MS Dhoni retirement: एमएस धोनी के वो 5 कारनामे, जो दुनिया का कोई क्रिकेटर नहीं कर पाया

Updated Date: Mon, 17 Aug 2020 11:50 AM (IST)

MS Dhoni retirement: एमएस धोनी के रिटायरमेंट के साथ ही उनके द्वारा बनाए गए रिकाॅर्ड भी चर्चा में आ गए। माही ने इंटरनेशनल क्रिकेट में कुछ ऐसे कारनामे भी किए हैं जो दुनिया का कोई क्रिकेटर नहीं कर पाया। आइए आज इस मौके पर जानते हैं धोनी के पांच वर्ल्ड रिकाॅर्ड के बारे में।

कानपुर (इंटरनेट डेस्क)। MS Dhoni retirement: 16 साल लंबे करियर को आखिरकार धोनी ने अलविदा कह दिया। माही ने साल 2004 में बांग्लादेश के विरुद्घ अपना पहला वनडे खेला था। तब से लेकर अब तक धोनी हर क्रिकेट फैंस के फेवरेट रहे। मौका कोई भी हो, धोनी के बल्ले से निकला छक्का आज भी फैंस के दिलों में ताजा है। डेढ़ दशक लंबे करियर में धोनी ने कई रिकाॅर्ड बनाए, मगर उनके पांच रिकाॅर्ड ऐसे हैं जहां वह आज भी नंबर वन पर काबिज हैं।

तीन आईसीसी ट्राॅफी जीतने वाले इकलौते कप्तान
एमएस धोनी एक सफल कप्तान भी रहे हैं। यही वजह है कि वह तीन आईसीसी ट्राॅफी जीतने वाले इकलौते कप्तान हैं। धोनी ने पहली बार साल 2007 में भारत को टी-20 वर्ल्ड चैंपियन बनाया। इसके बाद 2011 में 50 ओवर विश्वकप में भारत के सिर खिताब सजाया और फिर 2013 में आईसीसी चैंपियंस ट्राॅफी में भारत को चैंपियन बनाकर धोनी ने अपने नाम एक अनोखा रिकाॅर्ड दर्ज करवा लिया।

सबसे ज्यादा इंटरनेशनल मैचों में कप्तानी
धोनी सबसे ज्यादा इंटरनेशनल मैचों में कप्तानी करने वाले खिलाड़ी है। क्रिकइन्फो पर उपलब्ध डेटा के मुताबिक, माही ने 332 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में टीम इंडिया की कमान संभाली। जिसमें 200 एकदिवसीय, 60 टेस्ट और 72 T20I मैच शामिल है। ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग ने 324 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में कप्तानी की है। उनका नाम धोनी के बाद आता है। धोनी एकमात्र ऐसे कप्तान भी हैं, जिन्होंने खेल के तीनों प्रारूपों में 50+ अंतरराष्ट्रीय मैचों में नेतृत्व किया है।

सबसे ज्यादा फाइनल जिताने वाले कप्तान
धोनी मल्टी नेशन वनडे टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा फाइनल जीतने वाले कप्तान भी हैं। धोनी ने अपने करियर में कुल 6 मल्टी नेशन टूर्नामेंट फाइनल खेले जिसमें चार में उन्हें जीत मिली। वहीं ओवरऑल देखें तो धोनी ने बतौर कप्तान 110 वनडे मैच जीते। हालांकि वह इस लिस्ट में दूसरे पायदान पर हैंं।

सबसे ज्यादा बार रहे नाॅट आउट
एमएस धोनी 84 एकदिवसीय मैचों में नाबाद रहे हैं, जो एक विश्व रिकॉर्ड है। दूसरा सर्वश्रेष्ठ दक्षिण अफ्रीका के पूर्व ऑलराउंडर शॉन पोलक का है, जिनके नाम 72 नाॅट आउट दर्ज हैं। अपने 84 नाॅट आउट में 51 बार माही वनडे में नाबाद रहे, वो भी लक्ष्य का पीछा करते हुए। इसमें 47 बार उन्होंने टीम इंडिया को जीत दिलाई वहीं दो टाई हुए जबकि मात्र दो मुकाबले इंडिया हारी।

सबसे ज्यादा स्टंपिंग का रिकाॅर्ड
एमएस धोनी के नाम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा स्टंपिंग करने का रिकॉर्ड भी है। 350 मैचों में, धोनी के नाम 123 स्टंपिंग हैं। वह अपने करियर में 100 अंतरराष्ट्रीय स्टम्पिंग हासिल करने वाले एकमात्र विकेटकीपर भी हैं। कुल डिसमिसल्स के मामले में, धोनी दक्षिण अफ्रीका के मार्क बाउचर और ऑस्ट्रेलिया के एडम गिलक्रिस्ट से पीछे हैं।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.