रिटायर्ड सीडीओ की पत्‍‌नी की निर्मम हत्या कर डाका

2019-01-10T06:00:23Z

विरोध पर बेटे व बहू को किया जख्मी, लाखों का सामान उठा ले गये

घटना से सनसनी, एसएसपी कई थानों की फोर्स के साथ पहुंचे

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: मंगलवार की रात बदमाशों के उत्पात के नाम रही। रात साढ़े दस बजे उन्होंने निगम चौराहा ममफोर्डगंज में एक व्यापारी को गोली मारी। इसी के आसपास उन्होंने फाफामऊ में एक व्यापारी को गोली मार दी। इसके बाद रात डेढ़ बजे के आसपास उन्होंने रिडायर्ड सीडीओ के घर में हत्या व डकैती कांड को अंजाम दे दिया। पुलिस तीनो मामलों में बस भागती ही रही। किसी एक मामले में उसके हाथ बदमाश बुधवार की देर रात तक नहीं लगे थे। पुलिस का कहना था कि छानबीन जारी है। जल्द ही गिरफ्तारी कर ली जायेगी।

पूरे परिवार के साथ गांव में रहते थे

डकैती और हत्या की घटना शहर की सीमा से लगे सराय इनायत थाना क्षेत्र के सुदनीपुर गांव की है। यहां के रहने वाले ठाकुर प्रसाद मिश्रा मुख्य विकास अधिकारी पद से रिटायर हैं। गांव में उन्होंने छह कमरों का मकान बनवा रखा है। यहीं उनका पूरा परिवार रहता है। मंगलवार की रात वह एक कमरे में पोते शिवम उर्फ मुन्ना के साथ सो रहे थे। बगल के कमरे में पत्‍‌नी दुर्गा देवी थीं। एक कमरे में छोटी बहू रेखा व पोती काजल सो रही थी। ऊपर के कमरे में शारदा अपनी पत्‍‌नी कुसुम के साथ सो रहे थे। रात करीब सवा एक बजे बदमाश बाउंड्री फांदकर भीतर घुस गए।

गहरी नींद में था पूरा परिवार

इस दौरान परिवार के सभी सदस्य गहरी नींद में सो रहे थे। बताया जाता है कि बदमाशों ने पहले रेखा के कमरे में घुसने का प्रयास किया। इसमें सफलता नहीं मिली तो वे ऊपर पहुंच गये। संयोग से कुसुम इसी बीच लघु शंका के लिए अपने कमरे से बाहर निकली थी। बदमाशों ने कुसुम पर धावा बोल दिया। वह जख्मी होकर जमीन पर गिर पड़ीं तो उन्हें बदमाशों ने कुछ सुंघा दिया जिससे वह बेहोश हो गयीं। इसके बाद बदमाशों को मौका मिल गया और वे नीचे के कमरों तक पहुंच गये और लूटपाट शुरू कर दी।

घर के भीतर खटपट से टूटी नींद

घर में खटपट की आवाज होने पर दुर्गा देवी की नींद खुल गई। उन्होंने देखा तो कुछ बदमाश जिन्होंने अपना चेहरा बांध रखा था, कमरे में घुसे हुए हैं। इस पर उन्होंने शोर मचाने का प्रयास किया। यह देखकर बदमाशों ने उनका मुंह दबा दिया। छटपटाते हुए उन्होंने खुद को उनसे मुक्त कराने का प्रयास किया तो बदमाशों ने वहीं रखे खल-बट्टे से उन पर वार कर दिया। इससे आन द स्पॉट उनकी मौत हो गयी।

बाकी कमरों पर चढ़ा दी थी कुंडी

इसके बाद बदमाशों ने पूरे इत्मिनान के साथ डकैती की वारदात को अंजाम दिया। उन्होंने ठाकुर प्रसाद व रेखा के कमरे की कुंडी बाहर से बंद कर दी थी। जिससे की वह बाहर निकल नहीं सके। डकैतों ने आलमारी खोलने का काफी प्रयास किया लेकिन ताला न टूटने पर डकैत चार बक्से लेकर भाग निकले। इसमें भी उनके हाथ लाखों का सामान लगने का अंदेशा जताया जा रहा है।

फोरेंसिक टीम ने कलेक्ट किये साक्ष्य

बुधवार सुबह परिवारवालों से इसकी सूचना पुलिस तक पहुंची। सूचना मिलते ही एसएसपी नितिन तिवारी एसपी गंगापार के साथ ही फोरेंसिक टीम व डॉग स्क्वॉड समेत कई थाने की फोर्स लेकर गांव पहुंच गए। पुलिस ने घायल दंपती को बेली अस्पताल में भर्ती कराया है। इसके बाद पुलिस ने पड़ताल शुरू कर दी। जांच में पता चला कि घर से लूटे गए बक्से कुछ दूरी पर रेलवे लाइन के पड़े हैं। पुलिस अधिकारियों ने बक्से को खोलकर देखा तो उसमें से घरेलू व कीमती सामान गायब थे। पुलिस डकैतों के बारे में जानकारी एकत्र करने में जुट गई है।

घायलों का इलाज चल रहा है। घटना में शामिल लोगों का पता लगाने के लिए टीमें लगा दी गयी हैं। पूरी कोशिश होगी कि जल्द से जल्द घटना का खुलासा करके आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाय।

-नरेन्द्र प्रताप सिंह,

एसपी गंगापार


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.