म्यूजिक मस्ती व इंटरप्रेन्योर बनने के टिप्स

2013-02-12T11:51:00Z

Jamshedpur वैसे मौका तो था इंटरप्रेन्योर बनने को प्रोसेस को जानने का लकिन तरीका था जरा हट कर म्यूजिक डांस और मस्ती के बीच स्टूडेंट्स इस बात को लेकर एक्साइटेड थीं कि उन्हें यह साबित कर देना है कि वे एक अच्छा इंटरप्रेन्योर बन सकती हैं मंडे को बिस्टुपुर स्थित जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज में फस्र्ट टाइम ऑर्गेनाइज हुए इंटरप्रेन्योरशिप डे पर गल्र्स ने अपने टैलेंट को दिखाया उन्होंने अपने टेलेंट से यह बताया कि वे भी इंटरप्रेन्योर बनना चाहती हैं और इसके लिए वे तैयार हैं

मिला इंटरप्रेन्योर बनने का टिप्स
इंटरप्रेन्योरशिप डे का इनॉगरेशन करते हुए प्रोग्राम के चीफ गेस्ट और ईस्ट सिंहभूम के एसएसपी अखिलेश कुमार झा ने स्टूडेंट्स को सक्सेसफुल इंटरप्रेन्योर बनने के टिप्स दिए. उन्होंने कहा कि इंटरप्रेन्योर बनने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी विजन का होना है. इसके लिए प्रजेंट और फ्यूचर मार्केट को समझना भी काफी जरूरी होता है. इस मौके पर कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ शुक्ला महंती ने भी गल्र्स को इंटरप्रेन्योर बनने के लिए शुभकामनाएं दी. उन्होंने कहा कि इंटरप्रेन्योरशिप डे इसलिए ऑर्गेनाइज किया गया है ताकि कॉलेज की गल्र्स जान सकें कि इंटरप्रेन्योर कैसे बना जाता है और इसके लिए उन्हें क्या क्या सीखना होगा.

कॉलेज से मिले थे लोन, लगे थे 14 स्टॉल्स ...
कॉलेज कैंपस में बीबीए, कॉमर्स और बैंकिंग की स्टूडेंट्स ने 14 स्टॉल्र्स लगाए थे. इसमें म्यूजिक ऑन डिमांड, गल्र्स एसेसरीज, लेडीज बे्रसलेट्स और सॉफ्ट टॉयज आदि के स्टॉल्स लगाए गए थे. स्टॉल लगाने वाली स्टूडेंट्स बीबीए, कॉमर्स और बैंकिंग की स्टूडेंट्स थीं. इन स्टूडेंट्स को कॉलेज की तरफ से एक सर्टेन अमाउंट लोन के रूप में मिला था. इन्हें उस पैसे से स्टॉल लगाकर ज्यादा से ज्यादा पैसे बनाने थे. सबसे ज्यादा पैसे अर्न करने वाले स्टॉल को विनर डिक्लेयर किया जाना था.

 सांग चेंज करो हमें डांस करना है ...
म्यूजिक ऑन डिमांड वाले स्टॉल पर गल्र्स की लगातार भीड़ बनी रही. 10 देने पर उनका फेवरेट सांग प्ले किया जाता और वे उस सांग पर जमकर डांस करती. यह सिलसिला लगातार चलता रहा.
इश्क शवा, मेरा आशिक वल्ला और दूसरे कई सांग प्ले होते रहे और गल्र्स ने पूरे कैंपस का माहौल इंथूजियास्टिक बना दिया. स्टॉल की ऑनर स्टूडेंट्स ने इस मौके का खूब फायदा उठाया और प्रत्येक सांग पर उन्हें 10 रूपए मिलते रहे. इंटरप्रेन्योरशिप डे पर ऑर्गेनाइज हुए प्रोग्राम को होस्ट किया नम्रता जोशी ने. वोट ऑफ थैंक्स दिया डॉ बीके मेहता ने.

इंटरपे्रन्योरशिप डे ऑर्गेनाइज होने पर स्टूडेंट्स को काफी कुछ सीखने को मिला.  गल्र्स अगर इंटरप्रेन्योर बनना भी चाहती थीं तो उन्हें पता नहीं था कि इसके लिए क्या करना होता है.
- नम्रता जोशी, स्टूडेंट जेडब्ल्यूसी
इंटरप्रेन्योरशिप डे पर हमने खूब मस्ती की. एक्चुअली फन के साथ लर्न और अर्न सबकुछ हो गया. गल्र्स की मस्ती हुई और स्टॉल ऑनर्स को पैसे भी मिले. कॉलेज की तरफ से यह एक अच्छा इनीसिएटिव है.
- पूजा, स्टूडेंट जेडब्ल्यूसी
कैंपस का माहौल ही एकदम अलग दिखा. मस्ती के दौरान जो इंथूजियाज्म दिखा अगर वह कंटीन्यू रहे और उसे हम इंटरप्रेन्योर बनने के दौरान भी बनाए रखें तो काफी फायदा हमें मिलेगा. हमें बहुत कुछ सीखने को मिला.
- रीमा, स्टूडेंट जेडब्ल्यूसी
 जरूरी नहीं कि बी स्कूल में स्टडी कर ही इंटरप्रेन्योर बना जा सकता है. हमारे कॉलेज के स्टूडेंट्स को प्रॉपर गाइडेंस मिले तो वे भी अच्छी इंटरप्रेन्योर बन सकती हैं.
- पूर्णिमा, स्टूडेंट जेडब्ल्यूसी

इंटरप्रेन्योर बनने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी विजन है. इसके लिए प्रजेंट और फ्यूचर मार्केट को समझना भी काफी जरूरी है.
अखिलेश कु. झा, एसएसपी, ईस्ट सिंहभूम


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.