पुलिस भर्ती में पकड़ा मुन्नाभाई

2019-12-10T05:45:19Z

मेरठ पुलिस लाइंस में पुलिस भर्ती प्रक्रिया के दौरान सोमवार को दबोचा

परीक्षा में सॉल्वर को बैठाया था, फिजिकल कराने आया था धरा गया

Meerut : सोमवार को मेरठ में पुलिस लाइन्स में चल रही यूपी पुलिस सिपाही भर्ती में एक और मुन्नाभाई पकड़ा गया। फिजिकल और नापतौल कराने आए को पुलिस ने उस समय धर दबोचा आंखों में धूल झोंककर नापतौल प्रक्रिया में सेंधमारी की कोशिश कर रहा था। आरोपी ने बताया कि लिखित परीक्षा उसने नहीं दी बल्कि एक सॉल्वर को परीक्षा केंद्र पर बैठाकर परीक्षा दिलवाई है।

चल ही है भर्ती प्रक्रिया

यूपी पुलिस के 49 हजार आरक्षी पदों के लिए प्रदेश के 8 सेंटरों में भर्ती प्रक्रिया का संचालन हो रहा है। इसमें से एक सेंटर मेरठ में भी है। पुलिस लाइन्स स्थित सेंटर में नापतोल प्रक्रिया के दौरान सोमवार को पुलिस ने एक और मुन्नाभाई पकड़ा है। पकड़ा गया आरोपी नीरज पुत्र ओमी सिंह निवासी चरला थाना फलावदा है। पूछताछ में आरोपी युवक ने एसपी ट्रैफिक एवं भर्ती प्रक्रिया के नोडल अधिकारी संजीव बाजपेयी को बताया 28 जनवरी 2019 को उसने मुरादनगर स्थित पंतजलि सेंटर में लिखित परीक्षा नहीं दी थी। बल्कि परीक्षा में अपनी जगह सॉल्वर गैंग के एक युवक को बैठाया था। जो अपने फोटो और बायोमैट्रिक से लिखित परीक्षा में शामिल हुआ था।

बायोमैट्रिक ने नहीं किया मिलान

सोमवार को नापतौल कराने आए युवक का जब बायोमैट्रिक मिलान कराया गया तो वो मैच नहीं हुआ। जिसके बाद पुलिस को शक हुआ। एसपी ट्रैफिक ने युवक से कड़ाई से पूछताछ की, जिसके बाद युवक ने पूछताछ में बताया कि लिखित परीक्षा में सॉल्वर को बैठाने के लिए उसने गैंग को 3 लाख रुपए दिए थे। यूपी में पुलिस भर्ती प्रक्रिया में नापतौल के दौरान यह दूसरा मामला है जब सॉल्वर गैंग की सेंधमारी पकड़ में आई है। और यह दोनों केस मेरठ में ही खुले हैं। एसपी क्राइम ने पूछताछ के बाद आरोपी को क्राइम ब्रांच को सौंप दिया।

गत दिनों पकड़ा था मुन्नाभाई

इससे पहले पिछले सप्ताह गुरुवार को भी पुलिस ने नापतौल प्रक्रिया के दौरान एक मुन्नाभाई को गिरफ्तार किया था। आरोपी अनूप कुमार पुत्र धन सिंह मूल रूप से औरंगाबाद (बिहार) का रहने वाला है। उसने बनारस के एएसएम इंटर कॉलेज में 28 जनवरी को यूपी पुलिस भर्ती की लिखित परीक्षा में अपनी जगह किसी और सॉल्वर को बैठा दिया था। परीक्षा में सॉल्वर ने एडमिट कार्ड में अपना फोटो और बायोमैट्रिक प्रयोग किया और प्रवेश पा गया। अब जब नापतौल की बारी आई तो गड़बड़झाला पकड़ा गया।

---

युवक को हिरासत में ले लिया गया है, जिससे पूछताछ की जा रही है। प्रथम दृष्टया हेराफेरी के शक में जांच की गई तो गोरखधंधे से परदा हटा गया। इस मामले में भर्ती बोर्ड के निर्देशों के तहत आगे की कार्रवाई की जाएगी।

-संजीव बाजपेयी, एसपी ट्रैफिक/मेरठ जोन के भर्ती बोर्ड के नोडल अधिकारी

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.