MP Political Crisis: एमपी में फ्लोर टेस्ट पर खतरे के बादल मिनिस्ट प्रदीप जायसवाल ने कहा शायद सोमवार को ना हो पाये

2020-03-15T16:44:09Z

MP Political Crisis अगर मध्य प्रदेश के कैबिनेट मिनिस्टर प्रदीप जायसवाल की बात पर भरोसा किया जाये तो राज्य में होने वाले फ्लोर टेस्ट पर खतरे के बादल मंडरा रहे हैं। अब तक की सूचना के अनुसार सोमवार 16 मार्च के सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस को फ्लोर टेस्ट के जरिए अपना बहुमत साबित करना है लेकिन अब लग रहा है कि ये शक्ति परीक्षण टल सकता है।

भोपाल, (एएनआई)। MP Political Crisis: मध्यप्रदेश के मंत्री प्रदीप जायसवाल ने विश्वास जताया है कि कांग्रेस विधानसभा में अपना बहुमत साबित करने में सफल होगी, हालांकि, उन्होंने इस बात पर संदेह जताया कि कल 16 मार्च फ्लोर टेस्ट संभव हो सकता है। उन्होंने कहा कि हमारे पास पर्याप्त नंबर हैं, और मुख्यमंत्री को जीत का भरोसा है। उन्होंने वेट एंड वॉच की पॉलिसी पर रहने के लिए कहते हुए ये भी कहा कि, यह आवश्यक नहीं है कि कल फ्लोर टेस्ट होगा, क्योंकि सभी कोरोनोवायरस महामारी से जूझ रहे हैं।जायसवाल ने ये बात संडे को वल्लभ भवन में सीएम कमलनाथ की अध्यक्षता में राज्य मंत्रिमंडल की बैठक के बाद कही। इस मीटिंग में उनके अलावा गृह मंत्री बाला बच्चन, कानून मंत्री पीसी शर्मा, और मंत्री लाखन सिंह यादव, सज्जन सिंह वर्मा, आदि शामिल हुए थे।

कांग्रेस की जीत का भरोसा

इससे पहले आज सुबह कांग्रेस एमएलए के साथ होटल मैरियट पहुंचे हरीश रावत ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में दावा किया कि बीजेपी फ्लोर टेस्ट को लेकर घबराई हुई है, जबकि कांग्रेस कल फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार है और वे उसकी जीत के लिए आश्वस्त हैं। उन्होंने कहा कि हम नर्वस नहीं हैं, बीजेपी है। कांग्रेस के पूर्व नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया का समर्थन करने वाले बागी विधायकों के बारे में पूछे जाने पर, उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, वे सभी विधायक हमारे संपर्क में हैं। कांग्रेस के कांतिलाल भूरिया ने बताया कि हमारे पास 112 से अधिक विधायक हैं।

मंडे को होगा फ्लोर टेस्ट

इस बीच, दिग्विजय सिंह और शोभा ओझा सहित कांग्रेस नेता मुख्यमंत्री कमलनाथ के आवास पर पहुंच गए हैं। कांग्रेस ने भी शनिवार को मध्य प्रदेश में अपने सभी विधायकों के लिए , 16 मार्च से 13 अप्रैल तक आयोजित होने वाले विधान सभा सत्र के लिए एक व्हिप जारी किया था। शनिवार को ही मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन ने सोमवार को विधानसभा में फ्लोर टेस्ट का निर्देश दिया था। इससे पहले, कांग्रेस ने भाजपा के खिलाफ आरोप लगाए गए थे कि गुरुग्राम के मानेसर और बेंगलुरु के एक लक्जरी होटल में मध्य प्रदेश के आठ कांग्रेस विधायकों को जबरन बंधक बना कर रखा गया है।

Posted By: Molly Seth

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.