देहरादून में कुकर्म के बाद मासूम दिव्यांग की हत्या

2019-02-22T11:22:23Z

- ऊधमसिंहनगर में अपहरण कर सात साल के मासूम दिव्यांग की हत्या

- पड़ोसी के घर में मिली मासूम की लाश, आरोपित सहित उसके माता-पिता व भाई गिरफ्तार

 

RUDRAPUR : सात साल के मूकबधिर बच्चे की दो दिन पूर्व अपहरण के बाद गला दबाकर हत्या कर दी गई। उसके साथ कुकर्म भी किया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इसकी पुष्टि हुई है। मासूम की लाश पड़ोसी के घर में मिली। पुलिस ने आरोपित पड़ोसी को गिरफ्तार कर लिया है।

 

छत पर खेल रहा था मासूम

पीलीभीत के थाना मरिया के एक गांव निवासी व्यक्ति सिडकुल की फैक्ट्री में काम करते हैं। वह पत्नी, सात साल के पुत्र और पुत्री के साथ ट्रांजिट कैंप क्षेत्र में किराये के मकान में रहते हैं। उनका सात वर्षीय पुत्र मूकबधिर था। बताया जा रहा है कि 19 फरवरी की शाम मासूम घर की छत पर खेल रहा था, जहां से वह गायब हो गया। 20 फरवरी को पिता ने बेटे की गुमशुदगी ट्रांजिट कैंप थाने में दर्ज कराई थी। पुलिस के मुताबिक देर रात पीडि़त परिवार उठा हुआ था। इसी बीच पड़ोस में रहने वाला हर्षस्वरूप पुत्र पप्पू उनकी छत पर चढ़ गया। रात एक बजे के आसपास पड़ोसी को छत पर देख पीडि़त पिता को शक हुआ। उसकी सूचना पर मौके पर पहुंचे ट्रांजिट कैंप पुलिस कर्मियों ने हर्षस्वरूप को हिरासत में ले लिया। इस दौरान हुई पूछताछ में हर्षस्वरूप ने अपहरण के बाद मासूम की गला दबाकर हत्या की बात कबूल की। हर्षस्वरूप के घर से पुलिस ने मासूम की लाश बरामद की। एसएसपी ब¨रदरजीत सिंह के अनुसार मासूम की गला दबाकर हत्या की गई है। आरोपित हर्षस्वरूप के खिलाफ हत्या व कुकर्म, उसके पिता पप्पू कुमार, माता रूपवती व भाई पवन के खिलाफ हत्या के षडयंत्र में शामिल होना, साक्ष्य छिपाने आदि में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मासूम से कुकर्म होने की पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुई है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.