मुन्नाभाइयों के निशाने पर पॉलीटेक्निक एंट्रेंस

2012-05-03T21:06:37Z

मुन्नाभाइयों का अगला टारगेट 6 मई को होने वाला पॉलीटेक्निक ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम है सॉल्वर गैंग से सक्रिय सदस्यों ने एग्जाम में सेंधमारी की पूरी तैयारी भी कर ली है इन सॉल्वर्स में शहर के कुछ इंस्टीट्यूट्स के अलावा दूसरे शहरों के स्टूडेंट्स शामिल हैं इस बात की भनक लगते ही खुफिया अलर्ट हो गई है यूपीएसईईई और एआईईईई के बाद अब पॉलीटेक्निक एग्जाम में सेंधमारी करने पर उतारू इन मुन्नाभाइयों और उनके सरकिटों सहित उनके कोचिंग संचालक आकाओं की धरपकड़ के लिए एसटीएफ ने जाल बिछा दिया है

 

 

 

सर्विलांस पर फोन 

प्रतियोगी परीक्षाओं में सक्रिय सॉल्वर गैंग के मास्टरमाइंड और सरकिटों को पकडऩे के लिए खुफिया सर्विलांस का सहारा ले रही है. जिन लोगों के फोन सर्विलांस पर लगाए गए हैं, उनमें एचबीटीआई, पॉलीटेक्निक, यूपीटीटीआई, सीएसए के प्रेजेंट और एक्स दोनों ही तरह के स्टूडेंट्स शामिल हैं. खासकर वो जिनकी ‘सेमेस्टर बैक’ आई है. इस डील को अंजाम तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाने वाले काकादेव के कुछ कोचिंग संचालक और फैकल्टी मेम्बर्स (सरकिटों) के फोन भी ट्रेस किए जा रहे हैं. 

संदिग्धों के लिए फंदा तैयार 

करीब चार दिनों से सर्विलांस से ट्रेस किए गए कुछ संदिग्ध लोगों को चिन्हित किया गया है. अफसरों का कहना है कि ये सभी लोग किसी न किसी रूप से सॉल्वर गैंग से जुड़े हैं. फिलहाल, इनमें किस इंस्टीट्यूट के स्टूडेंट्स शामिल है? यह बात अभी तक डिस्क्लोज नहीं की गई है. सोर्सेज के अनुसार सर्विलांस के जरिए चिन्हित संदिग्धों को पूछताछ के लिए उठाए जाने की तैयारी है.  

हॉस्टल्स-कोचिंग मंडी निशाने पर 

पॉलीटेक्निक एग्जाम में करीब 30,000 स्टूडेंट्स एपीयर होंगे. खास बात यह कि एग्जाम के लिए अरेंज किए गए सॉल्वर्स सिर्फ शहर के इंस्टीट्यूट्स के ही नहीं बल्कि, दूसरे शहरों के प्रतिष्ठित इंस्टीट्यूट्स और कॉम्पटेटिव एग्जाम्स की तैयारी कर रहे स्टूडेंट्स हैं. जानकारी के मुताबिक ये सॉल्वर्स गुरूदेव, गीतानगर, कल्याणपुर क्रॉसिंग के आसपास के हॉस्टल्स, होटल्स और घरों में शेल्टर लिए हुए हैं. इस बात की भनक लगते ही खुफिया ने अपना जाल बिछा दिया है. उधर, कॉम्पटेटिव एग्जाम्स की तैयारी कराने वाले नामी-गिरमी इंस्टीट्यूट्स के संचालक और वहां के फैकल्टी मेम्बर्स की गतिविधियों पर भी पैनी नजर रखी जा रही है. 

प्रशासन भी अलर्ट 

पॉलीटेक्निक एग्जाम में गड़बड़ी रोकने के लिए प्रशासन भी अलर्ट हो गया है. मुन्नाभाइयों को पकडऩे के लिए खास रणनीति तैयार हो गई है. सूत्रों के मुताबिक सेंटरों पर छापेमारी की जाएगी. जिस स्टूडेंट पर शक होगा, उससे कुछ खास पर्सनल सवाल पूछे जाएंगे. वो सवाल जिनका जवाब सिर्फ ओरिजनल स्टूडेंट को ही मालूम होगा. जाहिर है जो सॉल्वर जवाब नहीं दे पाया, वो वहीं दबोच लिया जाएगा. 

फ्लाइंग स्क्वॉयड मारेंगे छापे 

एग्जाम को पीसफुली कंडक्ट कराने का जिम्मा एसीएम स्तर के अधिकारियों को सौंपा गया है. एडीएम फाइनेंस के अनुसार हर एक मजिस्ट्रेट के अंडर में कुछ सेंटर्स एलॉट रहेंगे. एग्जाम के दौरान सेंटर पर फ्लाइंग स्क्वॉयड्स छापा भी डालेंगे. इसके लिए फ्लाइंग स्क्वॉयड्स के मेम्बर्स को बाकायदा ट्रेनिंग भी दी जाएगी. 

 

 

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.