दुर्गध और गंदगी को नियति मान बैठे लोग

2015-12-13T07:41:22Z

- बुनियादी समस्याओं से पूरी तरह ग्रस्त है वार्ड शंकरपुरवा द्वित्तीय

- खुले मैदान में मवेशियों के शव व चमड़े का गोदाम, कॉलोनीवासी परेशान

LUCKNOW: राजधानी के कुर्सी रोड से सटे वॉर्ड शंकरपुरवा द्वित्तीय के कल्याणपुर व आदिल नगर मोहल्लों में समस्याओं का अंबार लगा है। इसी वॉर्ड की जद में आने वाले आशीष नगर, कंचना बिहारी मार्ग एरिया का हाल तो इतना बद्तर है कि यहां रहने वाले बाशिंदों की जिंदगी किसी सजा से कम नहीं है। बजबजाती नालियां, सड़कों पर बहता पानी, कूड़े का अंबार जैसी तमाम समस्याओं के बीच यहां रहने वाले लोग जीने को मजबूर हैं। वहीं, एरिया की मेन रोड पर मृत पशुओं के शव व चमड़े के गोदाम से उठने वाली दुर्गध ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है। वार्ड के लोगों का आरोप है कि क्षेत्रीय पार्षद इन समस्याओं से मुंह मोड़े रहते हैं और शिकायत के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं होती।

धड़ल्ले से चल रहा मृत मवेशियों का कारोबार

कुर्सी रोड से आदिल नगर जाने वाली मेन रोड व कॉलोनी के सामने नगर निगम का खाली मैदान पड़ा है। स्थानीय निवासी अर्चना सिंह, प्रवीण कुमार और विवेक पांडेय के मुताबिक, कि हाजी टिम्बर स्टोर के पास नूर अली नामक शख्स ने नगर निगम से मृत मवेशियों का ठेका ले रखा है। इस खाली पड़े मैदान में नूर अली ने मृत मवेशियों व उनके चमड़े का गोदाम बनाया हुआ है। खाली मैदान में इकट्ठा मवेशियों के शव व चमड़ा निकालने के बाद बचे अवशेष से आने वाली दुर्गन्ध ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है। इन शवों व अवशेषों से दुर्गध उठने के साथ ही एरिया में संक्रामक रोगों का भी खतरा हर वक्त बना रहता है। लोगों ने बताया कि खुले में मवेशियों के शवों का चमड़ा निकालने का उन लोगों ने कई बार विरोध किया लेकिन ठेकेदार नूर अली की पुलिसकर्मियों व नगर निगम के कर्मचारियों से मिली भगत है, जिस वजह से उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होती।

मरम्मत को तरस रही 9 साल पहले टूटी सड़क

आशीष नगर से आदिल नगर के बीच जाने वाली सड़क का निर्माण 9 साल पहले हुआ था। वहीं पूर्व बीएसपी शासन के दौरान सीवर लाइन डालने के लिये सड़क को खोद डाला गया। पर, उसके बाद से रोड का फिर से निर्माण नहीं हुआ। जिस वजह से यह सड़क ऊबड़-खाबड़ बनी हुई है और इससे रोजाना दुर्घटनाएं होती हैं। दिलचस्प बात यह है कि जिस सीवर लाइन को डालने के लिये इस सड़क को खोदा गया, वह सीवर लाइन भी आज तक चालू नहीं हो सकी। सीवर लाइन न चालू हो जाने की वजह से एरिया का दूषित पानी सड़कों पर ही बहता है और बारिश के दौरान यह पानी लोगों के घरों में घुस जाता है। स्थानीय लोगों का आरोप है कि इस बात की लिखित शिकायत कई बार पार्षद रामूपाल से की गई लेकिन, वह इलाके से वोट न मिलने की बात कह अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ लेते हैं।

गड्ढों के बीच सड़क

एरिया में सड़कों का बेहद बुरा हाल है। आलम यह है कि वॉर्ड के कंचना बिहारी मार्ग, भुइयन देवी मंदिर मार्ग, एबीडी कॉन्वेंट से रेजीडेंसी स्कूल मार्ग आदि सड़कों की हालत इतनी खराब है कि यह अंदाजा लगाना मुश्किल है कि गड्ढों में सड़क है या फिर सड़क में गड्ढे। परेशान लोग अपने खर्च पर इन गड्ढों को भरवाते हैं लेकिन, कुछ दिनों बाद ही इनका हाल पहले जैसा ही हो जाता है। हालांकि, लोगों की इस परेशानी पर न तो स्थानीय पार्षद ध्यान दे रहे और न ही नगर निगम के ऑफिसर्स।

चंदा लगाकर लगवाए खंभे

आदिल नगर पश्चिम, आशीष नगर, गौराबाग आदि क्षेत्रों में बिजली व्यवस्था भी पूरी तरह ध्वस्त है। कहीं टूटे तार सड़कों को छू रहे हैं तो कहीं बिजली के खंभे खोखले हो चुके हैं। यह खोखले खंभे कब किसी हादसे का सबब बन जाएं, कोई भी नहीं जानता। खंभों की यह हाल देख कॉलोनी वासियों ने बेहद जर्जर हो चुके खंभों की जगह अपने खर्च से नए खंभे तक लगवाए हैं। इतना ही नहीं प्रमुख सड़कों पर मार्ग प्रकाश की व्यवस्था भी नहीं है। जिस वजह से रात में सड़कों पर अंधेरा पसर जाता है।

रिहायशी बस्ती में तबेला

आदिल नगर के आशीष नगर में गोलू नाम के दबंग ने अवैध डेयरी खोल रखी है। उसने इस तबेले में एक दर्जन से ज्यादा मवेशी पाल रखे हैं। जिससे आसपास के इलाके में गंदगी फैली रहती है। स्थानीय लोगों ने बताया कि जानवरों का गोबर रोड पर फैला रहता है। जिस वजह से इलाके में मच्छर पनपते हैं। साथ ही रोड से निकलने वाले लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। लोगों ने बताया कि इस अवैध डेयरी की शिकायत कई बार नगर निगम में की गई लेकिन, कोई कार्रवाई न हुई।

सड़को पर जगह-जगह बड़े गड्ढे खुदे पड़े हैं। जिससे बाइक तो बाइक पैदल चलना भी दूभर है।

- अशोक कुमार यादव

ट्रैफिक कॉन्सटेबल

घरों के सामने से गंदा पानी बहता रहता है। लेकिन, कोई सफाईकर्मी नहीं आता। पार्षद से कई बार शिकायत की लेकिन, वह कोई सुनवाई नहीं करते।

- मो उमर

किराना व्यवसायी

क्षेत्र में मृत मवेशी व चमड़े खुले मैदान में स्टोर किये जाते हैं। जिससे दिन भर एरिया में दुर्गध फैली रहती है। कई बार शिकायत करने पर भी कोई कार्रवाई नहीं हुई।

- वासुदेव पांडेय

रिटायर्ड टीचर

क्षेत्र में सीवर लाइन व पाइप लाइन चालू नहीं है। दूषित पानी सड़कों पर बहता है। खंभे भी पब्लिक ने अपने खर्च पर लगवाए हैं। ऐसे में सरकारी विभाग का क्या काम।

- मो शकील

टेलर

मस्जिद के बगल में भैंसों का अवैध तबेला है, जिससे चारों ओर गंदगी फैली रहती है। नमाज पढ़ने जाने के दौरान भारी दिक्कत होती है। कई बार नगर निगम में शिकायत की गई लेकिन सुनवाई नही होती।

- मो। इलहाम सिद्दीकी

व्यापारी


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.