय गुप्ता, बंटी कुमार और गौतम गुप्ता को गिरफ्तार किया।

- जारी था रैपर बदलने का खेल

एक्सपायर मेडिसिन का रैपर बदल कर उसे नए रैपर में पैक कर मार्केट में सप्लाई करने का खेल लगातार जारी था। इसकी सूचना लगातार पुलिस को मिल रही थी। ठोस कार्रवाई करने के लिए पुलिस ने सही मौके का इंतजार किया। जब दुकान से लेकर गोदाम तक लाखों रुपए की स्टॉक पड़े होने की सूचना मिली, वैसे ही पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी। दुकान और गोदाम में मिले हर एक मेडिसिन की जांच की गई। इसके सैंपल को भी टेस्ट के लिए भेजा जाएगा।

एसोसिएशन ने किया बहिष्कार

इधर, इस मामले को लेकर बिहार केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि ऐसे लोग दवा कारोबार को स्वच्छ तरीके से करने वालों को दागदार कर रहे हैं। ऐसे धंधेबाजों पर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। एसोसिएशन के अध्यक्ष परसन कुमार सिंह ने इस बात की निंदा की है। उन्होंने कहा कि कार्रवाई होने के बाद पुन: ऐसे दुकानों को लाइसेंस निर्गत किया जाता है। यह खेदजनक है।

- लाखों की जिंदगी से खिलवाड़

गौरतलब है कि जब्त की गई अधिकांश दवाएं लाइफ सेविंग्स है। जो गंभीर बीमारियों से ठीक करने के लिए पेशेंट को दी जाती है। इसके अलावे हायर एंटीबायोटिक मेडिसिन भी जब्त की गई है।

नकली व एक्सपायर मेडिसिन के खिलाफ हाल के दिनों में की गई कार्रवाई का ये फॉलोअप है। जो आगे भी जारी रहेगी। पकड़ा गया नीरज पहले भी तीन बार जेल जा चुका है। इसकी संपत्ति का डिटेल्स खंगाला जा रहा है।

मनु महाराज, एसएसपी, पटना


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.