लूट का माल बांट रहे थे हो गयी मुखबिरी पहुंच गये जेल

2019-03-10T06:00:13Z

नवाबगंज पुलिस दो को पकड़ने में कामयाब, दो दे गये पुलिस को गच्चा

PRAYAGRAJ: लूट के माल का बंटवारा करने के लिए जुटे थे। पुलिस का मुखबिर नेटवर्क काम आ गया और लुटेरे गच्चा खा गये। दो पकड़ लिये गये और दो निकल भागने में कामयाब हो गये। पुलिस के अनुसार पकड़े गये दोनो शातिर लुटेरे हैं। उनका नाम पहले भी कई घटनाओं में आ चुका है। इनके पास से लूट का सामाने भी बरामद हुआ है।

एसएसपी ने किया खुलासा

पुलिस लाइंस सभागार में एसएसपी अतुल शर्मा ने मामले का खुलासा किया। बताया कि नवाबगंज पुलिस शातिर अपराधियों की तलाश में गश्त पर थी। इस बीच मुखबिर ने टीम को सूचना दी कि सरायफत्ते पुलिया के पास बाग में कुछ बदमाश लूट के सामान के साथ जुटे हैं। इस पर पुलिस ने स्पॉट पर पहुंचकर घेराबंदी कर दी। पुलिस उनकी तरफ बढ़ी तो वे भागने लगे। दौड़ा कर पुलिस ने दो लुटेरों को गिरफ्तार कर लिया। दो भाग निकलने में कामयाब हो गये। इनकी पहचान रितुराज प्रताप सिंह उर्फ रितिक सिंह पुत्र मलखान सिंह निवासी रसूलपुर चांधन रामपुर थाना नवाबंज व सुभाष सरोज उर्फ बोचे पुत्र राजधानी सरोज निवासी फतोहपुर नवाबगंज के रूप में दी। भागने में सफल लुटेरों में शिवम निषाद पुत्र पप्पू निषाद निवासी किसानी टोला सदियापुर करेली व करन निषाद पुत्र लाला निषाद निवासी नई झूंसी है। रितुराज व सुभाष के खिलाफ नवाबगंज थाने में लूट, छिनैती, आ‌र्म्स एक्ट के आधा दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज हैं।

बरामदगी

33 चांदी की बिछिया

तीन सोने की अंगूठी

दो चांदी के पायल

एक चोरी की बाइक

एक तमंचा 315 बोर

तीन जिंदा कारतूस

बाक्स

दबोचे गए लूट कर भाग रहे बदमाश

स्वरूप रानी अस्पताल से दवा लेकर लौट रही झूंसी कटका निवासी अनुपम देवी पत्‍‌नी कमलेश मिश्र को लूट कर भाग रहे बदमाशों को शनिवार को झूंसी पुलिस ने धर दबोचा। एसएसपी ने पत्रकारों को बताया कि झूंसी पुलिस वाहन चेकिंग कर रही थी। इस बीच अनवर मार्केट के पास महिला से लूट कर भाग रहे बाइक सवारों की सूचना मिली। खबर पाते ही पुलिस एक्टिव हो गई। पीछा कर रही पुलिस ने बदमाशों को त्रिवेणीपुरम गेट के पास दबोच लिया। पकड़े गए लुटेरों ने अपना नाम अमजद अली पुत्र आशिक अली, दिनेश कुमार पुत्र मंगरू भारतीया निवासी अटवा थाना फूलपुर बताया। लुटेरों के पास से पुलिस को महिला का पर्स मिला। पर्स में मौजूद पांच हजार रुपए सुरक्षित थे। साथ ही छह मोबाइल भी बरामद किए गए हैं। झूंसी पुलिस को भी एसएसपी ने 25 हजार रुपए के ईनाम की घोषणा की।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.