मां का हत्यारोपी धराया

2019-12-15T05:45:23Z

छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: एमजीएम थाना क्षेत्र के दलदली पंचायत अंतर्गत डोबलोडीह गांव में शुक्रवार को बेटे द्वारा मां की निर्मम हत्या मामले में शनिवार को एमजीएम पुलिस ने घटना स्थल पहुंच कर मामले की जांच की। पुलिस ने घटना को अंजाम देने वाले आरोपित पुत्र राजीव महतो को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। पुलिस ने मृतका के शव का पोस्टमार्टम करा कर परिजनों को सौंप दिया। घटना की सूचना पर मृतका की छोटी बहन अंजलि महतो, भाई सागर महतो, चाचा भरत महतो एवं कई रिश्तेदार डबलोडीह गांव पहुंचे थे। गांव में दोनों परिवार के सदस्यों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर चलता रहा। इधर के घटना के बाद से ही गांव के लोग दहशत में है। पड़ोसी और ग्रामीणों ने बताया कि अक्सर मां बेटे के बीच लड़ाई होती थी। राजीव नशे की हालत में कई बार मां को डायन कहता था। वह हमेशा उसे डायन के संदेह से देखता था, क्योंकि वह काफी दिनों से बीमार चल रहा था। राजीव अपने पिता हरिहर व बड़े भाई समेत ग्रामीणों के साथ भी मारपीट व झगड़ा करता था। एमजीएम थाना प्रभारी अर¨वद कुमार ने बताया कि हत्यारोपित पुत्र राजीव को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। पूछताछ में पता चला कि उसकी दिमागी हालत ठीक नहीं है। उसने नशे के हालत में घटना को अंजाम दिया। कोई डायन बिसाही का मामला नहीं हैं। मृतका के मायके पक्ष ने जांच की मांग की है, पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है।

डायन होने का करता था संदेह

घटना के संबंध में राजीव की पत्नी बिदो मुखी महतो व उसकी फुफी आरती महतो समेत परिवार के कई लोगों ने कहा कि राजीव पिछले एक माह से शारीरिक स्थिति ठीक नहीं थी। वह हमेशा बीमार चलता था। नशा करने के बाद अपनी मां को बीमारी के लिए जिम्मेदार मानता था। उसकी पत्नी ने बताया कि मेरे साथ भी कई बार मारपीट की। उसकी मानसिक स्थिति भी ठीक नहीं थी। वह बेरोजगार भी था। शुक्रवार को दोपहर 12 बजे वह अपने मां से मिलने घर गया था। उस दौरान मेरी सास खाना बना रही थी। मैं अपने घर में थी। ससुर व भैंसुर काम में गए थे। करीब डेढ़ बजे जब हम घर आए तब तक हमें कुछ जानकारी नहीं थी। चार बजे ससुर जब घर आए तो मामला की जानकारी हुई। मैंने सास को देखा ओर डर से पति के पास न जाकर अपने मायके दलदली चली गई।

साजिश के तहत हुई हत्या : मायका पक्ष

घटना की सूचना पर शनिवार सुबह डोबलोडीह गांव में मृतका के मायके से बहन अंजली महतो, भाई सागर महतो, चाचा भरत महतो समेत कई रिश्तेदार रोते बिलखते पहुंचे। मामले की जानकारी नहीं देने से नाराजगी जाहिर करते हुए दोनों परिवार आपस में उलझ गए। अंजलि महतो का कहना हैं कि मेरी दीदी गैस्टिक से पीडि़त थी। उनका इलाज घाटशिला में चल रहा था। मेरी दीदी को काफी दिनों से जीजा व अन्य लोग प्रताडि़त कर रहे थे। खाना भी ठीक से नहीं दे रहे थे। यहां तक की नहाने के लिए साबुन तेल तक नहीं देते थे। कई बार हमसे शिकायत की। हमने समझाने का प्रयास किया था लेकिन कोई नहीं सुना। मेरे जीजा व उसके परिवार वालों ने साजिश के तहत डायन का आरोप लगाकर भतीजा से हत्या करवाया। इसलिए हत्या के बाद भी खबर हमे नहीं दी गई। अखबार व अन्य लोगों से सूचना पाकर यहां पहुंचे हैं। भतीजा राजीव, जीजा हरिहर महतो समेत अन्य पर मामला दर्ज करवाएंगे।

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.