प्रॉपर्टी डीलर को दिनदहाड़े गोली मारकर चले गये बदमाश

Updated Date: Sat, 16 Mar 2019 06:00 AM (IST)

घरवाले अस्पताल ले गये तो पता चला

नाक से खून निकलने की शिकायत पर अस्पताल लेकर पहुंचे थे घर वाले, अस्पताल में पता चला गोली मारी गयी

एसआरएन चौकी से झूंसी पुलिस को मिली हत्या की सूचना, छानबीन में जुटी

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: घर के बाहर सो रहे प्रापर्टी डीलर को बदमाश गोली मारकर चले गये और किसी को हवा तक नहीं लगी. राहगीर की सूचना पर परिवार वाले उसे नाक से खून निकलने की शिकायत पर प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराने पहुंचे. यहां पता चला कि उसे गोली मारी गयी है. इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी. एसआरएन चौकी इंचार्ज से सूचना मिली तो झूंसी पुलिस घरवालों से पूछताछ करने पहुंची. देर रात तक न तो बदमाशों का कोई सुराग लगा था और न ही यह कि किस कारण से गोली मारी गयी है.

दिन में तीन बजे के करीब की घटना

मृतक का नाम रमेश यादव (50 वर्ष) बताया गया है. वह नारायण दास का पूरा झूंसी का रहने वाला था. वह छह भाइयों में चौथे नंबर पर था. उसकी पत्‍‌नी का नाम राजकुमार देवी है. उसके चार बेटियां और एक बेटा है. दो बेटियों संगीता और सुनीता की शादी हो चुकी है. तीसरी बेटी कोमल 18 और चौथी बेटी खुशी 15 साल की है. इकलौता बेटा सोनू 20 साल का है. कोमल का भतीजा राजेन्द्र यादव वर्तमान में गांव का प्रधान है. कोमल प्रापर्टी डीलिंग का काम करता था. इसके अलावा वह दूध का भी कारोबार करता था. उसने कई मवेशी पाल रखे हैं. घटना दिन में तीन बजे के आसपास की है. उस वक्त कोमला बैठका में चारपाई पर सो रहा था. परिवार के बाकी सदस्य दूसरे कामों में व्यस्त थे.

मछुआरे से बेटी तो पता चला

कोमल को गोली कैसे लगी? यह रहस्य बना हुआ है. न तो परिवार के किसी सदस्य ने गोली चलने की आवाज सुनने की पुष्टि की है और न ही किसी आसपास रहने वाले व्यक्ति ने. चारपाई पर खून से लपतथ पड़े होने की सूचना घर के बगल में स्थित तालाब में मछली पालन करने वाले पुन्नी लाल ने कोमल की बेटी खुशी को दी. खुशी का कहना है कि पिता जी को खून की उल्टी होने की शिकायत है. इस पर परिवार को लगा कि फिर से ऐसा हो रहा है. इस पर परिवार वाले उसे लेकर त्रिवेणीपुरम के एक निजी अस्पताल पहुंचे. यहां से रिफर होने पर वे शहर के एक निजी अस्पताल पहुंचे. यहां से उसे एसआरएन ले जाया गया जहां डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया.

डॉक्टर्स ने दी पुलिस को सूचना

एसआरएन में कोमल की मौत की पुष्टि करने वाले डॉक्टर्स को पता लग गया था कि उसे गोली मारी गयी है. गोली कनपटी के नीचे लगी थी. डॉक्टर्स ने इसकी सूचना एसआरएन चौकी प्रभारी को दी. चौकी से सूचना झूंसी थाने पहुंची तो परिवार के लोगों को गोली से कोमल की मौत हो जाने की सूचना हुई. इसके बाद सभी अस्पताल पहुंचे. मौके पर पहुंची पुलिस को कोई असलहा नहीं मिला है. परिवार के लोग हत्या किया जाना बता रहे थे. क्यों? का जवाब देने वाला कोई नहीं था.

परिवारवालों से मिली तहरीर के आधार पर घटना की जांच शुरू कर दी गयी है. कारण अभी तक पता नहीं चला है. घर वाले भी ज्यादा कुछ बता नहीं रहे हैं. कोशिश पूरी है कि जल्द से जल्द घटना का खुलासा कर दिया जाय.

एसओ, झूंसी

Posted By: Vijay Pandey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.