परमजीत गिरोह के सोनू मिश्रा का दिनदहाड़े मर्डर

2018-12-16T06:00:52Z

छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: लौहनगरी में दो गुटों के बीच चल रही रार थमने का नाम नहीं ले रही है। शनिवार को बर्मामाइंस स्थित स्टार सिनेमा के पास रेलवे काउंटर से टिकट लेने जा रहे परमजीत सिंह गुट के सोनू मिश्रा पर ताबड़तोड़ फायरिंग की। बेटे को बचाने पहुंचे पिता बैजनाथ को पास आता देख अपराधियों ने उन पर भी फायरिंग की। इस दौरान पैर में गोली लगने से वह गिरकर घायल हो गए। जिससे बाद अपराधी बाइक सवार के साफ भाग निकला। बेटे को लेकर बर्मामाइंस थाना पहुंचने पर पुलिस ने दोनों टीएमएच अस्पताल में भर्ती कराया जहां डाक्टरों ने सोनू को मृत घोषित कर दिया। जबकि पिता का इलाज चल रहा है। बताते चले कि मृतक सोनू मिश्रा परमजीत गिरोह का था उस पर हत्या सहित एक दर्जन आपराधिक मामले दर्ज थे। वह अक्टूबर में ही घाघीडीह जेल से रिहा हुआ था। घटना के समय पिता-पुत्र न्यायालय से जुगसलाई सिंह बंगाली पाड़ा आवास के लिए लौट रहे थे। सानू जेल से निकलने के बाद पश्चिम बंगाल के खड़गपुर में रहता था। शनिवार को सुबह ही वह स्टील एक्सप्रेस से आया था जिसके बाद दोनों कोर्ट गए थे। कोर्ट से ही अपराधियों ने दोनों की रेकी करना शुरू कर दिया था। बागबेड़ा रेलवे गुदरी मार्केट निवासी रंजीत कुमार के पिता पर सोनू मिश्रा व उसके साथी डब्ल्यू मिश्रा, मन्ना महतो ने मिलकर गोली चलाई थी। इसमें रंजीत कुमार के पिता संतोष कुमार जख्मी हो गए थे। इसके बाद से इस गैंग की नजर सोनू पर थी। सूचना पर टीएमएच अस्पताल पहुचे सिटी एसपी प्रभात कुमार, सीसीआर डीएसपी सुधीर कुमार ने पिता बैजनाथ मिश्रा बहन से पूछताछ की। घटना के पीछे रंजीत साव और संजीत साव गिरोह शामिल होने की संभावना जताई जा रही है।

रंजीत, संजीत और अजीत के घर छापामारी

सोनू मिश्रा की हत्या में तडीपार रंजीत साव, संजीत साव, अजीत साव समेत अन्य की संलिप्तता सामने आने पर पुलिस टीम ने उपरोक्त तीनों भाइयों के बागबेड़ा गाढ़ाबासा, गांधीनगर और रेलवे कॉलोनी आवास पर छापामारी की। पुलिस को कोई भी नहीं मिला। बता दें कि इन सभी के खिलाफ परसुडीह थाना में जुआ अड्डा संचालक मन्ना महतो के कीताडीह आवास पर फाय¨रग किए जाने का मामला दर्ज है। घटना के समय फायरिंग होते ही वहां पर मौजूद लोग भाग निकले जिसके बाद अपराधी पुल होते हुए स्टेशन की ओर भाग निकले।

पिता और बहन के बयान के आधार पर रंजीत साव और उसके गुट के अपराधियों की धर-पकड़ के लिए टीमें तैनात की गई हैं। देर रात अपराधियों के आवास पर भी पुलिस ने छापेमारी की है, लेकिन किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई। जल्द ही अपराधियों को अरेस्ट किया जाएगा।

प्रभात कुमार, एसपी सिटी, जमशेदपुर


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.