रेलवे पुल से फ्लाईओवर तक पर होंगे जवान

2015-12-12T07:41:22Z

-दोनों पीएम की सुरक्षा के लिए जवानों ने संभाला मोर्चा, पैरामिलेट्री फोर्सेज हुई अलर्ट

-एयरपोर्ट टर्मिनल से लेकर होटल गेटवे तक सुरक्षा के जबरदस्त इंतजाम, खुफिया एजेंसियों ने बिछाया जाल

VARANASI

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और जापानी पीएम शिंजो अबे के आने से पहले पूरे शहर को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। कहीं से कोई चूक न हो इसके लिए हर मोड़, हर सड़क और हर नुक्कड़ पर जवानों की तैनाती की जा चुकी है। एसपीजी ने जहां घाट और होटल को शुक्रवार की दोपहर कब्जे में ले लिया। पैरामिलेट्री फोर्सेज ने भी अपने ड्यूटी पाइंट्स पर मोर्चा संभाल लिया है। इसके साथ ही एयरपोर्ट से लेकर गंगा घाट तक पड़ने वाली भ्0 से ज्यादा ऊंची इमारतों, अंधरापुल सुरंग के ऊपर से गुजरे रेल ट्रैक सहित चौकाघाट फ्लाईओवर के दोनों ओर सशस्त्र पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है।

हर ओर है पैनी नजर

शनिवार को दोनों पीएम दोपहर बाद बनारस पहुंचेंगे। इससे पहले शुक्रवार की देर शाम सुरक्षा एजेंसियों ने हर उस पाइंट को अपने कब्जे में ले लिया जहां पीएम को जाना है। एयरपोर्ट टर्मिनल से लेकर बाहर रोड तक और रोड से लेकर होटल गेटवे तक सुरक्षा तगड़ी कर दी गई है। जबकि गेट वे से लेकर घाट तक के बीच में फोर लेयर सिक्योरिटी घेरा काम करेगा। मोदी और शिंजो के काफिले में चार फ्लीट शामिल की गई हैं। इनमें एक फ्लीट गवर्नर के लिए, दूसरी पीएम और जापानी पीएम के लिए, तीसरी सीएम अखिलेश के लिए लगाई जा रही है। जबकि चौथी फ्लीट डमी के रूप में मौजूद रहेगी। हर फ्लीट में एक एक्स्ट्रा गाड़ी लगाई गई है। सबसे आगे जिप्सी और फिर पैरामिलेट्री फोर्स के बाद एसपीजी, एनएसजी के कमांडोज से लैस गाडि़यों के बीच पीएम की गाडि़यां मौजूद रहेंगी।

वर्दी वालों की भी होगी जांच

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व जापानी पीएम शिंजो अबे के आगमन के मद्देनजर पुलिस व जांच एजेंसियों ने शुक्रवार को कई संदिग्ध लोगों को उठा कर पूछताछ की। पूरा दिन होटल, लॉज, गेस्ट हाउस, धर्मशाला, पेइंग गेस्ट हाउस आदि स्थानों पर रुकने वालों का चिट्ठा तैयार किया गया। खुफिया तंत्र दशाश्वमेध क्षेत्र में आने व स्टे करने वाले फॉरेनर्स की भी जांच कर रहा है। केंद्रीय स्तर की भी टीमें छानबीन में जुटी हैं। जो कोई भी विदेशी सैलानी ज्यादे समय से ठहरा हुआ है उसकी एक्टिविटी पर खास निगाह रखी जा रही है। खुफिया सुत्रों की मानें तो एक टीम ऐसी भी बनाई गई है जो आम लोगों के साथ वर्दीधारियों को भी चेक कर सकती है।

पूरे मंच की हुई कई बार जांच

दोनों पीएम के इस दौरे में सबसे जबरदस्त सुरक्षा घाट पर की गई है। शुक्रवार की दोपहर बीडीएस टीम की चेकिंग के बाद चितरंजन पार्क से लेकर दशाश्वमेध घाट तक की सभी दुकानों को पुलिस ने बंद कराने के बाद चाबी तक अपने कब्जे में ले लिया है। वहीं पूरे घाट पर सुरक्षा के लिए टोटल ख्ख् मेटल डिटेक्टर लगाये गए हैं। कहीं से कोई चूक न रह जाये। इसके लिए शुक्रवार की सुबह से लेकर रात तक गंगा में बने मंच सहित पूरे घाट को सेना के बीडीएस दस्ते, डॉग स्क्वॉड के साथ पुलिस के दस्तों ने भी जांचा। पानी से भी किसी अनहोनी की आशंका को देखते हुए एनडीआरएफ की टीम ने गंगा किनारे से लेकर ख्00 मीटर तक के दायरे की पड़ताल की।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.